नही हुआ खुलासा, किसका है कब्जा ,दूसरे दिन भी पालिका मूूकबधर

Newai News। शहर की सबसे बेशकीमती एवं पॉश कॉलोनी बापू नगर में एक करोड़ के बाजार भाव की आवासीय भूमि पर किए गए अवैध निर्माण को लेकर जहां दिनभर शहरवासियों को अतिक्रमण स्थल को देखने वालों का तांता लगा रहा, वही नगर पालिका प्रशासन खबर लिखे जाने तक मूक व बधिर बना नजर आ रहा …

नही हुआ खुलासा, किसका है कब्जा ,दूसरे दिन भी पालिका मूूकबधर Read More »

June 19, 2020 6:34 pm

Newai News। शहर की सबसे बेशकीमती एवं पॉश कॉलोनी बापू नगर में एक करोड़ के बाजार भाव की आवासीय भूमि पर किए गए अवैध निर्माण को लेकर जहां दिनभर शहरवासियों को अतिक्रमण स्थल को देखने वालों का तांता लगा रहा, वही नगर पालिका प्रशासन खबर लिखे जाने तक मूक व बधिर बना नजर आ रहा है।
उपखंड अधिकारी ने मामले की गंभीरता को देखते हुए पालिका प्रशासन को तत्काल संपूर्ण प्रकरण की तत्थात्मक रिपोर्ट देने व आवश्यक कार्यवाही करने के सख्त निर्देश दिए है।

इधर उपखंड अधिकारी के निर्देश मिलते ही ईओ ने उक्त अतिक्रमण स्थल का मौका मुआयना अपनी गाड़ी में बैठकर ही कर दिया। जबकि पालिका के अतिक्रमण प्रभारी एवं कनिष्ठ अभियंता इस अतिक्रमण को लेकर यह कहते नजर आएं कि उन्हे अभी तक प्रकरण की जानकारी नही है तथा न ही अभी तक कोई कार्यवाही के निर्देश मिले है। वही पालिकाध्यक्ष श्रीमती राजकुमार शर्मा का कहना है कि उन्हे सोशल मीडिया के जरिए से जानकारी मिली है कि उसे मध्यनजर रखते हुए पालि

उल्लेखनीय होगा कि करोड़ो रुपए की इस आवासीय भूमि पर अवैध कब्जे को लेकर दैनिक अखबार  सच्चा सागर ने खुलासा किया था।

नही हुआ खुलासा कि कब्जा किसका?

शहर में आम-अवाम में चर्चा का विषय बने करोड़ो रुपए के इस पालिका के खाली भूखंडो पर दिन रात कार्य चलाकर अवैध रुप से किसने कब्जा किया तो लेकर संशय बना हुआ है। लोगों का कहना है कि अपनी खुद की जमीन से अतिक्रमण हटाने में पालिका ईओ सहित संपूर्ण पालिका प्रशासन क्यों चुप्पी साधे हुए है तथा पालिकाध्यक्ष जो अपने मतलब नही होने पर तुरंत अतिक्रमण हटवाने के लिए दस्ता भिजवाने में माहिर रही है, वही भी केवल ईओं को पत्र देकर कर्तव्य की इतिश्री कर रही है। ऐसे में वो कौन है, जिसने कब्जा किया है?

बिजली विभाग सवाालों के घेरे में

घरेलू विद्युत कनेक्शन के लिए लम्बी कतारों में खड़े उपभोक्ता को जहां कनेक्शन फाईल लगाने के लिए दस्तावेजो क लम्बी सूची के साथ कई महिनों तक इंतजार करना पड़ता है। वही मात्र एक दिन में ही उक्त भूखंड पर कनेक्शन और वो भी बिना मालिकाना दस्तावेजो के केवल पटवारी की रिपोर्ट पर ही बल्ली(लकड़ी पर) तार लगाकर कनेक्शन देना कई सवालिया निशान लगाकर बैठा है। सहायक अभियंता के.सी.सैनी का कहना है कि उक्त फाईल फरवरी में ही लग गई थी, इसलिए कनेक्शन दे दिया गया, जबकि फरवरी तो दूर 15 जून तक वहां केवल खाली भूमि ही थी। ऐसे में पटवारी ने रिपोर्ट व बिना जगह देखे कनेक्शन जारी कर दिया जाना चर्चा का विषय बना हुआ है।

सवालों में घेरे मेंं अतिक्रमण प्रभारी

पालिका के अतिक्रमण प्रभारी एवं जेईएन राजेश बैरवा का यह कहना है कि मेरे अलावा भी नगर पालिका में पूरा स्टाफ है, उन पर जिम्मेदारी तय करनी चाहिए, मेरे जिम्मे 8 करोड़ का रोड़ है, जिसका निर्माण कराने में व्यस्त हूँ। ऐसे में मुझे इस अतिक्रमण की कोई जानकारी नही है। वही पालिका क्षेत्र के चप्पे-चप्पे की जमी पर निगाह रखने वाले स्वास्थ्य निरीक्षक एवं सह प्रभारी अतिक्रमण बाबूलाल शर्मा का कहना है कि अतिक्रमण देखने का कार्य प्रभारी का है, मुझे इसकी जानकारी नही है तथा कार्यवाही भी उच्चाधिकारियों के कहने पर ही करेंगे, मुझे अभी तक कार्यवाही के निर्देश नही मिले है, ऐसे में वो कुछ नही करेंगे।

Prev Post

टोंक में दो नए पॉज़िटव और मिले, दोनों अरनिया केदार ग्राम निवासी, आज 6 नए कोरोना पॉज़िटव आ गए

Next Post

जूली शर्मा सह प्रांत प्रचार प्रमुख नियुक्त

Related Post