अब आया नया हथियार, ड्रोन से होगी खुजली वाली बारिश

  नई दिल्ली। सरकार से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक सभी के लिए चिंता का सबब बनी भीड़ हिंसा से निपटने के लिए जल्द ही पुलिस और सुरक्षा कर्मियों को नए और अचूक हथियार मिलेंगे। दिल्ली के प्रगति मैदान में शुरू हुए डिफेंस एक्सपो में एक खास हथियार ‘पेपर ड्रोन’ को प्रदर्शित किया गया है, जो …

अब आया नया हथियार, ड्रोन से होगी खुजली वाली बारिश Read More »

October 6, 2018 7:56 am

 

नई दिल्ली। सरकार से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक सभी के लिए चिंता का सबब बनी भीड़ हिंसा से निपटने के लिए जल्द ही पुलिस और सुरक्षा कर्मियों को नए और अचूक हथियार मिलेंगे। दिल्ली के प्रगति मैदान में शुरू हुए डिफेंस एक्सपो में एक खास हथियार ‘पेपर ड्रोन’ को प्रदर्शित किया गया है, जो भीड़ को भगाने के लिए खुजली वाली बारिश करता है। इससे चंद मिनटों में ही हजारों की भीड़ को खदेड़ा जा सकेगा और पीड़ित की जान बचाई जा सकेगी।
हथियारों की इस प्रदर्शनी को देखने के लिए सीआईएसएफ, बीएसएफ के अलावा यूपी, हरियाणा व अन्य राज्यों की पुलिस के प्रतिनिधि दिल्ली पहुंचे हैं। कश्मीर सहित पूरे देश में इस वक्त मॉब लिंचिंग सुरक्षा कर्मियों की बड़ी चुनौती बनी हुई है। इसीलिए उनकी कंपनी ने पेपर लिंचिंग ड्रोन सहित कई हथियार तैयार किए हैं। करीब 85 लाख रुपये की कीमत वाले इस ड्रोन में 10 लीटर पानी का टैंक है। दो बैटरी और आठ पंखुड़ियों की मदद से ये 50 मीटर की ऊंचाई पर जाकर भीड़ पर हल्की बारिश करेगा।
इसके पानी में खास रसायन मिश्रित होगा, जो इंसान की त्वचा पर गिरते ही बैचेन करने वाला होगा और उसे भागने पर मजबूर कर देगा। ऐसा ही एक हथियार है रोबोटिक प्लेटफॉर्म। रिमोट के जरिये 100 मीटर तक जाने वाले इस प्लेटफॉर्म पर एक गन लगी है, जिससे निकलने वाली प्लास्टिक की गोलियां भीड़ को खदेड़ देगी। करीब 25 लाख की कीमत वाले इस हथियार को सीआईएसएफ और आरएएफ की सिफारिश पर तैयार किया गया है।
मिर्ची के पौधे से निकले रसायन से बनाई गोली
इसके अलावा एक अत्याधुनिक गन है, जिसमें प्लास्टिक की गोलियों से भीड़ को भगाया जाता है। इन गोलियों में मिर्ची के पौधे से निकले रसायन का इस्तेमाल किया है। आमतौर पर मिर्ची के पौधे में छह तरह के रसायन होते हैं और इन्हीं में से एक होता है पावा। इस पावा की गोलियों को गन के जरिये भीड़ पर छोड़ा जाता है। शरीर पर टकराते ही गोली फट जाती है और उसमें से निकला पाउडर हवा के संपर्क में आकर इंसान को विचलित कर देता है।

Prev Post

जयपुर में पैर पसारता जीका वायरस, मिले 5 नए पॉजिटिव

Next Post

क्यों बदला चुनाव आयोग ने प्रेस कांफ्रेंस का समय?

Related Post