देश मध्य प्रदेश

अब इस प्रदेश मे विधवा होने पर चूडियां तोडने, सिंदूर पोछने,मंगलसूत्र निकालने की प्रथा पर रोक

मुंबई// भारतीय संस्कृति और रूढ़िवादी परंपरा के अनुसार आज एक व्यक्ति के निधन पर उसकी पत्नी जो विधवा हो जाती है उसका मंगलसूत्र हटाना चूड़ियां तोड़ना सिंदूर पहुंचने की प्रथा लाश के ही समक्ष की जाती है इस पूरी वादी परंपरा को समाप्त करने का निर्णय महाराष्ट्र सरकार ने लेते हुए एक अनुकरणीय पहल की है और इसके सरकारी आदेश जारी किए गए हैं।

महाराष्ट्र सरकार ने प्रदेश की कोल्हापुर हेरवाड़ ग्राम पंचायत में हुए निर्णय को नजीर मानते हुए पूरे राज्य में इस विधा प्रथा को समाप्त करने का आदेश जारी किया है यह सरकारी आदेश सर्कुलर राज्य सरकार की ओर से सभी ग्राम पंचायतों को जारी किया गया और इस आदेश की पालना कराने की जिम्मेदारी जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) को दी गई है हालांकि इस आदेश में सरकार ने आदेश की पालना नहीं करने पर कोई सजा का प्रावधान नहीं किया है। सरकार ने इस आदेश के तहत सभी CEO को निर्देश दिए हैं कि वह ग्राम पंचायतों को इस प्रथा को खत्म करने के लिए प्रोत्साहित करें और इसका व्यापक प्रचार प्रसार करते हुए जन जागृति लाने के लिए अथक प्रयास करें।

कोल्हापुर जिले के हेरवाड ग्राम पंचायत में 4 मई को विधवाओं की इस प्रथा को बंद करने को लेकर एक प्रस्ताव रखा गया था जिसको सर्वसम्मति से सभी ग्राम पंचायत सदस्यों ने पारित कर दिया था और इसी प्रस्ताव को नजीर मानते हुए प्रदेश के ग्रामीण विकास मंत्री हसन मुश्रीफ ने सभी ग्राम पंचायतों को हेरवाड़ ग्राम पंचायत का अनुसरण कर एक आदर्श स्थापित करने की अपील की है । और इसका सर्कुलर बनाकर इसे पूरे प्रदेश में लागू करने के आदेश जारी किए

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम