अजमेर की दो कॉलोनियां कंटोनमेंट जोन घोषित

File photo
Ajmer News । अजमेर शहर में कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इस स्थिति को देखते हुए ही अब कोटड़ा स्थित बीके कौल नगर से जुड़ी अम्बेविहार और रामनगर स्थित दयारंद कॉलोनी को कन्टोनमेंट जोन घोषित कर दिया है। इन दोनों कॉलोनियों में अब लॉकडाउन जैसी स्थिति रहेगी।
 
क्षेत्र के डीएसपी रघुवीर प्रसाद ने बताया कि इन दोनों कॉलोनियों के लोगों को घरों से बाहर नहीं निकलने के लिए पाबंद किया गया है। इन कॉलोनियों में करीब 16 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। राज्य सरकार के नए दिशा निर्देशों के अनुरूप दोनों कॉलोनियों में पाबंदिया लागू की गई है। वाहनों का आवागमन नहीं हो, इसलिए कॉलोनियों के प्रवेश मार्गों पर बल्लियां लगा दी गई है।
वहीं क्षेत्रीय पार्षद ज्ञान सारस्वत ने बताया कि दोनों कॉलोनियों के लोग स्वैच्छा से कोविड-19 के नियमों का पालन कर रहे हैं। दोनों कॉलोनियों में नगर निगम के माध्यम से कैमिकल का छिड़कााव भी करवाया गया है। मालूम हो कि सरकार ने कोरोना संक्रमित क्षेत्रों के लिए हाल ही में नई गाइड लाइन जारी की है। उसीके अंतर्गत अजमेर में दो कॉलोनियों को कन्टोनमेंट जोन घोषित किया गया है। जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. केके सोनी ने बताया कि पॉजिटिव रिपोर्ट वाले व्यक्तियों की सूची प्रतिदिन जिला प्रशासन को उपलब्ध करवाई जाती है। इस सूची के आधार पर प्रशासन कन्टोनमेंट जोन घोषित करने का निर्णय लेता है। सरकार के नए निर्देशों में माइक्रो कन्टोनमेंट जोन की भी व्यवस्था है। यानि जिस घर का सदस्य संक्रमित होगा उसी घर को सील किया जाएगा।
 

 संक्रमित व्यक्ति घर से बाहर नहीं निकले:……

 
जिला पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप ने कहा है कि संक्रमित व्यक्ति को किसी भी स्थिति में घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए। संक्रमित व्यक्ति जरूरी होने पर अस्पताल में अपना इलाज करवाए या फिर घर पर ही क्वारंटीन रहे। इसलिए सरकार की नई गाइड लाइन के अनुसार संक्रमित व्यक्ति के घर को माइक्रो कंटोनमेंट घोषित किया जा रहा है। जिस घर में संक्रमित व्यक्ति क्वारंटीन है उस घर के अन्य सदस्यों को भी घर से बाहर निकलने से बचना चाहिए। एसपी ने सामान्य लोगों से भी आग्रह किया कि जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकला जाए। एसपी ने कहा कि आमतौर पर देखा जा रहा है कि उठावने की रस्म के मौके पर 60 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्ति भी श्रद्धांजलि के लिए आ रहे हैं। वरिष्ठ नागरिकों को ऐसी रस्मों से बचना चाहिए। सार्वजनिक स्थलों पर हर स्थिति में मास्क का उपयोग किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि लोग सावधानी बरतेंगे तो कोरोना संक्रमण पर लगाम लग सकती है। इस मामले में जरूरी होने पर सख्ती भी की जाएगी। जिन क्षेत्रों को कंटोनमेंट माना जा रहा है वहां सख्ती की जाएगी।