न्यूज़

दिसावर सट्टा किंग में बुधवार का रिजल्ट | Desawar Satta king main budhwar ko 14.09.2022 Result

Desawar Satta King Result: इण्डिया मैं सबसे ज्यादा कम समय मैं मशहूर सट्टा मटका दिसावर चार्ट रिजल्ट ( Disawar chart satta ) आप इस पेज पर देख सकते हो. दिसावर सट्टा किंग का रिजल्ट सुबह को घोषित किया जाता है. सट्टा मटका दिसावर की पूरी जानकारी यंहा दी जा रही है।आपको मालूम है दिसावर सट्टा किंग एक तरह का सट्टा मटका का खेल है जिसे दिसावर कंपनी द्वारा चलाया जाता है। दिअवर कंपनी के गेम (Desawar Company Games) बहुत प्रसिद्ध है लाखो लोग दिसावर सट्टा किंग में बाजी लगाते है. दिसावर सट्टा किंग को मुंबई से सेठ भगत नाम का व्यक्ति चलाता है।

दिसावर सट्टा किंग की जानकारी

हम आपको बता दे की सट्टा किंग का मालिक कौन है और सट्टा किंग किस देश की कंपनी है यदि आप Satta King से जुड़ी सारी जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़े क्योंकि यहाँ हमने कम शब्दों में पूरी जानकारी देने की कोशिश भरपूर की है.

जैसे की समय इंटरनेट पर पड़ी जानकारी से पता चलता है की सट्टा किंग के मालिक रतन खत्री, कल्यानजी भगत और सुरेश भगत है. जो इसके फाउंडर है एक छोटी सी दुकान चलाने वाले Kalyanji Bhagat ने 1962 कल्याण वोर्ली मटका के नाम से शुरू किया था जिसके बाद Rattan Khatri ने 1964 में दिल्ली में न्यू वोर्ली मटका के नाम से शुरू किया दिया। इसी तरह से इसकी शुरुआत हुई और आप सभी जानते है कि आज यह काफी बड़ा गेम बन गया है.

Desawar satta king  main budhwar Result 14.09.2020

Satta King और satta matka पर काफी बार छापेमारी भी की गई है जिसमे कई व्यक्ति हिरासत में भी आये क्योंकि यह एक गैर क़ानूनी गेम है जो भारत में पूरी तरह बैन है. इस तरह के सट्टा बाज़ार से आपको दूर रहना चाहिए और कभी भी Satta Matka के इस खेल को नहीं खेलना चाहिए. वैसे इसे कई नामों से पहचानते है सट्टा किंग, सट्टा मटका और भी इसी तरह कई नाम लेकर इसे पुकारा जाता है.

इंटरनेट पर सट्टा किंग का रिजल्ट काफी सारी वेबसाइटों पर देखने के लिए मिल जाता है जो इसकी पल पल की जानकारी देते है. परन्तु आपको जैसा पहले बताया गया है की यह एक Illegal सट्टा बाज़ार है जिसे नहीं खेलना चाहिए और आपको इस तरह की हर गेम से दूर रहना चाहिए.

भारत में Satta King से लेकर Satta Matka जैसे खेल शुरू से ही पूर्ण रूप से अवैध रहे है, आजाद भारत से पहले की बात करें तो उस समय भी ब्रिटिश सरकार के 1867 में पेश किए गए सार्वजनिक जुआ अधिनियम के तहत मटका किंग (MATKA KING) या सट्टा किंग (SATTA KING), SATTA MATKA जैसे खेलों को खेलते समय पकड़े गए लोग जेल जा सकते हैं या जुर्माना भर सकते हैं.

किसी भी प्रकार का जुआ खेल संख्या का चयन करने के बाद सट्टेबाजी पर आधारित ही होता है. पुराने जमाने में 0 से 9 तक की संख्या वाली चिट को मटके में डालते थे और एक चिट को मटके से उठाकर उस पर लिखे नंबर यानी जीतने वाले नंबर की घोषणा करते थे. हाल के दिनों में यह खेल खेलने का अभ्यास बदल गया है. अब ताश के पत्तों के एक पैकेट में से 3 अंक चुने जाते हैं. मटका जुआ खेल जीतने वाले को ‘मटका किंग’ कहा जाता है.

Reporters Dainik Reporters

Team@dainikreporters.com, Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.

Recent Posts

भारत में अब आमजन को जेब में नोट रखने की जरूरत नहीं,कल से डिजीटल नोट होंगे शुरू

अब भारत में आम जन को लेन देन और आम दिनचर्या के लिए जेब में…

3 hours ago

गहलोत और पायलट विवाद, निपटाऐंगे वेणुगोपाल,यात्रा तक सियासी सीजफायर

राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच वर्चस्व और…

1 day ago

राजस्थान में आतंकी हमले की साज़िश, विदेशों से आर्थिक फंडिंग,NIA के छापे

राजस्थान में आतंकी हमले के लिए विदेशों से आठवीं फंडिंग होने का खुलासा होने के…

1 day ago

राजस्थान में CM बाल गोपाल योजना (दूध) व CM फ्री यूनिफॉर्म वितरण योजना का शुभारंभ, भीलवाड़ा मे भी कलेक्टर मोदी की मौजूदगी में..

राजस्थान में आज मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सरकार द्वारा अपनी बजट घोषणा के अनुरूप पालना करते…

1 day ago

टोंक बनास में बजरी को लेकर तनाव, ग्रामीण व लीजधारक हुए आमने सामने, प्रतिबंधित क्षेत्र में कर रहे दोहन,

ज़िलें में अवैध बजरी खनन खुलेआम प्रशासन की नाक के नीचे किया जा रहा है,…

2 days ago

This website uses cookies.