जंगल से भारी मात्रा में एक्सपायर्ड लीवर सप्लीमेंट और टैबलेट बरामद

मुंबई। पालघर के करीब वाघोबा घाट के जंगल में बड़ी मात्रा में एक्सपायर्ड लीवर सप्लीमेंट और टैबलेट बरामद हुए। डंपिंग के चलते बंदर समेत जंगली जानवर बोतलें खोलकर एक ही घूंट में सामान खाली कर गोलियां लेकर भागते दिखे। इस प्रकार पशुओं के बीच खाद्य विषाक्तता और संबद्ध प्रतिक्रियाओं की संभावना उत्पन्न होती है। मनोर …

जंगल से भारी मात्रा में एक्सपायर्ड लीवर सप्लीमेंट और टैबलेट बरामद Read More »

July 9, 2021 11:47 am

मुंबई। पालघर के करीब वाघोबा घाट के जंगल में बड़ी मात्रा में एक्सपायर्ड लीवर सप्लीमेंट और टैबलेट बरामद हुए। डंपिंग के चलते बंदर समेत जंगली जानवर बोतलें खोलकर एक ही घूंट में सामान खाली कर गोलियां लेकर भागते दिखे। इस प्रकार पशुओं के बीच खाद्य विषाक्तता और संबद्ध प्रतिक्रियाओं की संभावना उत्पन्न होती है।

मनोर के एक मोटर चालक आरिफ पटेल ने पालघर शहर आते समय डंप की हुई दवाओं को देखा और उन्होंने इस प्रकरण को फिल्माया और वायरल कर दिया। पटेल ने कहा कि मैंने कई बंदरों को दवाओं और गोलियों के साथ दौड़ते हुए देखा और कुछ शाम को बोतलें खोलकर तरल का सेवन किया।

पटेल ने यह भी कहा कि दवाएं दिल्ली के एक फार्मा द्वारा निर्मित की जाती हैं और ऐसा लगता है कि दवा के स्टॉकिस्ट या वितरकों ने जिगर की खुराक से भरे डिब्बों को जंगल में फेंक दिया होगा क्योंकि दवाएं समाप्त हो चुकी थीं और नुस्खे के लिए उपयुक्त नहीं थीं।

उन्होंने इस संबंध में वन विभाग के साथ-साथ खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) ठाणे से शिकायत की।

इस बीच, मनीष चौधरी, निरीक्षक, एफडीए, ठाणे और उनकी टीम मौके पर पहुंची और प्रयोगशाला परीक्षण के लिए दवाओं के नमूने एकत्र किए, जबकि पंकज पवार, रेंज वन अधिकारी, पालघर और टीम ने दवाओं का मलबा साफ किया और उन्हें सौंप दिया जाएगा।

पालघर नगर परिषद निकाय का बायो मेडिकल वेस्ट विभाग(Department of Bio Medical Waste) निस्तारण के लिए भेज दिया। पवार ने कहा कि मेरी टीम ऐसी और दवाएं इकट्ठा करने के लिए जंगल में जा रही है

ताकि जंगली जानवर (wild animals) उनका सेवन न करें क्योंकि दवाएं खत्म होने के बाद से वे ओवरडोज से मर सकते हैं और कोई भी जानवर इसका सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि यह अत्यधिक जहरीला होता है। कहा कि हम उन जानवरों के शवों की भी तलाश कर रहे हैं जिनकी मौत ओवरडोज के कारण हुई हो।

एफडीए की रिपोर्ट आने के बाद हम दिल्ली की कंपनी के साथ-साथ उसके पालघर के वितरकों और स्टॉकिस्टों के खिलाफ वन अधिनियम के नियमों का उल्लंघन करने के लिए शिकायत दर्ज करेंगे क्योंकि ऐसा नहीं होना चाहिए।

वाघोबा घाट अपने बंदरों के लिए प्रसिद्ध है और अक्सर तेंदुओं को पाइपलाइनों से पानी पीते हुए देखा जाता है और आदिवासियों ने घाट में जंगली जानवरों के

सम्मान में एक मंदिर भी बनाया था और कभी-कभी तेंदुए भी देर रात मंदिर परिसर में आराम करते देखे जाते हैं। और मोटर चालकों ने भी ऐसे तेंदुए के देखे जाने की पुष्टि की है।

Prev Post

शिक्षा विभाग :  बडा फेरबदल,प्रधानाध्यापकों के पद समाप्त, सैकेंडरी स्कूलों की कमान अब प्रिंसिपल को

Next Post

शेयर बाजार में गिरावट का रुख, सेंसेक्स और निफ्टी लाल निशान में खुले

Related Post

Latest News

टोंक के बनेठा थाने का एसआई 10 हज़ार की रिश्वत लेते गिरफ्तार, एक प्रकरण में कार्रवाई नही करने की एवज में मांग रहा था घूस
Rural Olympic Games - Innovative brilliant initiative of Bhilwara Collector Modi
राजस्थान में PFI पर शिकंजा कसने के कलेक्टर व एस पी को दिए अधिकार, पदाधिकारी भूमिगत

Trending News

प्रिंसिपल डाॅ. खटीक पुनः बने जिलाध्यक्ष 
केंद्र सरकार ने कर्मचारियों को दीपावली का तोहफा बढ़ाया DA, राजस्थान मे भी अब..
राजस्थान में 4 बच्चों की डूबने से मौत
Ban on 8 affiliated organizations including PFI in the country, know

Top News

टोंक के बनेठा थाने का एसआई 10 हज़ार की रिश्वत लेते गिरफ्तार, एक प्रकरण में कार्रवाई नही करने की एवज में मांग रहा था घूस
REET - 2022 का परीक्षा परिणाम घोषित 
राजस्थान में रहेगा गहलोत का ही राज, सचिन.. 
Rural Olympic Games - Innovative brilliant initiative of Bhilwara Collector Modi
राजस्थान में PFI पर शिकंजा कसने के कलेक्टर व एस पी को दिए अधिकार, पदाधिकारी भूमिगत
गहलोत नही लडेंगे चुनाव, सिंह कल भरेंगे नामांकन,राजस्थान पर फैसला आज
गहलोत नही लडेंगे चुनाव, सिंह कल भरेंगे नामांकन,राजस्थान पर फैसला आज
प्रिंसिपल डाॅ. खटीक पुनः बने जिलाध्यक्ष 
गहलोत कल मिलेंगे सोनिया से,राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए कल नहीं भरे जाऐंगे नामांकन, क्यों
देश को 9 माह बाद मिला नया CDS