डाक विभाग की पहल 399 रूपए में बीमा इसमें सब कुछ कवर, पढ़े खबर और जानें 

पॉलिसी में दुर्घटना में मृत्यु क्लेम से लेकर अस्पताल में इलाज तक के लिए तुरंत राशि मुहैया कराई जाएगी । वहीं बच्चों की पढ़ाई के लिए अलग से राशि देने का बंदोबस्त भी है

July 21, 2022 12:50 pm

नई दिल्ली/ भारतीय डाक विभाग की इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक ने 399 रुपए सालाना कीमत पर बीमा पॉलिसी जारी की है । पॉलिसी में दुर्घटना में मृत्यु क्लेम से लेकर अस्पताल में इलाज तक के लिए तुरंत राशि मुहैया कराई जाएगी । वहीं बच्चों की पढ़ाई के लिए अलग से राशि देने का बंदोबस्त भी है । आधिकारिक सूत्रों के अनुसार इस बीमा पॉलिसी में दुर्घटना मृत्यु ,स्थाई पूर्ण डिसेबलिटी , स्थाई आशिंक डिसेबल होने अथवा घटना में अंग – भंग होने या लकवा होने की स्थिति में 10 लाख रुपए तक का क्लेम प्रदान की जाएगी ।

क्या सुविधाएं 

दुर्घटना का शिकार होने पर अस्पताल में भर्ती बीमाधारक को इलाज के खर्च हेतु 24 घण्टे में रुपए 60 हजार और मरहम पट्टी की जाने अथवा ओपीडी में इलाज की स्थिति में रुपए 30 हजार की राशि मुहैया कराई जाएगी । वहीं अस्पताल में भर्ती होने की स्थिति में रुपए 60 हजार के अतिरिक्त 10 दिनों तक रुपए एक हजार भी प्रतिदिन दिए जाएंगे ।

यदि बीमाधारक का परिवार अन्य शहर में रहता है तो उसके आने के लिए अधिकतम रुपए 25 हजार तक का टिकट खर्चा भी दिया जाएगा और दुर्भाग्य से बीमा धारक की मृत्यु हो जाती है तो पॉलिसी के तहत रुपए 5 हजार अंतिम क्रियाकर्म के लिए दिए जाने का प्रावधान भी रखा गया है । 

कौन करा सकता बीमा और कौन नही

अधिकारियों के अनुसार पॉलिसी एक वर्ष तक वैध रहेगी और 18 से 65 वर्ष तक की आयु के लोगों को इसमें बीमित करने का प्रावधान रखा गया है । यह बीमा पॉलिसी निजी अथवा सरकारी कर्मचारी , विद्यार्थी या फिर किसी भी प्रकार के मजदूर आदि भी ले सकेंगे । बच्चों के लिए रुपए एक लाख का प्रावधान : पॉलिसी में एक सुविधा और रखी गई है जो अन्य पॉलिसियों में सामान्यतया नहीं होती है ।

वह है बीमाधारक की मृत्यु होने पर बीमा राशि 10 लाख रुपए के अतिरिक्त बच्चों की पढ़ाई के लिए 1 लाख रुपए अलग से देने की व्यवस्था लेकिन आत्महत्या , सेना युद्ध गैर कानूनी कार्य , बैक्टीरियल इन्फेक्शन किसी भी प्रकार की बीमारी , एड्स , जानलेवा स्पोर्ट्स दुर्घटना आदि के कारण होने वाली मुत्यू इस पॉलिसी में शामिल नहीं की गई है ।

Prev Post

सिपाही भर्ती-2021 पेपर लीक मामला- इंस्पेक्टर सहित 22 के खिलाफ चालान पेश

Next Post

राजस्थान के भीलवाड़ा के सरकारी स्कूल बारिश में बन जाते हैं टापू, कैसे हो पढ़ाई, स्कूलों भवनों की हालत खराब

Related Post

Latest News

नीति आयोग की बैठक में सीएम गहलोत ने उठाई ईआरसीपी को राष्ट्रीय परियोजना घोषित करने की मांग
किशोरी सशक्तिकरण हेतु, टोंक जिला कलेक्टर चिन्मयी गोपाल की नई पहल: कॅरियर गाइडेंस कम मोटिवेशन सेशन एवं स्कॉलरशिप जागरूकता कार्यक्रम आज
बीजेपी के मास्टर स्ट्रोक से कांग्रेस खेमें खलबली, जगदीप धनकड़ के जरिए जाट वोट बैंक में सेंधमारी!

Trending News

डिजिटल की दुनिया में टोंक व सवाई माधोपुर क्षेत्र के 53 दूरस्थ व वंचित गांवों में मिलेगी 4जी कनेक्टिविटी और डिजिटल सेवाएं: - सांसद जौनापुरिया
पनवाड़ सागर की भराव क्षमता बढ़ाने की मांग को लेकर कलेक्टर को दिया ज्ञापन
टोंक पिंजारा नमदगरान समाज की सामूहिक गोठ का आयोजन
समाजसेवी हाजी सलीम उद्दीन मेंबर साहब को पेश की खिराजे अकीदत

Top News

नीति आयोग की बैठक में सीएम गहलोत ने उठाई ईआरसीपी को राष्ट्रीय परियोजना घोषित करने की मांग
डिजिटल की दुनिया में टोंक व सवाई माधोपुर क्षेत्र के 53 दूरस्थ व वंचित गांवों में मिलेगी 4जी कनेक्टिविटी और डिजिटल सेवाएं: - सांसद जौनापुरिया
भाजपा युवा मोर्चा टोंक तिरंगा रैली के लिए बैठक आयोजित
किशोरी सशक्तिकरण हेतु, टोंक जिला कलेक्टर चिन्मयी गोपाल की नई पहल: कॅरियर गाइडेंस कम मोटिवेशन सेशन एवं स्कॉलरशिप जागरूकता कार्यक्रम आज
देवली : खंडहर खुला कुंआ बना हादसे का सबब,कुंए में गिरी गाय को मशक्कत से निकाला बाहर
टोंक नेहरू युवा केंद्र ने किया युवा मंडल कार्यक्रम अभियान की शुरुआत
विश्व स्तनपान सप्ताह 2022 मनाया गया
जन-समस्याओं का निदान त्वरित गति से हो-ओमप्रकाश गुप्ता
बीजेपी के मास्टर स्ट्रोक से कांग्रेस खेमें खलबली, जगदीप धनकड़ के जरिए जाट वोट बैंक में सेंधमारी!
ओबीसी आरक्षण पर अपनी ही सरकार से आर-पार के मूड में विधायक, हरीश चौधरी के बाद मदन प्रजापत ने भी खोला मोर्चा