मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच चल रही गुटबाजी के कारण राज्य का विकास ठप-लाहोटी

Jaipur News : जयपुर में अपहरण(kidnapping) कर तीन युवकों को बंधक बनाए रखने तथा उनके साथ मारपीट करने के मामले को लेकर भाजपा(BJP) ने राज्य सरकार(Rajya Sarkar) को जमकर घेरा और हर मोर्चे पर विफल होने का आरोप लगाया विधानसभा(Vidhansabhan) में मीडिया से बात करते हुए भाजपा युवा मोर्चा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और सांगानेर विधायक अशोक लाहोटी(Ashok Lahoti) ने इसे प्रशासनिक विफलता करार देते हुए कानून व्यवस्था पर प्रश्नचिन्ह लगाने वाली घटना बताया। उन्होंने कहा कि राज्य में पड़ोसी राज्यों के गुंडे बदमाश आकर अपने अड्डे बना रहे हैं और पुलिस को इसकी भनक तक नहीं है।

पुलिस तंत्र की असफलता के लिए राज्य सरकार

लाहोटी ने पुलिस तंत्र की असफलता के लिए राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि यहां मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट(Deputy Chief (Minister Sachin Pilot) के बीच चल रही गुटबाजी(Gutbaji) के कारण राज्य का विकास ठप हो गया है। प्रदेश पूरी तरह से राजनीतिक प्रशासनिक ओ वित्तीय संकट से जूझ रहा है। राज्य में जहां मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री कि नहीं बन रही वहीं सीएमओ मुख्य सचिव और वित्त विभाग के अधिकारी भी आपस में झगड़ रहे हैं। इसी का नतीजा बजट में साफ तौर पर देखने को मिल रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सिर्फ अपनी कुर्सी बचाने के लिए दिल्ली दौड़ में लगे हुए हैं।उनका प्रदेश की तरफ कोई ध्यान नहीं है इसी के कारण राजधानी अपराधियों शरण स्थली बन गई है।  और पुलिस इन्हें रोक पाने में नाकाम होती जा रही है।

जयपुर में गैंग पुलिस के हत्थे चढ़ने के बाद इस तरह के संगठित अपराधों का बड़ा खुलासा हुआ है।

यहां अजमेर रोड स्थित भांकरोटा  के निकट शंकरा रेजिडेंसी में किराए के फ्लैट पर पुलिस ने छापा मारकर अपहरण गैंग के 7 बदमाशों को गिरफ्तार किया। इनके साथ तीन अपहर्ताओं को भी मुक्त कराया गया। इनमें दो अन्य राज्यों के तथा एक बीकानेर का युवक था। आरोपियों ने इनके साथ बुरी तरह मारपीट की थी तथा एक की पैर की उंगली काट दी और दूसरे के हाथ पर गोली मार दी थी। पुलिस इस वीभत्स घटना को लेकर भले ही पीठ थपथपा रही है परंतु यह गैंग अनायास ही पुलिस के हाथ लगी है।