भीलवाड़ा मे मनरेगा बना वरदान,वसुधंरा पर छाई हरितिमा

Bhilwara news ।  जिले की विभिन्न पंचायत समितियों मे 14 पौधशालाएॅ स्थापित है इन पौधशालोओं में भी महात्मा गांधी नरेगा श्रमिकों द्वारा कार्य किया जा रहा है। जिलें मनरेगा योजना में वन विभाग से डवटेल करके नर्सरी विकास कार्य किये जा रहे है विगत वर्ष में जिले में वन विभाग के साथ मिलकर 14 नर्सरियों का विकास किया गया है। नर्सरी विकास के कार्यो हेतु महात्मा गांधी नरेगा योजनान्तर्गत कार्यो की स्वीकृतियाॅ जारी की गई है ।

जिलें में तैयार की जा रही इन नर्सरियों में महात्मा गांधी नरेगा के पंजीकृत श्रमिकों द्वारा बीज से पौधे तैयार करने का कार्य ,नर्सरी मे बडी व छोटी मदर बेड निर्माण कार्य , बीजो से तैयार पोधों को थैलियों में भरना ,पौधों को पानी पिलाना व निराई गुडाई का कार्य मनरेगा योजना के तहत किया जा रहा है। इन पौधशालाओं में स्वस्थ एवॅ उपर्युक्त प्रजाति के पौधे इस उद्देश्य के साथ तैयार किये जाते है कि निजी व्यक्तियो, निजी संस्थाओं, औद्योगिक एवॅ वाणिज्यिक प्रतिष्ठानो एवॅ कृषको को सुगमता से गुणवतायुक्त पौधे उपलब्ध हो सके।

इस प्रकार नर्सरी विकास के कार्यो द्वारा जहा एक ओर श्रमिकों को रोजगार मिल रहा है वही दूसरी ओर राजकीय आय में भी वृद्वि हो रही है। विभिन्न पौधशालाओं में तैयार किये गये ये हरे भरे पौधें गाॅवों से लेकर बडे बडे शहरो के घरों के आॅगन की, गमलो की व बडे बडे मनोरंजन स्थलों की शोभा बढ़ा रहे है। नर्सरियों में श्रमिकों द्वारा तैयार किये जाने वाले पौधों को वन विभाग द्वारा निर्धारित दर पर विक्रय किया जा रहा है।

विवरण दर प्रति पौधा (रूपयें में)

कांटेदार प्रजाति के पौधे 4.00
छायादार एवॅ चैडी पत्ती वाले पौधेः-
2 फीट की ऊॅचाई तक के पोैधे 5.00
2 फीट से ऊपर एवॅ 3 फीट की ऊॅचाई तक के पोैधे 8.00
3 फीट से ऊपर एवॅ 5 फीट की ऊॅचाई तक के पोैधे (बड़ी थैलियो में) 15.00
5 फीट से ऊपर एवॅ 8 फीट की ऊॅचाई तक के पोैधे(बड़ी थैलियो में) 40.00
8 फीट से ऊपर एवॅ 10 फीट की ऊॅचाई तक के पोैधे(बड़ी थैलियो में) 55.00
10 फीट से ऊपर ऊॅचाई तक के पोैधे 70.00
जिले के मुख्य कार्यकारी अधिकारी गोपाल राम बिरड़ा ने बताया की गत वर्षो में किये गये नर्सरी विकास कार्यो के अनुभवों के आधार पर जिलें में नर्सरी विकास पौधषाला के कार्यो का विस्तार करते हुए नर्सरी व पौध शाला विकास कार्य पंचायत समितियों द्वारा स्वंय के स्तर पर भी करने की योजना तैयार की जा रही है ।

इस वर्ष मनरेगा योजना द्वारा वन विभाग के साथ – साथ सभी पंचायत समितियों में भी स्थान चिन्हित कर नर्सरी विकास कार्य क्रियान्वयन करने के प्रयास किये जा रहे । साथ ही मनरेगा योजना के तहत व्यक्तिगत लाभार्थियों तथा सामुदायिक भूमि पर एन.आर.एल.एम के साथ कन्वर्जेन्स कर न्यूट्री गार्डन विकसित करने की भी योजना बनाई जा रही है ।

भीलवाड़ा मे मनरेगा बना वरदान,वसुधंरा पर छाई हरितिमा 1

पंचायत समितियों द्वारा नर्सरी व पौधषाला के कार्यो द्वारा पंचायतों की निजी आय में बढोत्तरी होगी जिसका उपयोग वह विभिन्न विकास कार्यो हेतु कर पायेगी तथा पंचायते आर्थिक रूप से सषक्त होगी। जिले में पंचायत समिति बनेडा में नर्सरी विकास का कार्य किया गया है इसी प्रकार अन्य पंचायतो में भी नर्सरी विकास कार्यो को प्राथमिकता से करवाया जायेगा ताकि ये कार्य पर्यावरण प्रबन्धन में भी उपयोगी साबित हो सकें।

भीलवाड़ा मे मनरेगा बना वरदान,वसुधंरा पर छाई हरितिमा 2

महात्मा गांधी नरेगा योजना में करवाये जा रहे इन कार्यो के प्रयासो के फलस्वरूप वन विभाग द्वारा नरेगा योजनान्तर्गत 4.17 लाख पौधे, विभागीय योजनाओं मे वितरण हेतु 2.30 लाख पौधे, कुल 6.47 लाख पौधे फलदार,छायादार एवं चैडी पत्ती वाले पौधे तैयार किये जा रहे है।

वर्षा ऋतु 2020 में जिले की विभिन्न नर्सरियों में आमजन को वितरण हेतु विभागीय योजना में 2.30 लाख एवं मनरेगा में 2.86 लाख कुल 5.16 लाख पौधे उपलब्ध रहेगे। मनरेगा योजना के 1.31 लाख पौधो को छोटी थैली से बडी थैली में लेकर टाॅल प्लान्ट तैयार किया जावेगा जिससे वर्षा ऋतु 2021 में लगभग 5 से 7 फीट के पौधे प्राप्त हो सकेगे।