महिला आयोग अध्यक्ष स्वाति मालीवाल को कार से घसीटा , दिल्ली में महिलाए नही सुरक्षित

Women Commission President Swati Maliwal dragged by car, women are not safe in Delhi

नई दिल्ली/ देश की राजधानी दिल्ली में महिलाएं कितनी सुरक्षित है इसका वास्तविक आकलन करने के लिए महिला आयोग की अध्यक्ष जब मध्यरात्रि को दिल्ली की सड़कों पर निकली तो दिल्ली में महिलाओं की वास्तविक स्थिति क्या है ।

यह सब जगजाहिर हो गई जब एक कार चालक ने महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल से छेड़छाड़ ही नहीं कि विवरण उन्हें कार से 15 मीटर तक घसीटा भी गया।

दिल्ली महिला आयोग के प्रमुख स्वाति मालीवाल दिल्ली में महिलाओं की स्थिति और सड़कों की वास्तविकता का निरीक्षण करने के लिए बुधवार की रात को निकली थी तब नशे में धुत एक कार चालक उनके पास आया और अपनी कार में स्वाति को बैठने की जिद करने लगा।

जब स्वाति ने कार में बैठने से मना कर दिया तो तो बेकार लेकर आगे चला गया लेकिन 10 मिनट बाद ही कार को यूट्रल लेकर वापस आ गया और उनके समीप कार से धीरे-धीरे चलने लगा तथा स्वाति के साथ साथ छेड़छाड़ करने लगा गंदे इशारे करने लगा। 

जब कार चालक की इन हरकतों को देखते हुए स्वाति ने उसे पकड़ने के लिए आगे बढ़ी और कोशिश की तो कार चालक ने गाड़ी की कार की फाटक का शीशा बंद कर दिया।

शीशा बंद करने के दौरान ही महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल का हाथ शीशे के अंदर फस गया और कार चालक रुकने के बजाय 15 मीटर तक स्वाति मालीवाल को घसीटा ले गया।

इस पर स्वाति मालीवाल ने जोर से चिल्लाई और के साथ जो टीम साथ में चल रही थी वह कुछ ही दूरी पर खड़ी थी उनमें से टीम के सदस्य दौड़े और उन चिल्लाए तो उसकी आवाज सुनकर कार चालक शीशा नीचा करके जैसे ही स्वती मालीवाल का कार हाथ से निकला और वह फरार हो गया।

इस घटनाक्रम पर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा कि अगर वह मुझे नहीं छोड़ता मेरी टीम के सदस्य नहीं आते तो अंजलि ऐसी घटना मेरे साथ घटित होती दिल्ली में कानून अर्थात लॉयन ऑर्डर की स्थिति यह है ।

अगर महिला आयोग की अध्यक्ष दिल्ली में सुरक्षित नहीं है तो फिर आम जनता अन्य महिला युवतियां कैसे सुरक्षित हो सकती है उधर दूसरी ओर पुलिस ने इस घटना के आरोपी की पहचान हरिश्चंद्र के रूप में करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया है।