Tonk / विकास का चक्र थमा , टोंक  को 5 साल पीछे धकेला – अजीत सिंह मेहता

टोंक पूर्व विधायक अजीत सिंह मेहता
टोंक पूर्व विधायक अजीत सिंह मेहता

Tonk News । भाजपा नेता एवं पूर्व विधायक अजीत सिंह मेहता ने राज्य सरकार पर आरोप लगाया हैं कि भाजपा शासन में चला विकास का चक्र थम सा गया हैं तथा सरकार की यही मंषा रही तो टांेंक जिले को विकास के क्षेत्र में सवा साल के शासन काल में पांच साल पीछे धकेल दिया है।

भाजपा नेता एवं पूर्व विधायक अजीत सिह मेहता आज इस संवाददाता से अनौपचारिक बातचीत कर रहे थे । उन्होेने कहा कि सरकार की मंषा ही नही हैं कि जिले का चहुंमुखी विकास हो । दोनो राजनीति के पुरोधा अपने अहम की लडाई में एक दूसरे को पटखनी देने के लिए मौके की तलाष में वही सम्पूर्ण जिला चहुंमुखी विकास की और टक टकी लगाये देख रहा है। उन्होने कहा कि कुछ घोषणाऐं हुई है। लेकिन यह कब तक पूरी होगी कुछ कहा नही जा सकता । घोषणाऐं आमजन को दिग्भ्रमित करने के लिए ही की गई है।

और पढ़े 

Tonk / दफनाया गया युवक निकला हिन्दु, सौशल मीडिया पर हुई युवक की पहचान

मेहता ने कहा कि सत्तारूढ दल के कुछ विधायक की गई घोषणाओ की झूठी वाह वाही लूट रहे हैं, जबकि जो घोषणाऐ की गई हैं उनके प्रस्ताव हमारे दल के नेताओं द्वारा भेजे गए है । वर्तमान सत्तारूढ दल के नेताओं ने कोई प्रस्ताव बनाकर भिजवाया है तो वो बतादे । उन्होने कहा कि चाहे वो नव गठित पंचायत समिति का मामला हो या ट्रोमा अस्पताल का हो या अस्पतालों मे बेड बढाने का मामला हो । रहा मॉडल स्कूल का मामला तो उन्होने कहा कि प्रत्येक उपखण्ड़ मुख्यालय पर एक मॉडल स्कूल खोलने के लिए भारत सरकार के मानदण्ड तयानुसार बनाने है। इसकी भी वाह वाही लूट रहे है।
उन्होने कहा कि जहां एक राज्य सरकार निरोगी काया की बात तो करती हैं पर चिकित्सलयों के हालात कितने नासाज हैं। जो जग जाहिर है।

कही कही तो कम्पाउण्डरों के भरोसे अस्पताल चल रहे है तो कई पर ताले लटके है। ऐसे में राज्य को कैसे निरोगी रहेगा । अस्पताल इन दिनों केवल रैफर अस्पताल ही बन कर रह गये है।

इसी प्रकार सड़कों की स्थिति इतनी जर्जर हो चुकी हैं ,मंत्री को सडकों के पुरसाने हाल जानने का ही समय नही है। उन्होने कहा कि सार्वजनिक निर्माण मंत्री जयपुर से आते समय निवाई शहर के मध्य होकर आए तो पता चले कि यहां सडकों की स्थिति क्या है। ऐसे ही टोंक दहलोद होकर मालपुरा एवं टोडा जाने वाले मार्गो पर यात्रा करते तो पता चले । पेयजल के क्षेत्र में आज भी 48 धंटों में एक बार ही पेयजल सप्लाई किया जा रहा है। जबकि बीसलपुर बांध मे इस बार पानी भरपूर हैं।

उन्होने कहा कि सरकार की उदासीनता के चलते आज भी जिले के हजारों किसानो को भारत सरकार से दी जाने वाली सहायता से नही जोडा गया ना ही बीमा क्लेम की राषि मिल पा रही है। उन्होने कहा कि सत्तारूढ दल ने भाजपा सरकार के समय चला विकास का चक्र थाम सा दिया है।

ad