देश मध्य प्रदेश

डॉक्टरों को कमीशन बतौर बांटे 70 करोड,आयकर की रेड मे खुलासा, अब डॉक्टर भी IT के राडार पर

भोपाल/ चिकित्सा क्षेत्र में निजी हॉस्पिटल संचालक निजी मेडिकल से जुड़े ग्रुप तथा मेडिकल दवाइयां बनाने वाली कंपनियां अपनी दवाई की बिक्री बढ़ाने और रोगियों को अधिक से अधिक संख्या अपने हॉस्पिटल या संस्थान में लाने के लिए चिकित्सकों और नर्सिंग कर्मियों को रिश्वत के रूप में बतौर अच्छा खासा कमीशन दिया जाता है ।

यह सर्वविदित है लेकिन इसका खुलासा इंदौर में आयकर विभाग द्वारा बंसल ग्रुप पर की गई छापेमारी की कार्रवाई के दौरान जांच पड़ताल में खुलासा हुआ जिसमें ₹700000000 चिकित्सकों को बतौर कमीशन के रूप में बांटे गए ।

जिन चिकित्सकों को कमीशन बांटा गया है अब डॉक्टर भी आयकर विभाग के राडार पर आ गए हैं आयकर विभाग ने इस ग्रुप के यहां छापेमारी के दौरान 100 करोड़ से अधिक लंदन का खुलासा हुआ है और करोड़ों रुपए की आयकर चोरी सामने आने की संभावना है विभाग जांच पड़ताल में जुटा हुआ है।

आयकर विभाग ने मध्य प्रदेश के बंसल समूह पर इंदौर भोपाल मंडीदीप सहित करीब 25 से अधिक ठिकानों पर 2 दिन पूर्व एक साथ छापा डाला था आयकर विभाग की टीमों ने छापा डालने के लिए भी एक सुनीति की योजना बनाई ।

जिसमें इंदौर की गाड़ियों का इस्तेमाल किया गया और रिंग सेरेमनी के स्टीकर लगा रखे थे टीम द्वारा की जारी जांच पड़ताल में अब तक 100 करोड़ से अधिक की नकदी का लेनदेन का खुलासा हुआ है जिसमें ₹350000000 से अधिक नकद राशि रियल स्टेट प्रोजेक्ट में एडवांस बुकिंग ग्रुप में हासिल की गई है तथा करीब 70 करोड़ से अधिक की राशि चिकित्सकों को कमीशन के रूप में बांटना सामने आया है ।

छापे के दौरान चिकित्सकों के नाम लिखे नकद राशि के कई लिफाफे टीम ने जब तभी किए हैं छापे के दौरान अब तक 10 किलो ज्वेलरी और 2 करोड रुपए से अधिक की नकदी जब तक की गई है बताया जाता है कि चिकित्सकों को यह कमीशन बंसल अस्पताल में मरीजों को भेजे जाने की एवज में दिया गया था।

बंसल समूह के अनिल बंसल और सुनील बंसल के आवास और कार्यालयों सहित सभी ठिकानों पर कार्यवाही जारी है विदित है कि बंसल समूह कुछ समय पहले ही भोपाल के हबीबगंज स्टेशन का नाम बदलकर आप रानी कमलापति रेलवे स्टेशन कर दिया गया है के विकास और नव निर्माण का काम नहीं लिया था ।

संभालने हाल ही में आए सुमन अस्पताल को भी खरीदा और टीवी चैनल टीवी चैनल का भी संचालन बंसल समूह द्वारा किया जा रहा है बंसल समूह मेडिकल एजुकेशन रियल स्टेट सहित अन्य समूह और कारोबार में सक्रिय है।है।

आयकर सूत्रों का कहना है कि सरिया, स्टील की बोगस खरीदी भी उजागर हुई है। इसी में 80 करोड़ रुपए से अधिक का फर्जीवाड़ा पता चला है। आयकर विभाग के लगभग 60 अधिकारी और 150 पुलिसकर्मी छापे की कार्रवाई में जुटे हैं और अभी भी कई ठिकानों पर जांच-पड़ताल चल रही है।

बैंकों के लॉकरों को भी सील कर दिया है और उन्हें भी अब एक-एक कर खोला जाएगा। 10 किलो से अधिक ज्वेलरी और डेढ़ से दो करोड़ की नकदी के अलावा यह भी पता चला कि कई चिकित्सकों को कमीशन के रूप में भी नकदी बांटी जाती थी। एक कर्मचारी की कार से ही ऐसे डेढ़ सौ लिफाफे भी जब्त किए गए।

जिनमें चिकित्सकों के नाम लिखे हैं और इनमें लगभग 15 लाख की नकद राशि रखी गई। अभी तक 100 करोड़ रुपए से अधिक का नकदी लेन-देन समूह के ठिकानों पर पड़े छापों में उजागर हो गया है।

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम