राहुल गांधी ने  गुलाम नबी आजाद से मांगी माफी, दिग्विजयसिंह के बयान से में सहमत नहीं- राहुल

नई दिल्ली/ कांग्रेस नेता और सांसद तथा भारत जोड़ो यात्रा के लीडर राहुल गांधी ने जम्मू कश्मीर के नेता और कांग्रेसी छोड़कर अपनी अलग पार्टी बनाने वाले पूर्व वरिष्ठ कांग्रेसी नेता एवं मंत्री गुलाम नबी आजाद से माफी मांगी है और इसी के साथ ही उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह द्वारा दिए गए बयानों को लेकर असहमति व्यक्त की है दिग्विजय सिंह सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर दिए गए बयानों को लेकर अपनी ही पार्टी से अलग-थलग पड़ गए हैं।

राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा के तहत इस समय जम्मू कश्मीर में है 26 जनवरी को 2 दिन बाद उनकी यात्रा कश्मीर में समाप्त होगी आज राहुल गांधी ने जम्मू में अपनी यात्रा के दौरान आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में अपनी सारी बातें इस दौरान राहुल गांधी से दिग्विजय सिंह द्वारा कल सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाते हुए कहा था कि सीआरपीएफ के अधिकारियों ने प्रधानमंत्री मोदी से अनुरोध किया

 था कि सभी जवानों को एडिट किया जाए लेकिन प्रधानमंत्री मोदी नहीं माने ऐसे चुप कैसे हो गई सिंह ने कहा कि आज तक पुलवामा पर संसद के सामने कोई रिपोर्ट नहीं रखी गई उन्होंने दावा किया कि सर्जिकल स्ट्राइक किया गया लेकिन सबूत नहीं दिखाया ।

यह भाजपा सिर्फ और सिर्फ झूठ फैलाते हैं इस बयान पर राहुल गांधी ने कहा कि यदि विजय सिंह का निजी बयान है मैं उनके बयान से सहमत नहीं हूं मुझे देश के आर्मी पर पूरा भरोसा है और देश के आर्मी जो भी ऑपरेशन करें उसका सबूत देने की जरूरत नहीं है ।

राहुल गांधी से जब गुलाब नबी आजाद को भारत जोड़ो यात्रा का न्योता नहीं दिए जाने को लेकर किए गए सवाल के जवाब में गांधी ने कहा कि गुलाम नबी आजाद की पार्टी के अधिकांश लोग करीब 90% वापस कांग्रेस में शामिल हो गए हैं ।

बस उस तरफ अकेले गुलाम नबी आजाद रह गए हैं मैं गुलाम नबी आजाद का सम्मान करता हूं और अगर मैंने उन्हें किसी तरह से कोई दुख पहुंचाया हो तो मैं उनसे माफी मांगता हूं।

विदित है की दिग्विजय सिंह द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाकर मैं पूरी तरह से विवादों में घिर गए हैं राहुल गांधी से पहले कांग्रेस ने भी उनके बयान से किनारा कर लिया था कांग्रेस पार्टी के महासचिव जयराम रमेश ने कहा था कि दिग्विजय सिंह की टिप्पणी उनके निजी विचार हैं और पार्टी द्वारा इसका समर्थन नहीं किया गया है।

जयराम रमेश ने कहा कि यूपीए सरकार द्वारा भी 2014 से पहले सर्जिकल स्ट्राइक की गई थी सैन्य कार्यवाही हैं जो राष्ट्रीय हित में है कांग्रेसमें सभी का समर्थन किया है और आगे भी करती रहेगी।