Bhilwara / कोरोना वायरस-14 हज़ार घरो का सर्वे, 70 हजार की स्क्रीनिंग, 3 गांवो मे लगा कर्फ्यू

Bhilwara news/ चेतन ठठेरा।जिला कलक्टर श्री राजेंद्र भट्ट ने बांगड़ अस्पताल के तीन संक्रमित कार्मिकों के निवास स्थान के समीपस्थ इलाकों में धारा 144 के तहत जीरो मोबिलिटी निषेधाज्ञा जारी की है। मांडल उपखंड मुख्यालय के पोस्ट ऑफिस वाली गली को केंद्र मानते हुए आस-पास के इलाके, बनेड़ा के बालेसरिया गांव एवं कोदू कोटा सहित आस-पास के गांवों श्रीनगर, गोकुलपुरा, घूमड़ास, पोण्डरास, रूपोहेला, चतरपुरा व सातोला का खेड़ा में यह निषेधाज्ञा लागू रहेगी। चतरपुरा व सातोला का खेड़ा कोटड़ी उपखंड में आते हैं। शेष गांव भीलवाड़ा उपखंड क्षेत्र के हैं।

अब तक 1 लाख 92 हजार से अधिक घरों के साढ़े नौ लाख लागों का सर्वे

जिला प्रशासन ने कोरोना वायरस(COVID-19) से बचाव व नियंत्रण की दिशा में त्वरित कार्रवाई करते हुए अब तक जिले की लगभग एक तिहाई आबादी की स्क्रीनिंग कर ली है। जिला कलक्टर राजेंद्र भट्ट ने बताया कि जिले में सोमवार तक 1 लाख 92 हजार 107 घरों का सर्वे कर 9 लाख 49 हजार 110 व्यक्तियों की स्क्रीनिंग की गई है। शहरी क्षेत्र में सोमवार को 229 एवं ग्रामीण क्षेत्र में एक हजार पांच सौ से ज्यादा टीमों ने घर-घर सर्वे किया।

उन्होने बताया कि प्रशासन किसी प्रकार की कोताही नहीं बरत रहा है और सर्वे से किसी भी घर को वंचित नहीं रहने दिया जाएगा। सोमवार को 124 और नमूने लिये गए। अभी तक 263 नमूनों में से 69 की रिपोर्ट मिली है जिनमें 13 संक्रमित पाए गए हैं, 56 नेगेटिव हैं और अन्य की रिपोर्ट आनी शेष है। जिले में बांगड़ अस्पताल में इलाज करवा चुके या अन्य कार्य से आ चुके 5392 लोगों के परिवारों को घरो में क्वारन्टाइन पर रखा गया है। प्रशासन क्वारन्टाइन पर ऱखे गये घरों के बाहर एक स्टीकर चस्पा कर रहा है जिसके माध्यम से लोगों को कुछ समय के लिए उस घर से दूर रहने की हिदायत दी जा रही है।

1900 टीमें ग्रामीण क्षेत्र में कर रही सर्वे

अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रशासन राकेश कुमार ने बताया कि जिले के सभी निवासियों का सर्वे करने के लिए लगभग 1900 से अधिक टीमें जुटी हुई है। दो दिन में कुल 1 लाख 22 हजार घरों में निवासरत करीब 6 लाख लोगों का सर्वे किया गया। इनमें से 4859 को सामान्य सर्दी-खांसी के लक्षण पाये गये। इन लोगों को नियमानुसार घरों में आइसोलेट रहने को कहा गया है।

शहरी क्षेत्र में सोमवार को 13760 घरों का सर्वें, 68800 सदस्यों की स्क्रीनिंग

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि शहर में 229 टीमों ने सोमवार को 13760 घरों का सर्वे किया जिसमें 68800 सदस्यों की स्क्रीनिंग की गई । इनमें से सामान्य सर्दी-जुकाम के 265 रोगी पाए गए। सर्वे में विदेश से आए 11 लोगों की भी स्क्रीनिंग कर लाइन लिस्टिंग की गई।

अब तक कुल 1075 टीमों द्वारा 69785 घरों का सर्वे कर 349737 लोगों का सर्वे किया गया जिसमें से 2507 आई एल आई के रोगी चिन्हित कर गाइडलाइन के अनुसार समझाइश कर होम आइसोलेशन किया गया ।  आइसोलेशन वार्ड में सोमवार को एक मरीज भर्ती किया गया तथा कुल 38 भर्ती मरीजों के परिवारजन व संपर्क वालों की स्क्रीनिंग तथा टीम द्वारा घर-घर जाकर हाइपोक्लोराइट सॉल्यूशन का छिड़काव किया गया।

23 मार्च को चिकित्सालयों में ओपीडी स्क्रीनिंग अंतर्गत  9547 स्क्रीनिंग की गई जिनमें आई एल आई के 374 मरीजों का उपचार किया गया । आरआर टी टीम भीलवाड़ा एवं उदयपुर द्वारा संपर्क वाले या संदिग्ध मरीजों की स्क्रीनिंग की गई, इनके संपर्क में आए 143 लोगों को स्क्रीन्ड किया जाकर इनमें से 25 संदिग्धों को सैंपल के लिए भेजा गया ।  तेरह पॉजिटिव कैसेज के घरों में डिसइन्फेन्शन कराया गया एवं इनके 137 लोगों को संदिग्ध मानकर सेंपलिंग करवाई जा रही है ।

