Faridabad Satta King Today 16.09.2022 Result

This game of betting in India has a name from different regions by many names Faridabad, Disawar, Kalyan, Kurla Satta Matka (SATTA MATKA), Satta Matka (SATTA MATKA) is a completely illegal gambling betting game which was introduced centuries ago in 1950.

September 15, 2022 1:50 pm
Faridabad Satta King Today 16.09.2022 Result

Faridabad Satta King: India is in the list of completely illegal games, even though India is constantly increasing towards modernity, but even today people see their luck trying their luck in betting games from Satta King to Satta Matka. From Satta king to Satta, there are many illegal betting games going on in India. 

 

Now according to the time in India, as India is becoming modern, in the same way legal sports or illegal games are also becoming more and more modern, whether it is study or everything in the game is now possible to be online. 

 

The games we are talking about in front of you today, those games have been going on in India since 1950, many people have got addicted to it, then many people are seen resorting to gambling and betting to earn more money in less time. gives. 

 

Faridabad Satta King Today 16.09.2022 Result 

 

Faridabad Satta King Today 16.09.2022 Result 

This game of betting in India has a name from different regions by many names Faridabad, Disawar, Kalyan, Kurla Satta Matka (SATTA MATKA), Satta Matka (SATTA MATKA) is a completely illegal gambling betting game which was introduced centuries ago in 1950. Although it was named ‘Ankra Jugar’ at that time. As the wheel of time kept spinning, the game of satta matka kept on increasing with time and now it is completely different from the game which used to be earlier. 

 

 

Games like Satta King to Satta Matka have been completely illegal in India from the very beginning, even before independent India, at that time also Matka King (MATKA KING) under the Public Gambling Act introduced in 1867 of the British Government. Or jailed people caught while playing games like SATTA KING, SATTA MATKAcan go or pay the fine. 

 

Any type of gambling is based on betting after the game number is selected. In the olden days, chit numbers ranging from 0 to 9 were put in the pot and picking up a chit from the pot, used to announce the number written on it i.e. the winning number. The practice of playing this game has changed in recent times. Now 3 numbers are selected from a pack of cards. The winner of Matka gambling game is called ‘Matka King’. 

 

What is the punishment for playing any type of betting? 

Those playing bets can face a fine of up to Rs 200 or imprisonment for up to 3 months. 

 

Is Matka Gambling Legal? 

Satta or Satta Matka is not legal and banned in India. 

 

Who is the owner of Matka? 

Ratan Khatri is the founder of Satta Matka. 

 

Can I play satta matka online? 

In today’s digital world, the most popular lottery-based game Satta Matka has made its way online. 

 

Is online matka legal in India? 

Playing Matka through online portals is illegal in India and as per the Public Gambling Act 1867, those caught gambling will have to go to jail or pay a fine. 

 

Is Faridabad Satta Legal? 

No, Kalyan Satta or any other type of gambling or speculative game is illegal in India. 

Faridabad Satta King : भारत में पूर्ण रूप से अवैध खेलो की लिस्ट में है, भारत भले ही लगातार आधुनिकता की और बढ़ता जा रहा है पर आज भी लोग Satta King से लेकर Satta Matka तक सट्टे वाले गेम में अपनी किस्मत आजमाते देखते है. Satta king से लेकर Satta कोई भी हो वो इंडिया में कई अवैध सट्टे वाले खेल चल रहे है

 

अब भारत में समय के अनुसार जैसे जैसे भारत आधुनिक हो रहा है वैसे वैसे ही वैध खेल हो या अवैध खेल ये भी लगातार आधुनिक होते जा रहे है, बात पढ़ाई की हो या खेल की हर चीज अब ऑनलाइन होना संभव हो गया है.

 

आज आपके सामने जिन जिन खेलों की बात कर रहे है वेह खेल भारत में 1950 के करीब से चले आ रहे है, कई लोगों की इसकी लत लग चुकी है तो कई लोग कम समय में ज्यादा पैसा कमाने के लिए जुआ और सट्टा का सहारा लेते दिखाई देते है.

 

Faridabad Satta King Today Result

 

 

भारत में सट्टे के इसी खेल का एक नाम है कई नामों से अलग अलग क्षेत्र से फरीदाबाद, दिसावर, कल्याण, कुर्ला सट्टा मटका (SATTA MATKA), सट्टा मटका (SATTA MATKA) पूर्ण रूप से अवैध जुआ सट्टे वाला खेल है जिसे सदियों पहले 1950 में शुरू किया गया था हालाँकि उस समय इसका नाम ‘आंकड़ा जुगार’ था. जैसे जैसे समय का पहिया घूमता चला गया वैसे वैसे ही सट्टा मटका खेल समय के साथ साथ बढ़ता चला और अब यह उस खेल से बिल्कुल अलग है जो पहले हुआ करता था

 

 

भारत में Satta King से लेकर Satta Matka जैसे खेल शुरू से ही पूर्ण रूप से अवैध रहे है, आजाद भारत से पहले की बात करें तो उस समय भी ब्रिटिश सरकार के 1867 में पेश किए गए सार्वजनिक जुआ अधिनियम के तहत मटका किंग (MATKA KING) या सट्टा किंग (SATTA KING), SATTA MATKA जैसे खेलों को खेलते समय पकड़े गए लोग जेल जा सकते हैं या जुर्माना भर सकते हैं.

 

किसी भी प्रकार का जुआ खेल संख्या का चयन करने के बाद सट्टेबाजी पर आधारित ही होता है. पुराने जमाने में 0 से 9 तक की संख्या वाली चिट को मटके में डालते थे और एक चिट को मटके से उठाकर उस पर लिखे नंबर यानी जीतने वाले नंबर की घोषणा करते थे. हाल के दिनों में यह खेल खेलने का अभ्यास बदल गया है. अब ताश के पत्तों के एक पैकेट में से 3 अंक चुने जाते हैं. मटका जुआ खेल जीतने वाले को ‘मटका किंग’ कहा जाता है.

 

किसी भी प्रकार का सट्टा खेलने की सजा क्या है?

सट्टा खेलने वालों को 200 रुपये तक का जुर्माना या 3 महीने तक के कारावास का सामना करना पड़ सकता है.

 

क्या मटका जुआ कानूनी है?

सट्टा या सट्टा मटका कानूनी नहीं है और भारत में प्रतिबंधित है.

 

मटका का मालिक कौन है?

रतन खत्री सट्टा मटका के संस्थापक हैं.

 

क्या मैं सट्टा मटका ऑनलाइन खेल सकता हूँ?

आज की डिजिटल दुनिया में, सबसे लोकप्रिय लॉटरी-आधारित गेम सट्टा मटका ने ऑनलाइन अपना स्थान बना लिया है.

 

क्या भारत में ऑनलाइन मटका कानूनी है?

भारत में ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से मटका खेलना गैरकानूनी है और सार्वजनिक जुआ अधिनियम 1867 के अनुसार, जुआ खेलते हुए पकड़े जाने वालों को जेल जाना होगा या जुर्माना भरना होगा.

 

क्या कल्याण सट्टा कानूनी है?

नहीं, कल्याण सट्टा या किसी अन्य प्रकार का जुआ या सट्टा खेल भारत में अवैध है.

Prev Post

निजी स्कूलों से चौथ वसूली का खेल अभिभावक संघर्ष समिति पदाधिकारियों कोठारी व शर्मा के खिलाफ FIR दर्ज

Next Post

ओवैसी पर जवाबी हमले की तैयारी में कांग्रेस, अपने अल्पसंख्यक नेताओं को करेगी आगे

Related Post