मिर्च की फसल में इस मौसम में रोग का सबसे ज्यादा खतरा

लखनऊ । इस वर्ष कई क्षेत्रों में बारिश व जल जमाव के कारण मिर्च की फसल खराब हो गई है। लेकिन, जो फसल बची है, वह अब फूल व फल की स्थिति में आ गयी है। बहुतेरे मिर्च अब तेजी से वृद्धि कर रहे हैं लेकिन विशेषज्ञों की मानें तो इसी समय मिर्च की फसल …

मिर्च की फसल में इस मौसम में रोग का सबसे ज्यादा खतरा Read More »

October 18, 2020 3:31 pm

लखनऊ । इस वर्ष कई क्षेत्रों में बारिश व जल जमाव के कारण मिर्च की फसल खराब हो गई है। लेकिन, जो फसल बची है, वह अब फूल व फल की स्थिति में आ गयी है। बहुतेरे मिर्च अब तेजी से वृद्धि कर रहे हैं लेकिन विशेषज्ञों की मानें तो इसी समय मिर्च की फसल पर किसानों को विशेष ध्यान देने की जरूरत है। इसका कारण है कीटों का प्रकोप इसी समय ज्यादा बढ़ जाता है। इसी समय कुष्ठ रोग भी मिर्च में लगता है, जिससे मिर्च की पुरी फसल बर्बाद हो जाती है। मिर्च की फसल में प्रमुख रूप से नीम का अर्क या बीज काफी फायदेमंद होता है।


इस संबंध में गोण्डा मंडल के उद्यान निरीक्षक अनीस श्रीवास्तव ने बताया कि मिर्च में पौधे की वृद्धि के लिए हार्मोंस का प्रयोग करना चाहिए। मिर्च की फसल में पुष्प आने के समय प्लैनोफिक्स 10 पीपीएम देना चाहिए। उसके तीन सप्ताह बाद हार्मोन का छिड़काव करने से शाखाओं की संख्या में वृद्धि होती है। इसके साथ ही फल भी अधिक लगते हैं। पौधों में रोपाई के 18 से 43 दिन बाद ट्राई केटेनाल अथवा इस तरह की दवाइयां एक पीपीएम की ड्रेंचिंग करने से भी पौधों में अच्छी वृद्धि होती है। किसानों को जिब्रेलिक एसिड 10-100 पीपीएम सांद्रता को घोल के फल लगने के बाद छिड़काव करने से फल ज्यादा लगते हैं।


रोग और उपचार

मिर्च का पौधा जब छोटा होता है तो उसमें थ्रिप्स नामक रोग लगता है। इसे वैज्ञानिक भाषा में सिटरोथ्रिट्स डोरसेलिस हुड कहते हैं। छोटी अवस्था में ही कीट पौधों की पत्तियों एवं अन्य मुलायम भागों से रस चूसते हैं, जिसके कारण पत्तियां ऊपर की ओर मुडकर नाव के समान हो जाती हैं। इसके लिए किसानों को बुआई के पूर्व थायोमिथम्जाम पांच ग्राम प्रति किलो बीज दर से बीजोचार करें। नीम बीज अर्क का चार प्रतिशत का छिड़काव करें। रासायनिक नियंत्रण के अंतर्गत फिप्रोनिल पांच प्रतिशत एससी 1.5 मिली एक लीटर पानी में मिलाकर छिड़काव करें। एसिटामिप्रिड दो ग्राम एक लीटर या इमिडक्लोप्रिड .3 ग्राम का छिड़काव करना चाहिए।


सफेद मक्खी और उपचार

इस संबंध में प्रगतिशील किसान और मिर्च की वृहद मात्रा में खेती करने वाले गाजीपुर के दीवाकर राय इस कीट का वैज्ञानिक नाम बेमिसिया तवेकाई है, जिसके शिशु एवं वयस्क पत्तियों की निचली सतह पर चिपक कर रस चूसते हैं, जिसकी पत्तियां नीचे तरफ मुड़ जाती हैं। इस रोग में कीट की सतत निगरानी कर संख्या के आधार पर डाईमिथएट की दो मिली का छिड़काव करना उपयुक्त होता है।

माइट रोग 

 यह बहुत ही छोटे की होते हैं, जो पत्तियों की सतह से रस चूसते हैं, जिसमें पत्तियां नीचे की ओर मुड जाती हैं। इस रोग में नीम निबोली के सत का चार प्रतिशत का छिड़काव करे। इसमें डायोकाफाल या ओमाइट का छिड़काव भी फायदेमंद होता है।

डेम्पिंग ऑफ आर्द्रगलन 

इस रोग का कारण पीथियम एफिजडरमेटम, फाइटोफ्थेरा स्पी फफूंद है, जिसमें नर्सरी में पौधा भूमि की सतह के पास से गलकर गिर जाता है। इस रोग से बचाव के लिए कार्बेन्डाजिम एक ग्राम दवा एक किलो बीज से उपचारित करें।


ये रोग भी लगते हैं मिर्च में

इसके अलावा एन्थेरक्लोज, जीवाणु जम्लानी, पर्ण कुंचन रोग भी प्रमुख रूप से लगते हैं। किसानों को इसके लिए क्रमश: लाइटक्स, कापर आक्साइड का छिड़काव करना चाहिए।

Prev Post

हरियाणा पुलिस बनी मसीहा, दिल्ली के निराश परिजनों की जिंदगी में किया उजाला

Next Post

रामदेवरा आ रहे पैदल श्रद्धालुओं को बोलेरो ने टक्कर मारी, तीन यात्री घायल

Related Post

Latest News

कोतवाली पुलिस कहिन रिपोर्ट दर्ज होने के बाद बता दिया जाएगा, बुजुर्ग महिला से लूट का प्रयास विफल ,लोगों ने युवक को पकड़ा ,VIDEO
कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष खड़गे या सिंह,तस्वीर 8 को होगी साफ,G-23 नेता मिले गहलोत से, रौचक होगा चुनाव 
राजस्थान में आलाकमान की धमकी बेअसर, गहलोत गुट के नेता ने फिर..

Trending News

कांग्रेस के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे खड़गे,8 अक्टूबर को हो सकती घोषणा
राजस्थान के मंत्रियो व कांग्रेस विधायको को चेतावनी
NPS कार्मिक 01 अप्रैल 2022 के पश्चात NPS आहरण की राशि को पुनः 31 दिसंबर 2022 तक एकमुश्त अथवा अधिकतम 4 किस्तों में जमा करानी होगी
चिरंजीवी योजना में सहायता के लिए फोन 01482-232643 पर करे घंटी 2 घंटे में समाधान

Top News

कोतवाली पुलिस कहिन रिपोर्ट दर्ज होने के बाद बता दिया जाएगा, बुजुर्ग महिला से लूट का प्रयास विफल ,लोगों ने युवक को पकड़ा ,VIDEO
कांग्रेस के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे खड़गे,8 अक्टूबर को हो सकती घोषणा
भीलवाड़ा शहर में 2 साल बाद 5 अक्टूबर को निकलेगा विशाल पथ संचलन
राजस्थान शिक्षा विभाग- राजस्थान में सरकारी स्कूलों का समय परिवर्तन 15 से बदलेगा
सफाई कर्मचारी भर्ती मामला - अलवर नगर परिषद व सरकार को हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना पर नोटिस
कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष खड़गे या सिंह,तस्वीर 8 को होगी साफ,G-23 नेता मिले गहलोत से, रौचक होगा चुनाव 
राजस्थान में आलाकमान की धमकी बेअसर, गहलोत गुट के नेता ने फिर..
गहलोत को CM हटाते ही राजस्थान में कांग्रेस खंड-खंड बिखर ...
राजस्थान के मंत्रियो व कांग्रेस विधायको को चेतावनी
पुलिस पर प्रताड़ना का आरोप, परिवादी को ही कर रही है परेशान