अलवर में मौसम का बदला मिजाज, नए साल के दूसरे दिन अलवर में ठंड से ठिठुरे लोग

Alwar news । उत्तर भारत के पहाड़ी क्षेत्रों में हो रही बर्फबारी के कारण जिले के तापमान में भी गिरावट आ रही है। नए साल के दूसरे ही दिन शनिवार की सुबह आसमान में बादल छाए रहे। जिससे सूर्य देवता नजर नही आये। गलन भरी ठंड से लोग ठिठुर गए। वही जिले के कई चित्र कोहरे के आगोश में रहे दोपहर तक कोहरा नहीं छुपाने से वाहन चालकों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। सुबह जिले में शहर सहित अन्य स्थानों पर कुछ देर के लिए हल्की बारिश भी हुई। बारिश होने व शीतलहर चलने से लोग ठंड से कंपकपाते रहे। मौसम में हो रहे बदलाव के चलते सुबह और शाम को ठंडक बढ़ गई है। इस वजह से सुबह-शाम पार्क और पर्यटक स्थलों  पर घूमने के लिए आने वाले लोगों की सँख्या में भी गिरावट आई है। वही लोग ठंड से बचने के लिए गर्म कपड़े व अलाव का सहारा ले रहे है। जरूरी होने पर ही लोग घरों से निकल रहे है।

 मौसमी बीमारी के मरीजों की संख्या में हुआ इजाफा

 वहीं मौसम परिवर्तन के साथ ही मौसमी बीमारियों के मरीज बढ़ने लगे हैं। बुखार, सर्दी, जुकाम-खांसी के मरीज बड़ी संख्या में अस्पताल पहुंच रहे हैं। चिकित्सों का कहना है कि दिन में तो मौसम गर्म होता है, पर सुबह व रात में पहनावे पर ध्यान रखना चाहिए। दिन में लोग घर से कम कपड़े पहनकर निकलते हैं और शाम को घर पहुंचते समय मौसम ठंडा हो जाता है। इसके साथ ठंडी चीजों से परहेज रखें। बच्चों को सुबह होते ही बेड से उठकर सीधे बाहर न जाने दें। सुबह फर्श पर नंगे पैर चलने से बचें। सर्दी के मौसम में पानी कम मात्रा में लोग पीते हैं जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

 ठंड से बचने का अलाव बना सहारा

 इन दिनों जिले में पढ़ रही गलन के कारण ठंड बढ़ गई है जिससे लोगों की दिनचर्या भी प्रभावित हो रही है ठंड से बचने के लिए लोग अलाव वहीं पर सहित अन्य साधनों का सहारा ले रहे हैं।