प्रधानमंत्री मोदी ने अटल टनल राष्ट्र को समर्पित की

कुल्लू/जसपाल। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी ने शनिवार को 10 हजार फुट की ऊंचाई पर बनी ऐतिहासिक अटल टनल (रोहतांग) राष्ट्र को समर्पित कर दी। इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने लाहौल वासियों के वर्षों पुराने सपने को पूरा कर दिया। इसके साथ ही अटल टनल रोहतांग वाहनों की आवाजाही के लिए खुल गई है। उद्घाटन करने के …

प्रधानमंत्री मोदी ने अटल टनल राष्ट्र को समर्पित की Read More »

October 3, 2020 11:34 am


कुल्लू/जसपाल। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी ने शनिवार को 10 हजार फुट की ऊंचाई पर बनी ऐतिहासिक अटल टनल (रोहतांग) राष्ट्र को समर्पित कर दी। इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने लाहौल वासियों के वर्षों पुराने सपने को पूरा कर दिया। इसके साथ ही अटल टनल रोहतांग वाहनों की आवाजाही के लिए खुल गई है। उद्घाटन करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अटल टनल में थोड़ी देर टहले।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अटल टनल रोहतांग के उद्घाटन के दौरान वहां पर लगी प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इस प्रदर्शनी में रोहतांग अटल सुरंग के निर्माण से जुड़ी सारी जानकारी प्रदान की गई है। बीआरओ के महानिदेशक हरपाल सिंह ने उन्हें अटल टनल रोहतांग के निर्माण से जुड़ी सारी जानकारियां बताई इस दौरान उन्हें कठिन कठिन परिस्थितियों से जूझना पड़ा उसके बारे में भी उसमें भी उन्होंने बताया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रदर्शनी का मूल्यांकन करने के बाद अंदर जाकर अटल टनल रोहतांग का दौरा भी किया। मोदी ने अकेले ही अंदर जाकर टनल का भ्रमण किया। उन्होंने टनल के अंदर जाकर हर छोटी बड़ी जानकारी ली।


प्रधानमंत्री शनिवार सुबह वायुमार्ग से दिल्ली से सासे हेलीपेड पहुंचे जहां रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, शिक्षा मंत्री गोबिंद ठाकुर, तकनीकी मन्त्री रामलाल मार्कण्डेय व  बी आर ओ द्वारा बड़ी गर्मजोशी से प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत किया गया। इस दौरान कुल्लवी व लाहौली परंपरा के अनुसार स्थानीय लोगों ने पारम्परिक परिधानों में प्रधानमंत्री का स्वागत किया। 


अटल टनल रोहतांग विश्व भर की ऊंचाई में बनाई गई हाइवे टनल में सबसे ऊंची टनल है। अटल टनल 10 हजार फुट की ऊंचाई पर बनी है जो 9.02 किलोमीटर लंबी है। टनल निर्माण पर करीब 3300 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं। टनल का निर्माण कार्य वर्ष 2010 में शुरू हुआ था व 10 साल बाद निर्माण कार्य पूर्ण हुआ है। इससे मनाली-लेह के बीच 46 किलोमीटर सफ़र कम हो जाएगा व सर्दियों में सेना के मार्ग में रोहतांग दर्रा भी बाधा नहीं बनेगा। अटल टनल रोहतांग में सुरक्षा की दृष्टि से हर 500 मीटर के बाद आपातकाल द्वार रखा गया है। यही नहीं हर 150 मीटर की दूरी पर टेलीफोन बूथ की सुविधा भी है। 4 जी की सुविधा उपलब्ध करवाई गई है। सुरक्षा की दृष्टि से टनल में सी सी टी वी कैमरों की विशेष व्यवस्था की गई है। 


गौर करने लायक है कि इस टनल के बनने से पूर्व जनजातीय क्षेत्र लाहौल स्पीति के लोग 6 महीने तक शेष विश्व से कट जाया करते थे तथा अपने घरों में रहने को मजबूर रहते थे। टनल बनने के बाद जनजातीय क्षेत्र के लोग 12 महीने विश्व से जुड़े रहेंगे। जनजातीय क्षेत्र के लोगों को टनल का सबसे बड़ा फायदा यह है कि जो मरीज इलाज़ के न मिलने के कारण अपनी जिंदगी गवां दिया करते थे, अब ऐसा नहीं होगा। पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्व. अटल बिहारी बाजपेई का 2002 में देखा गया सपना आज पूरा हो गया है। अटल टनल रोहतांग के बनने से अब लद्दाख तक भारत की 12 महीने तक सीधे पहुंच हो गई है। 

Prev Post

दुनिया की कोई ताकत मुझे दुखी परिवार का दुख बांटने से नहीं रोक सकती - राहुल बोले

Next Post

Western Railway / सांताक्रुज तथा गोरेगांव स्टेशनों के बीच कल जम्बो ब्लॉक

Related Post

Latest News

सोनिया गांधी को आज लिखित रिपोर्ट सौंपेंगे अजय माकन, गहलोत के सिपहसालारों पर कार्रवाई संभव 
राजस्थान का अगला पायलट होंगे डाॅ जोशी ? सचिन नहीं, आलाकमान झुकेगा या 70 साल पहले का इतिहास दोहराया जा सकता, पढ़े खबर

Trending News

भीलवाड़ा में गुटखा व्यापारी का दिनदहाडे अपहरण, 5 करोड़ फिरौती मांगी, 3 हिरासत में 
ब्रश, स्पंज और उंगलियों से लिक्विड फाउंडेशन कैसे लगाएं
आपके जीवन में स्वस्थ कितना जरुरी हैं और आहार क्या है, फायदे और डाइट चार्ट
बोलेरो को ट्रेलर ने मारी टक्कर तीन की मौत दो बच्चों सहित पांच गम्भीर घायल, भीलवाड़ा रैफर

Top News

सोनिया गांधी को आज लिखित रिपोर्ट सौंपेंगे अजय माकन, गहलोत के सिपहसालारों पर कार्रवाई संभव 
गहलोत सरकार के मंत्री शांति धारीवाल का बड़ा आरोप, गहलोत को हटाने का षड्यंत्र रच रहे थे माकन, सबूत पेश कर दूंगा
ACB का धमाका - PHED का चीफ इंजीनियर और दलाल 10 लाख रिश्वत लेते गिरफ्तार
जी 6 के विधायकों का गहलोत कैंप पर तीखा हमला, कहा- 'आलाकमान को आंख दिखाने वालों पर हो कार्रवाई'
मंत्री धारीवाल ने माकन के वक्तव्य पर किया पलटवार, माकन और आलाकमान को किया कटघरे में खड़ा
कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए आ सकता है नया नाम, कौन, जानें पढ़े ख़बर 
राजस्थान का अगला पायलट होंगे डाॅ जोशी ? सचिन नहीं, आलाकमान झुकेगा या 70 साल पहले का इतिहास दोहराया जा सकता, पढ़े खबर
टोंक के पचेवर ग्राम विकास अधिकरी 15 हज़ार रुपए लेते ट्रेप,पीएम आवास योजना की दूसरी किश्त जारी करने की एवज में मांग रहा था 20 हज़ार की घुस,
राजस्थान कांग्रेस में घमासान-अब गहलोत पर सकंट, ऑब्जर्वर लौटे, गहलोत व सचिन तलब,आलाकमान गहलोत से नाराज