राज्यसभा चुनाव रण, राजस्थान के बाद अब हरियाणा मे भी कांग्रेस में सकंट के बाद, माकन की बढ़ी टेंशन

राजस्थान के बाद हरियाणा मे भी कार्तिकेय शर्मा ने भी भाजपा की सहयोगी पार्टी जननायक जनता पार्टी(,जजपा) के समर्थन से निर्दलीय चुनाव मैदान मे डटे रहने से कांग्रेस के महासचिव और राजस्थान के प्रभारी अजय माकन जो हरियाणा राज्यसभा सीट से कांग्रेस के प्रत्याशी है की टेंशन बढा दी है

June 6, 2022 4:12 pm
राज्यसभा चुनाव रण, राजस्थान के बाद अब हरियाणा मे भी कांग्रेस में सकंट के बाद, माकन की बढ़ी टेंशन

नई दिल्ली/ राज्यसभा चुनावो को लेकर राजस्थान की 4 सीटो को लेकर घमासान मचा हुआ है और निर्दलीय प्रत्याशी के रूप मे भाजपा और आरएलपी के समर्थन से चुनाव मैदान मे कूदे सुभाष चंद्रा ने कांग्रेस और सीएम गहलोत को टेंशन मे डाल रखा है । राजस्थान के बाद हरियाणा मे भी कार्तिकेय शर्मा ने भी भाजपा की सहयोगी पार्टी जननायक जनता पार्टी(,जजपा) के समर्थन से निर्दलीय चुनाव मैदान मे डटे रहने से कांग्रेस के महासचिव और राजस्थान के प्रभारी अजय माकन जो हरियाणा राज्यसभा सीट से कांग्रेस के प्रत्याशी है की टेंशन बढा दी है । यहां भी कांग्रेस ने अपने 31 विधायको की बाडेबंदी की लेकिन 4 विधायक बाडेबंदी से दूर है । बताया जाता है की यहां भी कांग्रेस के 5 से 6 विधायक पार्टी व पार्टी नेताओं से बेहद नाराज है ।

हरियाणा में राज्यसभा की दो सीटों के लिए 10 जून को वोटिंग है। कांग्रेस इस चुनाव में अपनी पूरी ताकत झोंक चुकी है। इन दो सीटों के लिए देश के तीन राज्यों (हरियाणा, दिल्ली और छत्तीसगढ़) में हलचल मची है। क्रॉस वोटिंग और खरीद-फरोख्त की आशंका के मद्देनजर कांग्रेस अपने विधायकों को एकजुट करने में जुटी है। जीत के जादुई आंकड़े को सुनिश्चित करने का कार्यभार राज्यसभा सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा को दिया गया है।

कांग्रेस ने पार्टी के कद्दावर नेता अजय माकन को उम्मीदवार बनाया है। भाजपा ने अपने पूर्व परिवहन मंत्री और पांच बार के विधायक कृष्ण पंवार को मैदान में उतारा है। इसके अलावा कार्तिकेय शर्मा भी मैदान में है। कार्तिकेय भूपेंद्र सिंह हुड्डा के पुराने दोस्त और पूर्व केंद्रीय मंत्री विनोद शर्मा के बेटे हैं। इनका अपना कोई राजनीतिक इतिहास नहीं है लेकिन कार्तिकेय को भाजपा की सहयोगी जननायक जनता पार्टी (JJP) का समर्थन हासिल है। हुड्डा और माकन पार्टी के अलग-अलग खेमे से ताल्लुक रखते हैं।

ऐसे में आशंका है कि हुडा और माकन में खेमेबाजी से कांग्रेस को नुकसान हो सकता है। ओमप्रकाश चौटाला के नए दांव के बाद से इस आशंका पर अधिक चर्चा होने लगी है। दरअसल, चौटाला की जेजेपी के पास 10 विधायक हैं। इनेलो-हलोपा के एक-एक और सात निर्दलीय विधायक हैं। चौटला अपना कोई उम्मीदवार जिता नहीं सकते, इसलिए उन्होंने कार्तिकेय को समर्थन कर दिया है। कार्तिकेय ने एक कदम बढ़ते हुए निर्दलीय विधायकों से समर्थन हासिल होने का दावा कर दिया है। अगर ये दावे जमीन पर हकीकत साबित हो जाए तब भी 14 और वोटों की जरूरत पड़ेगी। ऐसे में कांग्रेस को डर सता रहा है कि कहीं कार्तिकेय उसके विधायक को अपने पाले में न कर लें। इस परिस्थिति में कांग्रेस को नुकसान पहुंचाने की मंशा से भाजपा भी कार्तिकेय की मदद कर सकती है।

बाडेबंदी से दूर 4 विधायक ,पुलिस पहरा ,खुफिया जासूसी

इन्हीं आशंकाओं के बीच दिल्ली में दीपेंद्र के आवास पर कांग्रेस विधायकों को एकत्र किया गया था। रात से पहले कांग्रेस के 31 विधायकों में से 4 को छोड़कर सभी चार्टर्ड फ्लाइट से रायपुर पहुंचा दिए गए तो शाम विधायक किरण चौधरी बीमारी का हवाला देते हुए नहीं गईं। चिरंजीव राव जन्मदिन समारोह का हवाला देते हुए नहीं गए। सधौरा की पहली महिला विधायक रेणु बाला व्यक्तिगत कारणों का हवाला देकर नहीं गईं। आदमपुर विधायक कुलदीप बिश्नोई हरियाणा कांग्रेस का अध्यक्ष नहीं बनाए जाने से खासे नाराज़ चल रहे हैं, इसलिए उनका पहुंचना भी अभी नहीं हो पाया है। साथ ही हुड्डा का अभी खुद पहुंचना भी बाकी है। पांच सितारा रिसॉर्ट में रखे गए विधायक खुफिया अधिकारियों समेत छत्तीसगढ़ पुलिस की निगरानी में हैं।

कांग्रेस मे अगर क्राॅस वोटिंग हुई तो..

हालांकि हुड्डा ने विश्वास जताया कि क्रॉस वोटिंग नहीं होगी। उन्होंने कहा, अगर कोई विधायक पार्टी में रहना चाहता है तो आलाकमान के निर्णय का पालन करना होगा। फिर भी नंबर गेम को देखने पर खेल अभी भी उलझा मालूम पड़ रहा है। 90 सदस्यीय हरियाणा विधानसभा में भाजपा के 40, कांग्रेस के 31, जजपा के 10, इनेलो और हरियाणा लोकहित पार्टी के एक-एक और सात निर्दलीय विधायक हैं। एक उम्मीदवार को जीतने के लिए 31 मतों की आवश्यकता होती है। भाजपा आसानी से जीत की गारंटी दे सकती है लेकिन कांग्रेस अपनी संख्या के बारे में अनिश्चित है क्योंकि बिश्नोई नाराज हैं और अन्य कई विधायक भी रायपुर नहीं पहुंचे हैं। वही अगर कांग्रेस से दो विधायक भी मतदान मे क्राॅस वोटिंग कर गय तो कांग्रेस का खेल बिगड सकता है ?

 राहुल गांधी से मुलाकात के बाद ही तय…

बिश्नोई को मनाने का प्रयास जारी है। बिश्नोई ने कहा, ”मैं पहले ही कह चुका हूं कि जब तक राहुल गांधी मुझसे नहीं मिलेंगे, मैं और मेरे समर्थक पार्टी के किसी कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे। राहुल गांधी से मुलाकात के बाद भी मैं तय करूंगा कि मुझे कौन सा कदम उठाना है।”

Prev Post

शिक्षा विभाग - DPC की कवायद शुरू, इनकी नही होगी पदोन्नति

Next Post

लढा पांचवी बार उत्तर पश्चिम रेलवे के सदस्य बने

Related Post

Latest News

Tonk: आवारा श्वान ने 7 लोगों को काटा, अस्पताल गए तो वहां भी नही हुई सार संभाल ,VIDEO 
IAS अतहर और डाॅ. महरीन आज बंधे शादी के बंधन में ,VIDEO
राजस्थान के सरकारी स्कूलों में मूल निवास प्रमाण पत्र बनवाने की जिम्मेदारी संस्था प्रधान की

Trending News

कांग्रेस के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे खड़गे,8 अक्टूबर को हो सकती घोषणा
राजस्थान के मंत्रियो व कांग्रेस विधायको को चेतावनी
NPS कार्मिक 01 अप्रैल 2022 के पश्चात NPS आहरण की राशि को पुनः 31 दिसंबर 2022 तक एकमुश्त अथवा अधिकतम 4 किस्तों में जमा करानी होगी
चिरंजीवी योजना में सहायता के लिए फोन 01482-232643 पर करे घंटी 2 घंटे में समाधान

Top News

Tonk: आवारा श्वान ने 7 लोगों को काटा, अस्पताल गए तो वहां भी नही हुई सार संभाल ,VIDEO 
IAS अतहर और डाॅ. महरीन आज बंधे शादी के बंधन में ,VIDEO
राजस्थान के सरकारी स्कूलों में मूल निवास प्रमाण पत्र बनवाने की जिम्मेदारी संस्था प्रधान की
पूर्व मंत्री और NCP नेता भुजबल का दुबई कनेक्शन का आरोप, FIR दर्ज
नामदेव छीपा समाज के त्रिदिवसीय गरबा महोत्सव झंकार का समापन, महिला मण्डल की कार्यकारिणी का शपथ ग्रहण
माफी तो मांगी,लेकिन वायरल पन्ना बता रहा है कि सचिन पायलट और प्रभारी अजय माकन निशाने पर थे
PFI का सपोर्ट करने पर पाक सरकार का ट्विटर अकाउंट पर प्रतिबंध
कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव के बाद अब सलमान खान के डुप्लीकेट संजय की जिम में एक्सरसाइज के दौरान मौत
कोतवाली पुलिस कहिन रिपोर्ट दर्ज होने के बाद बता दिया जाएगा, बुजुर्ग महिला से लूट का प्रयास विफल ,लोगों ने युवक को पकड़ा ,VIDEO
कांग्रेस के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे खड़गे,8 अक्टूबर को हो सकती घोषणा