देश

निलोफर मलिक खान ने ओपन लेटर में लिखा है- हमारे लिये ‘पेडलर्स की पत्नी’ और ‘ड्रग ट्रैफिकर्स’ जैसे शब्द इस्तेमाल किया NCB ने

महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक की बेटी नीलोफर मलिक खान (Nilofer Malik Khan) ने एक ओपन लेटर लिखकर इस साल जनवरी में एनसीबी द्वारा उनके पति समीर खान को गिरफ्तार किये जाने के क्रम में अन्यायपूर्ण और गैरकानूनी तरीके का विस्तृत उल्लेख किया है।

समीर खान को 13 जनवरी को तब गिरफ्तार किया गया था। एनसीबी ने दावा किया था कि उसने 194.6 किलोग्राम गांजा की खरीद, बिक्री और स्मगलिंग की साजिश रची थी। समीर खान और पांच अन्य पर नशीली दवाओं की व्यावसायिक मात्रा का कारोबार करने का आरोप लगाया गया था। एक ऐसा अपराध जिसमें अधिकतम 20 साल की सजा होती है।

“एक मासूम की पत्नी से: शुरुआत” शीर्षक वाले पत्र में, नीलोफर मलिक खान ने उस रात को याद किया, जब उनके पति समीर खान को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने गिरफ्तार किया था। उन्होंने लिखा कि उस “आपदा” से उनका परिवार अभी भी जूझ रहा है।

नीलोफर खान ने लिखा- मुझे स्पष्ट रूप से याद है कि यह 12 जनवरी था जब मेरे पति समीर खान को उनकी मां का फोन आया था जिसमें कहा गया कि उन्हें अगले दिन एनसीबी द्वारा उनके कार्यालय में बुलाया गया है। रास्ते में, जब समीर एनसीबी कार्यालय के पास था, तो उसने देखा कि बहुत सारे मीडिया उसके आने की प्रतीक्षा कर रहे हैं।
उसने दावा किया कि उन्होंने अपने पिता नवाब मलिक से इस बारे में बात नहीं की, क्योंकि इसमें कुछ भी छिपाने जैसा नहीं था।

नीलोफर मलिक खान ने आगे लिखा है- मेरे पति से 15 घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की गई थी। समीर से रात 9 बजे से 12 बजे तक पूछताछ की गई, जबकि मैं घर पर बिना किसी स्पष्टता के इंतजार करती रही। भावुक अवस्था में, मैंने अपना हाथ खिड़की के शीशे में मार दिया, जिससे वह मेरे पैर पर गिर गया, जिसके कारण मुझे अपने पैर में 250 टांके लगाने पड़े। वे 15 घंटे मेरे और मेरे बच्चों के लिये बहुत परेशान करने वाले थे।

नवाब मलिक की बेटी ने यह भी आरोप लगाया कि उसके पति की गिरफ्तारी के पीछे और भी बहुत कुछ है। उसने दावा किया- कानूनी मापदंडों के भीतर होने और एनसीबी के पास कोई ठोस सबूत नहीं होने के बावजूद, समीर को गिरफ्तार कर लिया गया। इसने हमें झकझोर दिया।

नीलोफर मलिक खान ने दावा किया कि सबूतों के अभाव में उनके पति को महीनों तक हिरासत में रखा गया था।
नीलोफर ने लिखा- …अगली सुबह मुझे हमारे सुरक्षा गार्ड से फोन आया कि हमारे दरवाजे पर एनसीबी अधिकारी थे और वे हमारे घर और कार्यालय की तलाशी लेना चाहते थे। जब तक मैं वहां पहुंचा, वे हमारे कार्यालय में घुस चुके थे क्योंकि गार्ड के पास एक अतिरिक्त चाबी थी। निलोफर खान ने अपने पत्र में दावा किया कि सामान को इधर-उधर फेंकने और दोनों जगहों की अच्छी तरह से जाँच करने के बाद उन्हें कुछ भी नहीं मिला।

निलोफर खान ने आरोप लगाया कि “पेडलर की पत्नी’ और ‘ड्रग ट्रैफिकर्स’ के आरोप लगाते हुये मेरे परिवार को “बहिष्कृत” किया गया। मेरे बच्चों को एक ऐसे तनाव के दौर से गुजरना पड़ा है जिससे किसी को नहीं गुजरना चाहिये। उन्होंने अपने दोस्तों को खो दिया, लोग हमसे बात करने से भी कतरा रहे थे।

निलोफर मलिक खान ने कहा- हमें रातों-रात खारिज कर दिया गया और हमारे लिये ‘पेडलर्स की पत्नी’ और ‘ड्रग ट्रैफिकर्स’ जैसे शब्द इस्तेमाल होने लगे।

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम