नड्डा बने रहेंगे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष लगी मोहर, 72 हजार कमजोर बूथों और चुनाव पर मंथन

नई दिल्ली/ भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के आज दूसरे दिन दिए गए महत्वपूर्ण निर्णय में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर निवर्तमान अध्यक्ष जेपी नड्डा ही बने रहेंगे और इसके साथ ही मंथन में इस साल होने वाले 10 राज्यों की विधानसभा चुनाव और अगले वर्ष लोकसभा चुनाव को लेकर गहन मंत्रणा विचार हुआ।

भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक के आज दूसरे दिन भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद को लेकर मंथन हुआ और निवर्तमान अध्यक्ष जेपी नड्डा कार्यकाल 1 साल के लिए बढ़ाते हुए आगामी लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनाव उन्हीं के नेतृत्व में भाजपा लड़ेगी विदित है कि वर्तमान भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा का कार्यकाल 20 जनवरी को पूर्ण हो रहा है ।

नड्डा पहली बार 2 जून 2019 में कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए थे और इसके बाद 20 जनवरी 2020 को पूर्णकालिक अध्यक्ष बनाया गया था आता दूसरी बार भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने वाले नड्डा तीसरे व्यक्ति हैं इनसे पहले लालकृष्ण आडवाणी अमित शाह लगातार दो बार राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे हैं ।

इस कार्यकारिणी की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हर कमजोर बूथ पर मजबूती से काम करने के लिए कहा है और देश भर में ऐसे 72000 बूथों की पहचान की गई है जिस पर काम किया जाएगा इसके साथ ही आज बैठक में 10 राज्यों के विधानसभा चुनाव और लोकसभा चुनाव को लेकर मंथन मंथन खुल गई।

इस संबंध में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सिर्फ नेताओं से भी चर्चा कर मंत्रणा करने का निर्णय इस बैठक में लिया गया बैठक में गुजरात में हुई जीत के फार्मूले को इसी साल मई में होने वाले कर्नाटक विधानसभा के चुनाव में लागू करने का निर्णय लिया गया।

बैठक में मोदी ने भाजपा के सभी शीर्ष नेताओं को विपक्ष के हमलावर रवैए से परेशान ना होने की सलाह दी इसके साथ चुनाव में राष्ट्रीय संघ संघ संघ और अन्य संगठनों की किस तरह मदद ली जा सकती है इस पर भी विचार किया गया।