arrested
देश

जयपुर सीरियल ब्लास्ट षडयंत्र – आतंकी सगंठन सूफा की 10 साल पहले हुई, संगठन के 50 जने हिरासत में,मकान तोडने की .

रतलाम/ राजस्थान की राजधानी जयपुर सीरियल बम ब्लास्ट कर दहलाने देने की साजिश रखने वाले आतंकी सगंठन सूफा की शुरुआत मध्यप्रदेश के रतलाम से 10 साल पहले पांच युवकों ने मिलकर की थी और अब यह बड़ा दल बन गया है राजस्थान पुलिस द्वारा इस संगठन इस साजिश को नाकाम कर संगठन के सरगना सहित अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद राजस्थान और मध्य प्रदेश की पुलिस ने धरपकड़ करते हुए इस आतंकी संगठन के 50 सदस्यों को हिरासत में ले लिया है और इसी के साथ ही रतलाम पुलिस ने इस संगठन से जुड़े सरगना ओ की संपत्तियों अर्थात मकान को धराशाई अर्थात ध्वस्त करने की कार्रवाई शुरू कर दी है ।

राजस्थान पुलिस व एटीएस और एसओजी द्वारा राजस्थान मध्य प्रदेश की सीमा ने निंबाहेड़ा से मध्य प्रदेश नबंर एक कार तीन संदिग्ध युवकों की गिरफ्तारी और आरोपियों के कब्जे से विस्फोटक पदार्थ आरडीएक्स बरामद होने तथा इस विस्फोटक सामग्री से राजस्थान की राजधानी जयपुर में सीरियल बम ब्लास्ट कर दहलाने की साजिश और पकड़े गए युवकों का आतंकी संगठन सूफा से ताल्लुक होने का खुलासा होने के बाद आरोपियों एमपी के रतलाम के होने के चलते यहां भी रतलाम पुलिस लगातार दबिश दी जा रही है। इस तरह पता चला कि पुलिस ने सुफा संगठन के सरगना सहित 50 से अधिक लोगो को हिरासत में लिया है। इससे सुफा संगठन से जुड़े लोगों की गतिविधियों का खुलासा हुआ है।

कैसे बना सुफा संगठन

बताया जाता है कि सुफा संगठन की शुरुवात रतलाम में वर्ष 2012 में हुई थी। शुरुआत में 40 – 45 युवकों ने मिलकर सुफा को शुरू किया था लेकिन बाद में इनसे रतलाम के करीब 70 युवा जुड़ गए। संगठन की शुरुआत हिरासत में लिए गए असजद और राजस्थान में गिरफ्तार हुए जुबेर ने की थी। इनका उद्देश्य इस्लाम धर्म का प्रचार प्रसार कर मुस्लिम समाज में मौजूद लोगो को जोड़े रखना था लेकिन बाद में ये युवाओं को धर्म के प्रति बहकाने का काम करने लगे।

NIA ने पहले भी की थी कार्यवाही क्या

सुफा संगठन में जुड़े मुख्य लोग हत्या जैसे संगीन मामले के आरोपी है। इनके सदस्यो पर देशद्रोह के मामले भी दर्ज है। पूर्व में वर्ष 2015 में रतलाम में सुफा पर कार्यवाही करने के लिए एनआईए दबिश देकर सरगना असजद सहित 6 लोगो को हिरासत में भी ले चुकी है। जिनसे आपत्तिजनक धार्मिक साहित्य और देश विरोधी गतिविधियों से जुड़े कागजात मिले थे। यह संगठन स्लीपर सेल की तरह काम करता है।

बताया जा रहा है की, सुफा संगठन के तीन आरोपी राजस्थान एटीएस की गिरफ्त में होने के बाद रतलाम पुलिस और एमपी एटीएस लगातार इनसे जुड़े लोगो के यहां दबिश दे रही है। रतलाम एसपी के अनुसार पुलिस अब तक संगठन के सरगना असजद शेरानी सहित 50 से अधिक को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। पुलिस ने असजद से घर दबिश देकर उसका कंप्यूटर भी जब्त किया है। पुलिस की दबिश के बाद आरोपी सैफुल्ला और संगठन से जुड़े आमीन फावड़ा का परिवार फरार हो गया है। हालांकि पुलिस ने आज इनके मकानों को तोड़ने की कार्यवाही भी शुरू कर दी है।

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम