बाजार जाने की जिद् पूरी नहीं की -12 साल की बच्ची ने लगा लिया फंदा

Jodhpur news । शहर के बासनी मधुबन स्थित डीडीपी नगर में रहने वाले एक रेल कर्मचारी की 12 साल की बच्ची ने रात को अपने घर के ऊपरी कमरे पर फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। वजह उसके मां पिता उसे बाजार लेकर नहीं गए। घर में मौजूद अन्य बच्चों को पता लगा तब आसपास लोगों को सूचना दी गई। इस पर बाद में बच्ची को फंदे से उतार कर अस्पताल ले जाया गया। मगर कुछ देर बाद उसकी मौत हो गई। पुलिस ने मंगलवार की सुबह कार्रवाई कर शव परिजन को सौंपा।


बासनी थाने के एएसआई गोविंद सिंह ने बताया कि मधुबन स्थित डीडीपी नगर में रहने वाले रेलकर्मी धर्मेंद्रसिंह पुत्र मुन्नालाल की 12 साल की बेटी रितु सातवीं कक्षा में पढ़ती थी। धर्मेंद्र सिंह रात को पत्नी के साथ बाजार जा रहे थे। तब बच्ची रितु ने भी चलने की जिद की। उन्होंने बाजार ले जाने से मना कर दिया। इसके बाद रितु घर के ऊपरी कमरे में गई और पंखे के हुक में साड़ी का फंदा डालकर झूल गई। इस बीच घर में मौजूद अन्य बच्चें खेलते हुए ऊपर पहुंचे तब रितु को फँदे पर लटके देखा और चिल्लाए। फिर आस पास के लोग एकत्र हो गए। रितु को फंदे से उतार कर एम्स अस्पताल ले जाया गया। धर्मेंद्र सिंह को पड़ौसियों ने फोन पर इत्तिला दी। तब वे भी एम्स अस्पताल पहुंच गए। रितु की रात साढ़े आठ बजे आस पास उपचार के बीच मौत हो गई। इस बारे में मर्ग की रिपोर्ट धर्मेंंद्र सिंह की तरफ से दी गई।