देश

इस गांव से हिन्दू पलायन क्यों, जाने

रतलाम/ देश के रतलाम जिला मुख्यालय से चंद कदम दूरी पर ही स्थित सुराना गांव में मुस्लिम समुदाय के लोगों की प्रताड़नाओ से परेशान होकर गांव के हिंदुओं ने पलायन की चेतावनी देते हुए गांव से पलायन शुरू कर दिया है ।

बताया जाता है कि इस गांव में 60% आबादी मुस्लिम है और बाकी हिंदू और अन्य हैं। गांव के हिंदुओं का आरोप है कि एसपी से मुस्लिम समुदाय के प्रताड़ना ओं की गुहार लगाने गए हिंदुओं के साथ दुर्व्यवहार करते हुए उन्हें भगा दिया और कोई कार्यवाही नहीं की।

सुराना 1588 लोगों की आबादी वाला गांव है। 60% आबादी मुस्लिम, बाकी हिंदू और अन्य हैं। हिंदुओं में अधिकतर जाट हैं। तेली, धाकड़, और दलित भी हैं। गांव में दोनों ही समुदायों के लोगों का पेशा खेती और पशुपालन है। गांव के बुजुर्ग का कहना है कि गांव में पहले कभी प्यार और भाईचारा नहीं बिगड़ा।

अब नई उम्र के लड़के छोटी-छोटी बातों पर आपस में उलझ रहे हैं। 20-25 साल पहले सुराना गांव में मुस्लिम आबादी कम थी, लेकिन पिछले कुछ सालों में मुस्लिम समाज की आबादी बढ़कर 60% हो गई।

गांव में सरकारी जमीन पर अतिक्रमण की शिकायत और सोशल मीडिया पर एक-दूसरे के धर्म पर आपत्तिजनक टिप्पणियां किए जाने के बाद से विवाद शुरू हुआ। दोनों धर्म के युवाओं में 2 सालों से तनातनी जारी है। पिछले दिनों गांव के मुकेश जाट और मुस्लिम समाज के युवकों के बीच विवाद हो गया था।

 

सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर गांव के हिंदू संगठन से जुड़े हुए मुकेश जाट ने मुस्लिम युवकों के खिलाफ केस दर्ज करवाया था। इसके बाद 16 जनवरी को गांव के ही मयूर, हैदर और सद्दाम ने मुकेश से विवाद किया। जिसकी शिकायत करने मुकेश अपने साथियों के साथ बिलपांक थाने गया था।

इसी दौरान मुस्लिम युवक गाड़ियों से मुकेश के मोहल्ले में झगड़ा करने पहुंच गए। बिलपांक थाना पुलिस ने इस मामले में दोनों पक्षों के विरुद्ध कार्रवाई की। इसी से आहत मुकेश और गांव के अन्य लोग जनसुनवाई में एसपी से शिकायत करने पहुंचे।

एसपी गौरव तिवारी ने लोगों को धार्मिक सद्भाव नहीं बिगाड़ने की हिदायत दी। इसी बात से असंतुष्ट होकर हिंदू परिवारों ने मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपकर 3 दिन में गांव से पलायन करने की चेतावनी दे डाली। गांव के 55 से 60 हिंदू घरों पर मकान बिकाऊ हैं और पलायन की बात लिखी गईं।

हिंदू परिवारों के अनुसार छोटी-छोटी बातों को लेकर मुस्लिम समाज के युवक विवाद कर रहे हैं। जानबूझकर हमारे मोहल्ले में तेज रफ्तार से गाड़ियां चलाते हैं और उकसाने की कोशिश करते हैं। गांव के धार्मिक स्थलों के पास गंदगी करते हैं। मुस्लिम समाज के लोगों ने शासकीय जमीन पर अतिक्रमण भी कर रखा है।

हिंदुओं का कहना है कि मुस्लिमों ने बाहर से अपने रिश्तेदारों को गांव लाकर बसा दिया। इसकी वजह से उनकी आबादी तेजी से बढ़ी। इस संबंध में मुस्लिमों ने कुछ भी नहीं कहा। उन्होंने न तो इस बात को स्वीकार किया और न ही इससे इनकार।

प्रशासन ने कमेटी बनाई

ग्रामीणों से चर्चा के बाद कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम के अनुसार गांव में सांप्रदायिक सौहार्द बनाने के लिए दोनों पक्षों के लोगों से बातचीत की गई है।

दो-दो लोगों की एक समिति प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बनाई गई है। गांव में आपराधिक रिकॉर्ड वाले लोगों को जिलाबदर किया जाएगा। सरकारी जमीन पर सभी अतिक्रमण को हटाने की कार्रवाई 1 महीने में पूरी की जाएगी।

गांव में धार्मिक माहौल बिगाड़ने वाले किसी भी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा। और ऐसा काम करने वालों पर चौतरफा कार्रवाई की जाएगी।

एसपी गौरव तिवारी के अनुसार पुलिस और प्रशासन धार्मिक माहौल बिगाड़ने वालों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करेंगे। गांव में होने वाली छुटपुट घटनाओं पर निगरानी के लिए अस्थाई पुलिस चौकी शुरू की जा रही है।

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम