यूक्रेन में अभी भी फंसे है 15 हजार से अधिक भारतीय

More than 15 thousand Indians are still trapped in Ukraine

नई दिल्ली/ यूक्रेन – रूस (Ukraine – Russia) के बीच चल रहे युद्ध (war) को लेकर भारत सहित पूरी दुनिया चिंतित है और सबसे अधिक चिंता का विषय यूक्रेन में फंसे भारतीय नागरिकों (Indian citizens) की है अभी तक भी वहां से फंसे यात्रियों को निकालने के बाद करीब 15000 से अधिक भारतीय अभी भी यूक्रेन में फंसे हुए हैं। यूक्रेन से भारतीयों के घर वापसी का सिलसिला जोरों पर है।

केंद्र सरकार इसके लिए काफी तेजी से काम कर रही है। शनिवार और रविवार तड़के कुल मिलाकर यूक्रेन से अबतक 469 भारतीयों को भारत लाया गया है। इसके लिए टिकट और बाकी खर्च का जिम्मा भारत सरकार खुद उठा रही है।

 

यूक्रेन से निकाले गए 219 भारतीयों को लेकर एयर इंडिया का पहला विमान शनिवार शाम 7:30 को रोमानिया के बुखारेस्ट से मुंबई हवाई अड्डे पर उतरा।

[ राजस्थान सरकार ने यूक्रेन से आने वाले राजस्थानियों को घर तक पहुंचाने की सुविधा शुरू की ]

 

सरकारी अधिकारियों के मुताबिक, सड़क मार्ग से यूक्रेन-रोमानिया (Ukraine-Romania) और यूक्रेन-हंगरी (Ukraine-Hungary) सीमा पर पहुंचे भारतीय नागरिकों को भारत सरकार के अधिकारियों द्वारा क्रमश: बुखारेस्ट और बुडापेस्ट ले जाया गया है, ताकि उन्हें एअर इंडिया (Air India) की निकासी उड़ानों से स्वदेश भेजा जा सके। विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने कहा कि यूक्रेन से भारतीय नागरिकों को निकालने का कार्य प्रगति पर है, हमारी टीम जमीनी स्तर पर हर समय काम कर रही है और मैं निगरानी कर रहा हूं।

यूक्रेन में फंसे 250 भारतीय नागरिकों को लेकर रोमानिया की राजधानी बुखारेस्ट से दूसरी उड़ान रविवार तड़के दिल्ली हवाई अड्डे पर उतरी। इसके पहले, मुंबई की पहली उड़ान पहुंचने के बाद दो और उड़ानें- बुखारेस्ट से एआई1942 और बुडापेस्ट से एआई1940 रविवार सुबह दिल्ली पहुंची।

सूचना है कि यूक्रेन में भारतीय अधिकारियों को अपने लोगों को पड़ोसी देशों में ले जाने में कई जटिलताओं का सामना करना पड़ रहा है। यूक्रेन में फिलहाल करीब 16,000 भारतीय फंसे हुए हैं।