Tonk / लॉक डाउन 7वें दिन जारी:सडक़ो पर सन्नाटा-घरो में लोग

राहत की खबर: अब तक 30 सैंपल लिए नेगेटिव, 1 की रिपोर्ट पेंडिंग कोरोना वायरस की रोकथाम में जुटा है चिकित्सा विभाग, घर घर जाकर की जा रही है लोगो की स्क्रिनिंग, आमजन से घर रहकर संक्रमण का खतरा घटाने की अपील

Tonk News जिला मुख्यालय सहित जिलेभर में कोरोना वायरस(COVID-19) महामारी रोकथाम को लेकर जारी जनता कफ्र्यू 7वें दिन शनिवार को यथावत जारी रहा और आमजन के लिए आम जरुरतों की दुकानें खुल रही, जहां पर प्रशासन द्वारा गोल बनाकर दूर से सामान लेने की व्यवस्था करने के बाद दुकानों पर खड़े रहकर लोगों ने खरीदादारी की तो शहर के हर मार्ग को सील कर दिया है, ताकि कोई बाहरी व्यक्ति की शहर में प्रवेश नही कर सके और यदि कोई बाहरी व्यक्ति सामने आएं तो तुरंत उसकी जांच की सके।

इधर कोरोना वायरस की रोकथाम को लेकर चिकित्सा विभाग तत्परता से जुड़ा हुआ है विदेश से, अन्य राज्यों से एवं अन्य जिलों विशेषकर भीलवाड़ा से आने वाले लोगों की लगातार स्क्रीनिग कर उनको होम क्वारेन्टाईन पर रखा जा रहा है। चिकित्सा विभाग के स्वास्थ्य कर्मीयो द्वारा घर-घर जाकर आमजन को लगातार स्क्रीनिग एवं जागरूक किया जा रहा है।

जनता कफ्र्यू को लेकर जिला कलेक्टर के.के.शर्मा व पुलिस अधीक्षक आदर्श सिधू, मुख्य कार्यकारी अधिकारी नवनीत कुमार, अतिरिक्त जिला कलेक्टर सुखराम खोखर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विपिन शर्मा, उपखंड अधिकारी रतन लाल योगी, पुलिस उपाधीक्षक सौरभ तिवाड़ी, तहसीलदार सुरेश शर्मा, शहर कोतवाल बंशीलाल पांडार, सदर थानाधिकारी छोटेलाल मीणा, पुरानी टोंक थानाधिकारी शिवजीलाल गुर्जर, पुलिस अधिकारी हरिनारायण, मुकेश कुमार यादव, यातायात प्रभारी भगवान सहाय, कजोड़मल सहित पुलिस जवान टोंक शहर में बंद को लेकर अपनी अपनी व्यवस्था में जुटे रहे।

मुख्य बाजार में आने वाली सभी गलियो को रास्तो को सील कर प्रत्येक चौराहे व गली पर पुलिस बल तैनात रखा गया। आमजन को पैदल जाकर आमजन जररुत की सामान के आव्हान के तहत लोग पैदल मुंह पर मॉस्क लगाकर अपना काम काज निपटाते हुए नजर आएं। सुबह से जल्दी से उठकर लोग अपने रोजमर्रा के कामों को पूरा करने के बाद अपने घरो में बंद रहे और बाजार में दोपहर बाद सन्नाटा पसरा रहा। बाजार में बिना कार्य करने वाले लोगों को वाहनों पर घुमते पाएं जाने पर उनके वाहन जब्त कर चालान किए गए।

जिला कलेक्टर के.के.शर्मा ने बताया कि जिला प्रशासन एवं चिकित्सा विभाग के समन्वय सें शहरी क्षेत्रों से लेकर, ब्लॉक एवं गांव में और इसकी रोकथाम को लेकर व्यापक प्रबंध किए गए हैं। विदेशों से आए नागरिकों की सतर्कता के साथ निगरानी रखने के साथ उनको 28 दिन तक घर पर रहने के लिए पाबंद करने पर विशेष जोर दिया जा रहा है। यदि वह ऐसा नहीं करते हैं तो उनके खिलाफ पुलिस द्वारा कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

जॉच के लिये भेजे गये अब तक  30 सेंम्पल नेगेटिव

जिला कलेक्टर के.के. शर्मा ने बताया कि अब तक जिले के सभी 31 सेम्पल में से 30 सेंम्पल के परिणाम नेगेटिव आई है। जिनमें 27 के सेम्पल जिला अस्पताल में तथा 3 के सेम्पल जयपुर आरयुएचएस मे लिये गये थें। ये टोंक जिले के राहत की बात है, शुक्रवार को 10 व्यक्तियों के सेम्पल जाच के लिये भेजे गये थे, जिनमे से 9 के परिणाम नेगेटिव आये है तथा 1 का परिणाम आना बाकी है।

जिला कलेक्टर के.के. शर्मा ने बताया कि गुड्डू निवासी काली पलटन टोंक सऊदी अरब से, अनवर निवासी काली पलटन टोंक सऊदी अरब से, अख्तर निवासी काली पलटन सऊदी अरब से, विक्की वासुदेव निवासी हाउसिंग बोर्ड टोंक अफ्रीका से, नरेश कुमार निवासी हाउसिंग बोर्ड टोंक अफ्रीका से, सुरेश महावर निवासी इंदिरा कॉलोनी टोंक सऊदी अरब से, जितेंद्र सिंह निवासी छावनी टोंक तंजानिया से, लोकेश कुमार सिंधी निवासी आदर्श नगर टोंक साउथ अफ्रीका से लौटे हैं।

इन सभी के घर पर चिकित्सा दल उनके घर पहुंचकर उनके स्वास्थ्य की जांच की, उनमें भी किसी भी प्रकार का सर्दी जुखाम और बुखार आदि के लक्षण नहीं पाए गए। लेकिन हिदायत के तौर पर उनको 28 दिन के होम क्वॉरेंटाइन पर रखा गया है, तथा जिला प्रशासन एवं चिकित्सा विभाग की टीम द्वारा निरंतर उनके स्वास्थ्य की जांच की जा रही है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अशोक कुमार यादव ने बताया कि वर्तमान में टोंक जिले में कोविड-19 रोग के बचाव रोकथाम व नियंत्रण हेतु घर-घर सर्वे एवं ओपीडी स्क्रिनिंग की जा रही है। सर्जिकल मास्क हर समय लगाए रखें, मास्क प्रति 6 से 8 घंटे के भीतर बदले तथा पुराने मास्क को तत्काल नष्ट करें। पुराने मास्क को दोबारा इस्तेमाल में ना लेवे। डिप्टी सीएमएचओं डॉ महबूब खान ने बताया कि कोरोना वायरस के लक्षण (खासी, बुखार, सांस लेने में तकलीफ) दिखाई देने पर तुरंत नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र, जिला कंट्रोल रूम 01432-244099 पर संपर्क करें।

 

हाईवे से पैदल चल कर घर पहुंचने में लगे लोग

राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहनों का आवागमन बंद रहने के चलते अपने घर तक नही पहुंच पाएं लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है और हाइवे पर पैदल ही जैसे तैसे पहुंचना पड़ रहा है। जो लोग अपने घर पहुंचना चाह रहे है उन लोगों को साधन नही मिलने से हाईवे की सडक़ो नापना पडऱहा है तो हाईवे पर कई पेट्रोल पंपों को भी बंद रखा जा रहा है।

ad