जिले में कुल 144 संदिग्ध लोगों को क्वारेंटाइन में भर्ती किया गया है । रमा विहार क्वॉरेंटाइन में 29 , पटेल नगर में 30, सांगानेर में 24 तथा आटून छात्रावास क्वारेंटाइन  में 61 लोगों को भर्ती कर  किया गया है।
पूरे क्षेत्र को किटाणुरहित करने के साथ शहर में हो रहा छिड़काव
जिला कलक्टर ने बताया कि बांगड़ अस्पताल के एक किमी दायरे में नियमित किटाणुरोधी कार्रवाई की जा रही है। साथ ही संक्रमित रोगियों के आवसीय क्षेत्रों वार्ड क्रमांक 11, 21, 25, 30, 31, 36, 42, 49, 50 में हैंड स्प्रे मशीन से नियमित स्प्रे किया जा रहा है। शहर में रोडमेप बनाकर नियमित सोडियम हाइपोक्लोराइड के छिड़काव की कार्रवाई चल रही है।

किसी को भूखा नहीं सोने दिया जाएगा-कलेक्टर भट्ट

जिला कलक्टर ने कहा कि मुख्यमंत्री की मंशानुरूप लॉक डाउन और कर्फ्यू की स्थिति में किसी को भूखा नहीं सोने दिया जाएगा। इसके लिए प्रशासन ने खाद्य सामग्री के पैकेट तैयार करवाए हैं जिसमें भोजन तैयार करने के लिए 5 से 6 दिन के लिए पर्याप्त की आवश्यक कच्ची सामग्री है। इसे गरीब तबके के लोगों, कच्ची बस्तियों और अन्यत्र रहने वाले जरुरतमंदों को निशुल्क वितरित किया जाएगा। उन्होने कहा कि आने वाले दिनों में इस सुविधा को बढाया जाएगा।

जिस भी जरुरतमंद को खाद्य सामग्री की आवश्यकता हो वह उनसे सम्पर्क कर प्राप्त कर सकेगा।  अलावा उपभोक्ता भंडार की ओर से आवश्यक सामग्री विक्रय हेतु उपलब्ध करवाने की व्यवस्था भी की गई है। जिला परिषद सीईओ की अध्यक्षता में एक कमेटी गठित की गई जो दैनिक उपयोग की वस्तुएं वार्ड पार्षदों व नगर निगम कार्मिकों के सहयोग से जोन एवं रूट चार्ट बनाकर विक्रय हेतु उपलब्ध करवाना सुनिश्चित करेगी।

दानदाता वस्तुओं का कर सकते हैं दान।जिला कलक्टर ने बताया कि आपदा के इस समय कोई भी व्यक्ति अपनी स्वैच्छा से खाद्य सामग्री दान कर सकते हैं। इसके लिए जिला रसद अधिकारी को अधिकृत किया गया है। यह सामग्री जिला रसद कार्यालय में उपलब्ध करवाई जा सकती है जहां से जरुरतमंदों को वितरित की जाएगी।

होटल,धर्मशालाएं, रिसोर्ट्स अधिग्रहित

शहरी क्षेत्र के होटल, धर्मशाला, सामुदायिक भवन अधिग्रहित
जिला कलक्टर राजेंद्र भट्ट ने आदेश जारी कर नगर परिषद की सीमा में अवस्थित सभी होटल, रिसोर्ट्स, सामाजिक व गैर सामाजिक संस्थाओं के भवन एवं धर्मशालाओं को उनके कार्मिकों व उपलब्ध संसाधनों सहित अधिग्रहित कर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को सौंप दिया है। आदेश के अनुसार नगर विकास प्रन्यास एवं नगर परिषद आयुक्त अपने संबंधित क्षेत्रों में आदेश में पालना की करवाते हुए प्रत्येक भवन के संबंध में समन्वय हेतु कार्मिक नियुक्त करेंगे। उधर जिला कलक्टर ने एक अन्य आदेश से बीएसएल मण्डपम, आरएसडब्लूएम गुलाबपुरा, संगम यूनिवर्सिटी आटूण, जिंदल सॉ, आरसीएम वर्ल्ड, ग्रोथ सेंटर हमीरगढ़ और नितिन स्पीनर्स हमीरगढ के रेस्ट हाउसेस को भी मय परिसर अधिग्रहित कर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को सौंप दिया गया है।

कर्फ्यू का उल्लंघन करेंगे तो होगी कार्रवाई- एस पी महावर

जिला पुलिस अधीक्षक हरेंद्र महावर ने शहरवासियों से कर्फ्यू के दौरान अपने घरों में ही रहने की अपील की है। उन्होने कहा कि कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए जिला मजिस्ट्रेट द्वारा लगाए गए कर्फ्यू की पालना पुलिस मुस्तैदी से करवा रही है। इसमें जनता का पूरा सहयोग अपेक्षित है। कोई कानून का उल्लंघन करेगा तो उसके विरूद्ध नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

Slider