विकास कार्यों एवं बजट घोषणाओं की क्रियान्वित प्राथमिकता से हो- प्रभुलाल सैनी

कोटा । कृषि मंत्री एवं कोटा जिला प्रभारी प्रभुलाल सैनी ने सभी जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे जिले में चल रहे विकास कार्यो को आपसी समन्वय से लक्ष्य निर्धारित करते हुए कार्यो को पूरी गुणवत्ता के साथ समय पर पूरा कराने के निर्देश दिये। सैनी शनिवार को कोटा कलेक्ट्रेट के टैगोर हॉल में विभागीय योजनाओं की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देशित किया वे फेज 2 के तहत कराये जाने वाले कार्यो को विभागीय प्रक्रिया पूर्ण कर एक माह में स्वीकृत कार्यो को पूरा कराने के भी निर्देश दिये। प्रभारी मंत्री ने कहा कि नार्दन बाईपास के निर्माण का कार्य लगभत 90 प्रतिशत पूर्ण हो गया हैं शेष 10 प्रतिशत काम के लिए काश्तकारों की आने वाली जमीन का उचित मुआवजा मिले इसके लिए उन्होंने यूआईटी की उप सचिव को निर्देशित किया कि जब तक एएनआई के पास बजट नहीं आ जाता तब तक वैकल्पिक व्यवस्था के तौर यूआईटी अपने फण्ड की राशि में से काश्तकारों को उनकी जमीन की मुआवजा राशि का भुगतान कर सकता है। एनएचआई के पास बजट प्राप्त हो तो वे उसे यूआईटी को हस्तांतरित कर सकता है। उन्होंने कहा कि काश्तकारों की मांग न्यायोचित है और इस पर सकारात्मक पहल की जानी चाहिए।

जिला प्रभारी मंत्री ने राज्य सरकार की फ्लैगशिप योजनाओं एवं बजट घोषणाओं की समीक्षा करते हुए सभी अधिकारियों को निर्देश दिये कि विकास कार्यों को गुणवत्ता के साथ समय पर पूरा करायें। उन्होंने कहा कि किये जा रहे कार्यों की प्रभावी मॉनिटरिंग भी की जाये तथा प्रगति से जिला कलक्टर को रिपोर्ट प्रस्तुत करने के भी निर्देश दिये। बैठक में सार्वजनिक निर्माण विभाग खण्ड कोटा, आरएसआरडीसी,आरयूआईडीपी, यूआईटी, नगर निगम, जिला परिषद,केईडीएल, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी, कृषि उपजमंडी समिति, रीको, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, वन, श्रम, कृषि आदि विभागों के संबंध में पूर्व निर्देशों की प्रगति पर बिन्दुवार चर्चा की गई।

जिला प्रभारी मंत्री ने बजरी के संबंध में चर्चा करते हुए कहा कि बैठक के माध्यम से प्रस्ताव लेकर बजरी की समस्या के समाधान के लिए सरकार को लिखा जायेगा। उन्होेंने सार्वजनिक निर्माण विभाग के अभियंता को निर्देश दिये कि विधायक कोष से जो भी कार्य स्वीकृत किये गये उन्हें प्राथमिकता से पूरा किया जाये तथा आगामी बैठक में 15 जून तक का ब्यूरा आवश्यक रूप से प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। उन्हाेंने कहा कि जहां -जहां पर भी गौरवपथ बनाये गये है तथा जहां नये बनाये जाने है उनके साथ ही नाली निर्माण का काम कराया जाना भी सुनिश्चित किया जाये।  सैनी ने दरा-झालावाड सड़क पर कोटा स्टोल के वेस्ट मेटेरियल काम में लिये जाने पर नाराजगी व्यक्त करते ही कहा कि इसे अविलंब रोका जाये तथा निर्धारित मापदण्ड के आधार पर काम हो। उन्होंने भामाशाह मंडी में विद्युत समस्या का समाधान पर भी नाराजगी व्यक्त की तथा जेविविएनएल के अभियंता को निर्देशित किया कि वे व्यापारियों की समस्या को गंभीरता से ले तथा अविलंब इसका निस्तारण करे। उन्होंने थोक फल सब्जी मंडी की चर्चा करते हुए निर्देश दिये कि इस मंडी को ऎशिया की अग्रणी मंडी बनाये जाने के सार्थक प्रयास किये जाये