भारत के तमिलनाडु में मंदिरों में मोबाइल पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक

Now ban on talking on mobile for personal use in government offices

नई दिल्ली/ देश के मद्रास हाईकोर्ट ने मंदिरों में मोबाइल फोन ले जाने पर रोक लगाते हुए इसे सख्ती से पालन करने के आदेश जारी किए हैं।कोर्ट ने यह आदेश एक याचिका के जवाब नहीं दिया है जिसमें याचिकाकर्ता ने सुब्रमण्यम स्वामी मंदिर में मोबाइल फोन पर बैन लगाने की मांग की गई थी।

याचिकाकर्ता का कहना था कि मोबाइल फोन के चलते लोगों का ध्यान भटकता है और मंदिरों में देवी देवताओं की फोटो खींचना परंपराओं के खिलाफ है इसी के साथ ही याचिकाकर्ता ने कहा कि मंदिरों में फोटोग्राफी से मंदिरों की सुरक्षा भी खतरे में पड़ती है और महिलाओं की तस्वीरें में बिना उनकी इजाजत के खींची जाती है।

जिससे उनमें डर रहता है याचिकाकर्ता ने मंदिरों में गरिमामई पहनाऊ को भी अनिवार्य करने की मांग की है देश के केरल के गुरुवयुर मैं श्री कृष्णा मंदिर और तमिलनाडु के तिरुपति केसरी वेंकटेश्वर मंदिर में पहले से ही मोबाइल फोन पर रोक है।

याचिकाकर्ता की इस याचिका पर मद्रास हाईकोर्ट ने तमिलनाडु के सभी मंदिरों में मोबाइल फोन पर बैन कर दिया है कोर्ट ने कहा कि यह फैसला मंदिरों की शुद्धता और पवित्रता बनाए रखने के लिए लिया गया है।

कोर्ट ने यह भी कहा कि लोगों को परेशानी ना हो इसलिए मंदिरों में फोन डिपॉजिट करने के लिए अर्थात सुरक्षित रखने के लिए लॉकर्स बनाए जाने चाहिए इस आदेश का पालन हो इसके लिए मंदिरों में सुरक्षाकर्मी तैनात किए जाएंगे।