Tonk / कोरोना की महामारी , बेमौसम बरसी रिमझिम ने बढ़ाई किसानों की चिंता

Peeplu news (ओपी शर्मा) । विश्व में कोरोना वायरस (coronavirus) की महामारी से जहां लोगों में दहशत का माहौल बना हुआ है, वहीं बार-बार आने वाली प्राकृतिक आपदाओं ने किसान परिवारों की नींद उड़ा दी है। टोंक तहसील के पीपलू के गांवों में किसानों काे काफी नुकसान का सामना करना पड़ा था। पूरी फसलें चट होने के बाद भी कई किसानों ने हिम्मत दिखाते हुए फिर से बुवाई की। दिन-रात की मेहनत के बाद अब गेहूं, जीरा व सरसों की फसलें कटाई की कगार पर है।

हालांकि कई किसानों ने इसकी कटाई शुरु कर दी है लेकिन बाद में बुवाई करने वाले किसान इसके पूरी तरह से पकने के इंतजार में थे। ऐसे में गुरुवार रात को अचानक ही मौसम परिवर्तन होने के साथ आसमान में घने बादल छा गए। बिजली की गर्जना के साथ ही हल्की बौछारें बरसनी शुरु हो गई। आसमान में बादलों को देख किसानों में नुकसान के अंदेशे को लेकर चिंता नजर आई।

कई किसान परिवार खेतों में सरसों निकालने के कार्य में जुट गए हैं। रात्रि भर तक चली फुंहारों के बाद माहौल में ठंडक घुलने से तापमान में गिरावट दर्ज की गई। बेमौसम बरसात से मौसमी बीमारियों के बढ़ने की आशंका पैदा हो गई है।

Slider