Tonk / जयपुर से घर जाने के लिए भूख व बिमारी की हालत मे बच्चो को लेकर चल था पैदल मजदूर की मौत हुई

Tonk News।  पुरे भारत में  लाकॅ डाउन के चलते शहर पलायन कर  अपने गांव जा रहे एक मजदूर की पैदल ही जयपुर से उनियारा होते हुए अपने गांव जाते वक्त रास्ते में उनियारा में मौत हो गई। प मृतक मुकेश पुत्र बद्धीलाल बैरवा निवासी जेतपुर जिला सवाई माधोपुर का निवासी था। व मृतक की  पत्नि ने बताया उसका पति जयपुर मंे एक खाद बीज बनाने की फैक्ट्ररी में कार्य करता था। इस बीच लाकॅ डार के चलते फैक्ट्ररी बंद होने व आर्थिक तंगी के बाद उन्होने अपने परिचित अन्य लोगो के साथ जयपुर से अपने गांव को पैदल ही निकल पडे थे।

वही कई दिनो से बिमार व कम भोजन के चलते शनिवार को रात दस बजे के लगभग उनियारा में मेगा हाईवे पर बाईपास के पास तबियत बिगडने पर उसकी पत्नि ने मृतक को लोगो  की मदद से उनियारा मंे चिकित्सक र्क्वाटर पर दिखाने लाये थे। जहॉ पर उसे 108 से अस्पताल भेज दिया। वही अस्पताल मे उसकी मौत हो गई।  मृतक के साथ उसकी पत्नि के अलावा तीन छोटे छोटे बच्चे भी साथ थे। जो रात भर अस्पताल के बाहर बिलखते रहे। वही इस दौरान काग्रेंस सेवादल अध्यक्ष धर्म प्रकाश ने बच्चो को खाने पीने की वस्तुए लाकर दी।

बच्चो को गोदी मे लेकर भूख व बिमारी की हालत मे लगातार पैदल चलने से हुई मौत वही मृतक के साथ चल रहे दो अन्य उसके परिचित मजदूरो ने बताया की मुकेश लगातार बच्चो को गोद मे लेकर व बिमार हालत में भी लगातार पैदल चल रहा था।  सूचना मिलने पर थानाधिकारी राधेश्याम मीना ने अस्पताल पहुंच कर रविवार को सवेरे मृतक मजदूर के शव को व मृतक मजदूर की  पत्नि व बच्चो को प्रशासनिक स्तर पर वाहन उपलब्ध करवा कर उसके पैतृक गांव जेतपुर भिजवाया।

Slider