देश

श्री बदरीनाथ धाम एवं श्री केदारनाथ धाम शीतकालीन पूजास्थलो में पहुंचे 12 हजार से अधिक श्रद्धालु

देहरादून/ ऋषिकेश / उत्तराखंड के चार धाम केदारनाथ बद्रीनाथ गंगोत्री यमुनोत्री कड़ाके की ठंड और भारतीय परंपरा अनुसार इस दौरान चारों धामों के मूल मंदिरों के कपाट बंद रहते हैं लेकिन इस दौरान शीतकालीन पूजा स्थलों पर भगवान बद्रीनाथ केदारनाथ गंगोत्री और यमुनोत्री मैया की नियमित पूजा अर्चना आरती होती है और यहां पर श्रद्धालुओं को आने की स्वीकृति होती है और इसी कड़ी में श्री बदरीनाथ- केदारनाथ धाम की शीतकालीन पूजाओं में श्रद्धालु पहुंच रहे है‌।

इसीक्रम में अभी तक 12661 श्रद्दालु श्री बदरीनाथ धाम एवं श्री केदारनाथ धाम की शीतकालीन पूजाओ में शामिल हुए है।

उत्तराखंड चारधाम श्री बदरीनाथ – केदारनाथ मंदिर समिति के मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़ के अनुसार श्री बदरीनाथ धाम के शीतकालीन पूजास्थल एवं आदि गुरु शंकराचार्य जी के शीतकालीन गद्दीस्थल श्री नृसिंह मंदिर ज्योर्तिमठ(जोशीमठ) में 22 नवंबर 2021 से – 16 जनवरी 2022 तक 2449 श्रद्धालु शीतकालीन पूजा में शामिल हुए।

श्री बदरीनाथ धाम के शीतकालीन पूजा स्थल एवं श्री उद्धव जी एवं श्री कुबेर जी के शीतकालीन प्रवास योग बदरी पांडुकेश्वर में 45 श्रद्धालु पहुंचे।

श्री केदारनाथ धाम एवं द्वितीय केदार श्री मद्महेश्वर जी के गद्दी स्थल श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ में दिनांक (9 नवंबर 2021 से 16 जनवरी 2022 तक)10363 श्रद्धालु पहुंच गये है। श्री गंगोत्री धाम के शीतकालीन गद्दीस्थल मुखवा ( मुखीमठ) तथा श्री यमुनोत्री मंदिर के शीतकालीन प्रवास खरसाली( खुशीमठ) में श्रद्धालु दर्शन को पहुंच रहे है।

श्री बदरीनाथ एवं श्री केदारनाथ धाम के शीतकालीन पूजा स्थलों में अभीतक 12857(बारह हजार आठ सौ सत्तावन ) तीर्थयात्री पहुंचे है।

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम