Books in library against Hinduism in law college, objectionable comments on Hindu girl students
देश मध्य प्रदेश

लाॅ कालेज में हिन्दू धर्म के खिलाफ लाइब्रेरीमें किताबें, हिन्दू छात्राओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी

भोपाल/ कानून के विद्यार्थियों को तैयार करने वाला केंद्र अर्थात लॉ कॉलेज में विद्यार्थियों को पढ़ाई जाने वाली किताबों में एक मुस्लिम लेखिका की किताब में हिंदू देवी देवताओं के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणियों और उल्लेख की भी किताबें कॉलेज की लाइब्रेरी में रखी गई है।

इसके साथ ही कॉलेज में पढ़ने वाली हिंदू लड़कियों को भी टारगेट किया जाने का मामला सामने आने के बाद गृहमंत्री ने जांच और एफ आई आर दर्ज करने के आदेश दे दिए गए हैं इस मामले में बवाल होने पर कॉलेज के प्राचार्य ने पांच प्रोफ़ेसर को अवकाश पर भेज दिया है।

घटना मध्यप्रदेश के इंदौर शहर की है जहां राजकीय नवीन विधि महाविद्यालय अर्थात लो कॉलेज में एक किताब में हिंदू आतंकवादी हैं और राष्ट्रीय सेवक संघ को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी पर बवाल शुरू हो गया लॉ कॉलेज के विद्यार्थियों का कहना है कि किताब की कई प्रतियां लाइब्रेरी में विद्यार्थियों के लिए पढ़ने हेतु रख पाई गई है।

किताब की लेखिका डॉ फरहत खान पर भी छात्र संगठनों ने मुकदमा दर्ज करने की मांग की है इस संबंध में लॉ कॉलेज के विद्यार्थियों ने भंवरकुआं थाने में एक रिपोर्ट दी है इसमें किताब के लेखक लॉ कॉलेज के प्राचार्य और एक शिक्षक पर केस दर्ज करने की मांग की है छात्रों द्वारा दिए गए आवेदन के साथ किताब की प्रति भी जमा कराई गई है।

किताब में क्या लिखा है उसके कुछ सारांश अंश

पाकिस्तान बांग्लादेश अफगानिस्तान वर्मा में सांप्रदायिकता का संघर्ष नहीं है शासन तो वहां भी सैकड़ों वर्ष अंग्रेजों का रहा था और अमेरिका का हस्तक्षेप आज भी इनकी सत्ता पर रहता है आज सारे हिंदू संगठन एक स्वर में मुसलमानों के कश्मीर में धारा 370 लगाकर विशेष सुविधाएं देने का विरोध यह कहकर करते हैं कि कश्मीर में उग्रवाद धारा 370 के कारण ही पनप रहा है।

यदि इनसे पूछा जाएगी पंजाब में उग्रवाद क्यों है बिहार उत्तर प्रदेश असम में जहां हिंदू उग्रवाद है वहां भी धारा 370 नहीं लगी है । हिंदू कहते हैं कि समान नागरिक संहिता की बात कहकर हम मुसलमानों के कानून में सुधार करना चाहते हैं ।

जो नारी के विरुद्ध है यदि उनसे पूछा जाए कि आप अपने व्यक्तिगत कानून को और भी शास्त्रों के कानून को क्यों लागू करना चाहते हैं जो शुद्ध स्त्री और गैर हिंदुओं के विरुद्ध हैं पहले हिंदुओं को अपने सिविल कोर्ट में सुधार की बात करनी चाहिए

उपरोक्त संक्षिप्त विवरण में हमने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और उसके परिवार की संस्थाओं के क्रियाकलाप पर प्रकाश डाला हिंदुओं के जितने भी सामाजिक राजनीतिक और धार्मिक संगठन बने हैं उनका एकमात्र उद्देश्य देश के मुसलमानों का विनाश करना है और शूद्रों को दास बनाना है हिंदू पद पादशाही कायम करना है और हिंदू राजतंत्र का शासन वापस लाकर ब्राह्मणों को पृथ्वी का देवता बनाकर पूज्य बनाना है।

हिंदू संगठनों पर भी टिप्पणी क्या

डॉक्टर फरहत खान की किताब में विश्व हिंदू परिषद को लेकर लिखा है विश्व हिंदू परिषद जैसे संगठन हिंदू बहुमत का राज्य स्थापित करना चाहता है दूसरे समुदायों को शक्तिहीन बनाकर गुलाम बनाना चाहता है पंजाब में सिखों के खिलाफ शिवसेना जैसे त्रिशूलधारी नए संगठनों ने मोर्चा बना लिया है।

अपनी सांप्रदायिकता गतिविधियों को मंदिरों और अन्य धार्मिक स्थलों से संचालित करने लगे हैं शिवसेना राष्ट्र का नारा दे रही है जो पूरे सिख समाज के विरुद्ध हैं आप शिवसेना के नौजवान सिखों के घरों में डकैती व आगजनी की घटनाएं कर रहे हैं यहां तक कि निर्दोष सिखों की हत्या भी कर रहे हैं।

हिंदू शिवसेना के लोगों ने बैंक में डकैती डाली है पंजाब में जो कुछ हो रहा है पंजाबी और उर्दू अखबार ही सही लिखते हैं और हिंदी अखबार झूठ पंजाब का सच यह है कि मुख्य आतंकवादी हिंदू है और सिख प्रतिक्रिया में आतंकवादी बन रहा है।

कॉलेज की छात्राओं के अनुसार सभी विद्यार्थियों को यही पढ़ाई करनी है यदि किसी शिक्षक या विद्यार्थी को लेकर शिकायत की तो हो सकता है कि उन्हें कॉलेज प्रशासन की ओर से परेशान किया जाए आंतरिक मार्क्स तो कॉलेज के ही हाथ में रहते हैं इसलिए विद्यार्थी कुछ नहीं कहते वहीं कॉलेज में जो हिंदू शिक्षक हैं उन्हें भी अपनी नौकरी करनी है इसलिए वह भी आवाज नहीं उठाते।

उधर इस घटना को लेकर मचे बवाल के बाद सरकारी कॉलेज की लाइब्रेरी में यह किताबें किसकी अनुमति से रखवा की गई इस मामले को लेकर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने 24 घंटे में जांच कर एफ आई आर दर्ज कराने के निर्देश इंदौर कमिश्नर को दिए हैं।

उधर दूसरी और लॉ कॉलेज के प्राचार्य डॉ इनामुर्रहमान ने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की शिकायत और इस बवाल के बाद किताब की लेखिका सहित 6 प्रोफेसरों को 5 दिन के लिए छुट्टी पर भेज दिया है ।

इस संबंध में प्राचार्य के अनुसार जारी किया देश में लिखा है कि स्वतंत्र समिति की ओर से मामले की जांच की जानी है इसलिए शिक्षकों को कार्यमुक्त किया जाता है ताकि कालेज स्तर पर की जा रही जांच प्रभावित ना हो।

हिंदू लड़कियों का आरोप

कॉलेज की हिंदू छात्रों के अनुसार क्लास में मुस्लिम लड़के हिंदू लड़कियों को टारगेट करते हैं इसमें कुछ धर्म विशेष की लड़कियां भी साथ देती है वही हिंदू लड़की को उनके धर्म के लड़के से परिचय कराती है बाद में दोनों विद्यार्थियों के बीच फोन नंबर एक्सचेंज होते हैं बाहर से पढ़ने के लिए इंदौर आई हिंदू लड़कियां उनका सॉफ्ट टारगेट होती हैं।

इस किताब का नाम सामूहिक हिंसा एवं डांडिक न्याय पद्धति है इसकी लेखिका डॉ फरहत खान है और के प्रकाशक अमर लॉ पब्लिकेशन एमजी रोड इंदौर हैं।

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम