तीन हजार लावारिसों की अस्थियों को मिली मां गंगा की गोद

Dr. CHETAN THATHERA
3 Min Read

हरिद्वार । प्रकाश पुंज सेवा समिति के तत्वावधान में शुक्रवार को अमावस्या के अवसर पर वैदिक विधिविधान व मंत्रोच्चार के साथ कनखल स्थित सती घाट पर दिल्ली के विभिन्न श्मशान घाट से लाए गए तीन हजार अस्थि कलशों का एक साथ विसर्जन किया गया।अस्थि विसर्जन के बाद समिति के पदाधिकारियों व सदस्यों ने मृतकों की आत्मा शांति के लिए मां गंगा से प्रार्थना की। 


समिति के अध्यक्ष पंडित विशाल शास्त्री ने बताया कि समिति पिछले 10 साल से लावारिस शवों का अंतिम संस्कार और अस्थि विसर्जन कर रही है। उन्होंने बताया कि दिल्ली में तीन सौ श्मशान हैं। समिति के पदाधिकारी व सदस्य सभी श्मशान से लावारिस मृतकों की अस्थियां एकत्र करते हैं, जिन्हें प्रत्येक अमावस्या को हरिद्वार लाकर गंगा में विसर्जित किया जाता है। इसके अलावा लावारिस शवों का अंतिम संस्कार भी कराया जाता है।

अब तक लाखों लावारिस व्यक्तियों की अस्थियां गंगा में प्रवाहित की जा चुकी हैं। पंडित शास्त्री ने बताया कि वैदिक सनातन धर्म में जीवन के प्रत्येक चरण के लिए संस्कार तय किए गए हैं। अंतिम संस्कार भी उनमें से एक है। हिन्दु धार्मिक मान्यताओं के अनुसार मृत्यु के पश्चात विधिविधान के साथ शव का अंतिम संस्कार व गंगा में अस्थि प्रवाह नहीं किया जाए तो मृतक को मोक्ष नहीं मिलता है।संरक्षक महामण्डलेश्वर सोमेश्वरानन्द गिरि महाराज व स्वामी अखण्डानन्द महाराज की प्रेरणा से समिति ने लावारिस शवों का अंतिम संस्कार व अस्थि विसर्जन का बीड़ा उठाया। इसमें समिति के पदाधिकारियों व सदस्यों के अलावा आम लोगों का सहयोग भी मिलता है। 

आशीष बालियान ने कहा कि दिल्ली में कहीं भी मिलने वाले अज्ञात शवों के अलावा ऐसे लोग जिनका कोई वारिस नहीं है, उनकी मौत होने की सूचना मिलने पर समिति अपने खर्च पर अंतिम संस्कार कराती है और अस्थियों को हरिद्वार लाकर मां गंगा की गोद में विसर्जित किया जाता है। उन्होंने कहा कि समिति के अध्यक्ष पंडित विशाल शास्त्री के नेतृत्व में चल रहे इस कार्य को निरंतर जारी रखा जाएगा। इस मौके पर पंडित विनोद शर्मा, पंडित भरत शर्मा, राजेंद्र प्रसाद बंसल, शशी चौहान, दीपक, अजय शर्मा, राजकुमार आदि सहित कई लोग मौजूद रहे। 

Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम