रांची में आईएफडब्ल्यूजे की राष्ट्रिय बैठक संपन्न – पत्रकार सुरक्षा कानून लागु करवाने के लिये पत्रकारो से एक जुट होने का आह्वान

April 21, 2018 8:11 am

जयपुर (एस एन चावला)। रांची में इंडियन फेडरेशन ऑफ वर्किंग जर्नलिस्ट के तीन दिवसिय 74वें राष्ट्रीय सम्मेलन में आज खेलगांव स्थित डॉ रामदयाल मुंडा कला भवन में पत्रकारों पर बढ़ते हमले एंव हत्या को गंभीरता से लेते हुये संगठन ने भारत सरकार से पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने की मांग उठाई।राष्ट्रीय अध्यक्ष के विक्रम राव ने देश भर के 22 राज्यों से आये पत्रकारों को संबोधित करते हुये कहा कि पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने के लिये संगठन की ओर से प्रतिनिधिमंडल ने उप राष्ट्रपति एंव लोकसभा अध्यक्ष से मिलकर ड्राफ्ट बिल का मसौदा तैयार कर भेजा है।संगठन लगातार पत्रकारों की हत्याओं और हमलों को गंभीरता से लेते हुये पत्रकार सुरक्षा कानून की मांग कर रहा है। के विक्रम राव ने पत्रकारों से आह्वान किया कि वे पत्रकार हितों की लड़ाई को मज़बूती प्रदान करें।इस अवसर पर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष उपेंद्र सिंह राठौड़ ने कहा कि पत्रकारों के अधिकारों की लड़ाई पिछले कई दशकों से इंडियन फेडरेशन ऑफ वर्किंग जर्नलिस्ट लड़ रहा है पत्रकार अपने हितों की रक्षा के लिये एक मज़बूत संगठन के छत तले स्वयं को सुरक्षित महसूस करते हैं। वरिष्ठ पत्रकार चंदन मिश्र ने कहा कि पत्रकारों को कॉड ऑफ कंडक्ट की जानकारी नहीं होने के कारण भी कई समस्याएं होती हैं,संगठित होकर ही पत्रकारों के अधिकारों की रक्षा हो सकती है। प्रदेश अध्यक्ष शाहनवाज़ हसन ने कहा कि झारखण्ड में अब पत्रकार संगठित हो चुके हैं विशेषकर आंचलिक पत्रकारों को इस बात का विश्वास जगा है कि आज कोई एक संगठन ऐसा भी है जो पत्रकारों के लिये देश के सभी राज्यों में मज़बूती के साथ खड़ा है,पत्रकारों के लिये अन्य राज्य इकाई के प्रयास से सरकार द्वारा कई सुविधाएं दी जारही हैं,तेलंगाना सरकार पत्रकारों के लिये हेल्थ स्मार्ट कार्ड जारी कर रही है जिस के माध्यम से पत्रकार अपने पूरे परिवार का इलाज निशुल्क करवा रहे हैं।केरल की सरकार पत्रकारों को दस हजार रुपये पेंशन दे रही है,अन्य कई राज्यो द्वारा पत्रकारों को अनेकों सुविधाएं दी जारही हैं वहीं झारखण्ड सरकार द्वारा अबतक पत्रकारों के लिये जो घोषणाएं की गयी हैं उसे धरातल पर नहीं उतारा जासका है पर यह आशा है जल्द ही सरकार उन योजनाओं को पूरा करेगी।इस अवसर पर राजस्थान ,तमिलनाडु,केरल,तेलंगाना,छतीसगढ़,बिहार,बंगाल,उत्तरप्रदेश, दिल्ली,हरियाणा,आंध्रप्रदेश एंव ओडिसा इकाई की ओर से राज्यों की वार्षिक रिपोर्ट पेश की गयी।पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने के लिये आज 25 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल राजस्थान इकाई के अध्यक्ष उपेंद्र सिंह राठौड़ तथा झारखंड इकाई के अध्यक्ष शहनवाज हसन की अध्यक्षता में झारखण्ड की राज्यपाल से मिलकर इंडियन फेडरेशन ऑफ वर्किंग जर्नलिस्ट द्वारा ड्राफ्ट बिल को सौंपा। साथ ही आई एफ डब्ल्यू जे , राजस्थान मासिक पत्रिका की प्रति भेट करतें हुए संगठन की गतिविधियों की जानकारी दी । कार्यक्रम के दूसरे दिन देवघर में कल झारखण्ड की आगामी कमिटी की रूप रेखा तय की जायेगी, साथ ही देश भर के पत्रकारों को देवघर में दर्शन करेंगे।देश भर से आये सभी पत्रकार आज रांची से सड़क मार्ग से देवघर के लिये रवाना हो गये।

Prev Post

सूरत रेप मर्डर केस : 3 आरोपी हिरासत में

Next Post

शादी में आए युवक ने किसी भी हथियार पकड़ा पैथर

Related Post