एफसीआई नहीं खरीद रही गेहूं,मनरेगा से मिलें लोगों को रोजगार

जहाजपुर (आज़ाद नेब) कलेक्ट्रेट में आज मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ जिले के सभी विधायक एवं सांसद के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस में संवाद हुआ।
वीडियो कॉन्फ्रेंस में स्थानीय विधायक गोपीचंद मीणा ने कहा कि मेरे क्षेत्र में केवल एक कोरोनो पॉजिटिव पाया गया था। मेरा क्षेत्र ग्रीन जोन(Green zone) के अंतर्गत आता है जबकि मेरे क्षेत्र वासियों को ग्रीन जोन की सुविधा नहीं दीं गई। जहाजपुर उपखंड अधिकारी ने उल्टा कानून चलाया हमारे कार्यकर्ताओं के साथ अन्याय किया गया एवं द्वेषता पूर्ण कार्रवाई की।

मीणा ने क्षेत्र के किसानों की समस्याओं को उठाते हुए कहा कि एफसीआई (FCI)गेहूं में चमक के बहाने किसानों से समर्थन मूल्य पर गेहूं (Wheat )नहीं खरीद रही है जबकि मेरे क्षेत्र में बंपर पैदावार हुई है। वही चना (gram) व सरसों(Mustard) की साइट एक दिन चलती है फिर वापस बंद हो जाती है जिससे किसान भारी समस्या से जूझ रहे हैं। से किसानों में भारी रोष व्याप्त है।

विधायक मीणा ने कहां की विकास अधिकारी द्वारा मनरेगा में भारी अनियमितता की जा रही है। हमारे कार्यकर्ताओं के साथ भेदभाव किया जा रहा है। कोविड-19 के चलते लोग बेरोजगार हो गए हैं इनको मनरेगा के माध्यम से रोजगार दिया जाए मनरेगा में ग्रामीण क्षेत्र के साथ शहरी क्षेत्र में भी शुरू की जाए।