बिहार विधानसभा चुनाव-पहले चरण के लिए थमा चुनाव प्रचार, 71 सीटों के लिए मतदान 28 को

नीतीश सरकार के आठ मंत्रियों समेत कई दिग्गज की प्रतिष्ठा दांव पर

पटना, (हि.स.)। बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर पहले चरण में 16 जिलों की 71 सीटों पर प्रचार का दौर सोमवार शाम पांच बजे समाप्त हो गया। अब प्रत्याशी चुनाव प्रचार नहीं कर सकेंगे। पहले चरण के लिए 28 अक्टूबर को मतदान होगा। पहले चरण में कुल 1,064 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। पहले चरण में जिनके भाग्य का फैसला होना है, उनमें राजद के 42 तो जदयू के 35, भाजपा के 29,  कांग्रेस के 21, रालोसपा के 43, लोजपा के 42, बसपा के 27  माले के आठ, हम के छह और वीआईपी के एक उम्मीदवार शामिल हैं।  

पहले चरण में कई सियासी दिग्गजों पर नजरें टिकी हैं। इनमें नीतीश सरकार के 8 मंत्रियों की साख भी दांव पर लगी है। इनमें चार भाजपा और चार जदयू कोटे के मंत्री है। जिन मंत्रियों के भाग्य का फैसला 28 को होने वाला है उनमें कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार, शिक्षा मंत्री कृष्नंदन वर्मा, ग्रामीण विकास मंत्री शैलेश कुमार, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री जय कुमार सिंह, परिवहन मंत्री संतोष कुमार निराला, राजस्व मंत्री रामनारायण मंडल, श्रम मंत्री विजय कुमार सिन्हा और अनुसूचित जाति-जनजाति कल्याण मंत्री बृजकिशोर बिंद शामिल हैं। इनके अलावा पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी, पूर्व मंत्री विजय प्रकाश, रामेश्वर चौरसिया, राजेंद्र सिंह, श्रेयसी सिंह, भगवान सिंह कुशवाहा और मोकामा से बाहुबलि विधायक अनंत सिंह की प्रतिष्ठा भी दांव पर लगी हुई है।