रंगापारा के 200 परिवार अभी भी सरकारी आवास योजना से वंचित

शोणितपुर (असम), । राजनीतिक दलों के वादे और उनके कामकाज को लेकर हमेशा से सवाल उठते रहे हैं। इससे गरीबों में निराशा का बढ़ाना स्वाभाविक है। वर्तमान सत्ताधारी पार्टी को लेकर भी गरीब परिवारों के लिए बनायी गयी योजनाओं को लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं। हालांकि, बड़ी संख्या में गरीब परिवारों को योजनाओं का लाभ मिला है। लेकिन, अभी भी कुछ लोगों को मिलना बाकी है।

मिली जानकारी के अनुसार शोणितपुर के रंगापारा पौर सभा अन्तर्गत कुल दस वार्ड हैं और इन दस वार्डों में लगभग तीन सौ गरीब श्रेणी के लोगों को-प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत नया घर मिला लेकिन, अभी भी आंकड़ों के मुताबिक दो सौ गरीब श्रेणी के लोग नया सरकारी घर पाने को लेकर आस लगाए हुए हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक प्रायः दो सौ लोगों को नया सरकारी घर इसलिए नहीं मिला क्योंकि, इनके पास भूमि के मियादी पट्टा के कागजात नहीं हैं। हालांकि, दावों के अनुसार दो सौ परिवार लगभग 40 वर्षों से अधिक समय से सरकारी टैक्स और घर का टैक्स देकर निवास कर रहे हैं। ये सभी भारतीय वोटर हैं।

गौरतलब है कि गरीब परिवारों का कहना है कि हम सभी स्तर पर काफी समय से सरकारी विभागों को अपनी बातों से अवगत करा रहे हैं, लेकिन भूमि का पट्टा प्रदान करने को लेकर सरकार द्वारा हमारा मजाक बनाया जा रहा है। लोगों का कहना है कि भूमि का पट्टा अगर मिल जाता तो शायद हम लोगों को भी सरकारी योजना के तहत नया घर मिल जाता।