Kharge will be the new national president of Congress, may be announced on October 8
दिल्ली देश

कांग्रेस के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे खड़गे,8 अक्टूबर को हो सकती घोषणा

नई दिल्ली/ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष को लेकर कशमकश अब साफ हो गई है और 51 साल बाद एक बार फिर कांग्रेस को गैर गांधी परिवार से और दलित अध्यक्ष मिलने वाला है और वह मलिकार्जुन खड़गे। खडगे के निर्वाचन की घोषणा संभवत या 8 अक्टूबर को नाम वापसी के साथ ही हो सकती है।

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए होने वाले चुनाव को लेकर आज नामांकन दाखिल करने के अंतिम दिन तीन नामांकन भरे गए पहला नामांकन सांसद शशि थरूर ने भरा और उसके बाद झारखंड से कांग्रेस के केंद्रीय पार्टी ने नामांकन पत्र दाखिल किया इसके बाद अंत में गांधी परिवार के वरदहस्त मलिकार्जुन खडगे ने नामांकन दाखिल किया मलिकार्जुन के प्रस्तावक के रूप में कांग्रेस का एक बड़ा धड़ा साथ में था और सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि खड़के के प्रस्तावक के रूप मे G-23 ग्रुप से मनीष तिवारी और आनंद शर्मा शामिल थे । जबकि शशी थरूर के साथ गिने-चुने नेता ही थे और एनके त्रिपाठी के साथ तो सभी कम समर्थक थे । आज नामांकन पत्र दाखिल करने की समय सीमा की समाप्ति के साथ ही कि राष्ट्रीय अध्यक्ष पद का चुनाव कौन लड़ेगा यह साफ हो गया है ।

नामांकन दाखिल करते समय मलिकार्जुन खडगे के प्रस्तावक के रूप में उनके साथ अशोक गहलोत अभिषेक मनु सिंघवी दिग्विजय सिंह मनीष तिवारी आनंद शर्मा( दोनोG-23) ग्रुप से मुकुल वासनिक एके एंटनी अजय माकन भूपेंद्र सिंह हुड्डा सलमान खुर्शीद तारिक अनवर अखिलेश प्रसाद सिंह नारायण सामी प्रमोद तिवारी रघुवीर सिंह मीणा धीरज प्रसाद साहू ताराचंद पृथ्वीराज चौहान कमलेश्वर पटेल मूलचंद मीणा विनीत पूनिया वी.वथिलिंगन प्रमुख बड़े नेता प्रस्तावक के रूप में साथ थे जबकि शशी थरूर के साथ अवस्था के रूप में कीर्ति चिंदबरम सलमान सोज सैफुद्दीन सोज मोहम्मद जावेद संदीप दीक्षित जी के झीमोमी प्रद्युत बरदलोई प्रवीण डाबर थे।

आलाकमान सोनिया गांधी के वरदहस्त और कांग्रेस की शीर्ष नेताओं का समर्थन होने से मलिकार्जुन का कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनना अबला करीब-करीब तय है हालांकि अभी भी दो प्रत्याशी शशि थरूर और एनके त्रिपाठी मैदान में है लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि मलिकार्जुन को आलाकमान और शीर्ष नेताओं का समर्थन होने से और नाम वापसी 8 अक्टूबर से पहले शशि थरूर और त्रिपाठी अपना नाम वापस ले लेंगे अच्छा चुनाव मैदान छोड़ सकते हैं और मलिकार्जुन का 8 अक्टूबर को निर्विरोध निर्वाचन होने की पूरी संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता ।

आलाकमान और कांग्रेस के शीर्ष नेताओं के साथ साथ मल्लिकार्जुन को कांग्रेस के ही ग्रुप G-23 का भी समर्थन मिलने से अब उनका निर्विरोध निर्वाचन तय माना जा रहा है मलिकार्जुन 51 साल बाद कांग्रेस के दूसरे दलित राष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे इससे पहले 1970-71 मैं दलित नेता बाबू जगजीवन राम कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष थे ।

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम