प्रदेश के कई जिलों में गरज चमक के साथ बारिश की संभावना

भोपाल, (हि.स.)। मानसून के खत्म होने के बावजूद ओडिशा के दक्षिणी हिस्से में कम दबाव का क्षेत्र बना है, जिसके चलते मध्यप्रदेश के मौसम में बदलाव देखने को मिल रहा है।  भोपाल, रीवा, शहडोल और जबलपुर में मौसम में गुरुवार- शुक्रवार में बदलाव आने की संभावना है। इसके बाद मध्यप्रदेश के कई हिस्सों से मानसून …

प्रदेश के कई जिलों में गरज चमक के साथ बारिश की संभावना Read More »

October 8, 2020 11:26 am

भोपाल, (हि.स.)। मानसून के खत्म होने के बावजूद ओडिशा के दक्षिणी हिस्से में कम दबाव का क्षेत्र बना है, जिसके चलते मध्यप्रदेश के मौसम में बदलाव देखने को मिल रहा है।  भोपाल, रीवा, शहडोल और जबलपुर में मौसम में गुरुवार- शुक्रवार में बदलाव आने की संभावना है। इसके बाद मध्यप्रदेश के कई हिस्सों से मानसून की विदाई भी होने की संभावना है। मौसम विभाग ने प्रदेश के कई संभागों और जिलों में बारिश की संभावना जताई है। वही बिजली चमकने के भी आसार है।


प्रदेश से मानसून विदाई की ओर है, अक्टूबर के तीसरे सप्ताह तक प्रदेश भर से मानसून की विदाई हो जाएगी। राजधानी भोपाल में गुरुवार सुबह से हल्के बादल छाने के साथ ही ठंडी हवा चल रही है। मौसम विभाग की माने तो इस सिस्टम के आगे बढऩे पर सात अक्टूबर को पश्चिमी मप्र में कई स्थानों पर बरसात होगी। आठ अक्टूबर को राजधानी में भी गरज-चमक के साथ तेज बौछारें पडऩे की संभावना है। इंदौर में 7 अक्टूबर और भोपाल में 8 अक्टूबर को हल्की बारिश होने की संभावना है। मानसून 10 अक्टूबर के बाद प्रदेश से विदाई ले लेगा। आने वाले 4 से 5 दिनों में भोपाल में जाते हुए बादल बारिश करके जाएंगे। गुजरात में बने चक्रवात के कारण हल्के हल्के बादल छाए रहेंगे। रात को मौसम ठंडा बना रहेगा, हालांकि ठंड की शुरुआत 15 नवंबर के बीच होगी और दिसंबर के मध्य या तीसरे हफ्ते में कोल्ड डे  की शुरुआत हो जाएगी। चौथे सप्ताह में शीत लहर चलना शुरू हो जाएगी।


10 व 11 अक्टूबर को इंदौर में हल्की बूंदाबांदी होगी


इंदौर में पिछले दो दिन में धूप अच्छी निकलने के कारण दिन के तापमान में इजाफा हो रहा है जिसके कारण गर्मी महसूस हो रही हैं, वहीं रात में उत्तरी हवाएं चलने व अभी आद्र्रता कम होने के कारण रात में ठंडक महसूस हो रही है। मौसम विज्ञान के मुताबिक पश्चिमी विक्षोभ अब लगातार आ रहे हैं। इसके कारण मौसम में ये बदलाव देखने को मिल रहा है। नौ अक्टूबर को कम दबाव का क्षेत्र उत्तरी अंडमान समुद्र में बन रहा है, जो आगे चलकर अवदाब में बदलेगा।

यह दक्षिणी ओडिशा और उत्तरी आंध्रप्रदेश तट पर पहुुंचेगा और वहां से पश्चिम-उत्तर-पश्चिम दिशा की ओर बढ़ेगा। इसका असर महाराष्ट्र व विदर्भ तक होगा जबकि पश्चिमी मप्र में कम होगा। इंदौर में 10 व 11 अक्टूबर को हल्की बूंदाबांदी होने की संभावना है। पिछले वर्ष 12 अक्टूबर को मानसून की विदाई हुई थी। इस वजह से इस बार अक्टूबर के तीसरे सप्ताह के अंत तक इंदौर के मानसून के विदाई की उम्मीद है।


इन जिलों में गरज चमक के साथ बौछारों के आसार
रीवा और शहडोल संभाग के जिलों में, सिवनी, मंडला, बालाघाट जिलों।
गरज के साथ बिजली चमकने की संभावना
रीवा और शहडोल संभागों जिलों में, सिवनी, मंडला, बालाघाट जिले में भी।

Prev Post

चौराहे के नाम को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष

Next Post

सीकर में दिन दहाड़े बैंक लूट का प्रयास विफल, हथियार सहित एक हिरासत में

Related Post

Latest News

राजस्थान में भी CM गहलोत ने राज्य कर्मचारियों को दिवाली की सौगात बढ़ाया डीए खबर पर मोहर
राजस्थान शिक्षा विभाग- लाखों का घोटाला फिर भी अब तक दोषी प्रिंसिपल पर कार्यवाही क्यो ?
सीएम गहलोत को क्लीन चिट,धारीवाल -जोशी को कारण बताओ नोटिस

Trending News

केंद्र सरकार ने कर्मचारियों को दीपावली का तोहफा बढ़ाया DA, राजस्थान मे भी अब..
राजस्थान में 4 बच्चों की डूबने से मौत
Ban on 8 affiliated organizations including PFI in the country, know
राजस्थान घमासान- गहलोत को क्लिनचिट,धारीवाल सहित 3 को नोटिस

Top News

राजस्थान में भी CM गहलोत ने राज्य कर्मचारियों को दिवाली की सौगात बढ़ाया डीए खबर पर मोहर
बच्चियों को कहा मत दो वोट,पाकिस्तान चली जाओ -IAS हरजोत कौर
राजस्थान शिक्षा विभाग- घोटालेबाज बाबू डेढ माह से नही आ रहा ड्यूटी पर लापता, DEO बचा रहे है या... ?
राजस्थान शिक्षा विभाग- लाखों का घोटाला फिर भी अब तक दोषी प्रिंसिपल पर कार्यवाही क्यो ?
केंद्र सरकार ने कर्मचारियों को दीपावली का तोहफा बढ़ाया DA, राजस्थान मे भी अब..
राजस्थान में 4 बच्चों की डूबने से मौत
Ban on 8 affiliated organizations including PFI in the country, know
सीएम गहलोत को क्लीन चिट,धारीवाल -जोशी को कारण बताओ नोटिस
राजस्थान घमासान- गहलोत को क्लिनचिट,धारीवाल सहित 3 को नोटिस
मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास का बीजेपी पर आरोप सरकार गिराने का फिर हो रहा है षड्यंत्र