बिहार के कुएं में मिलीं विदेशी एके 47

Firing here in Rajasthan, two injured, accused arrested

नई दिल्ली ।  बिहार के मुंगेर जिले में 12 और एके 47 राइफल बरामद की गई हैं, यहां बरधे गांव में यह हथियार बरामद किए गए है। खास बात यह है कि यहां एक महीने के दौरान यहां बीस एके 47 बरामद की जा चुकी हैं, इस मामले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है।

मुंगेर जिले के बरधे गांव में छापेमारी के दौरान 12 एके 47 राइफल बरामद की गई हैं। मुंगेर के पुलिस अधीक्षक ने बताया कि गोपनीय सूचना के आधार पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ऑपरेशंस) राणा नवीन के नेतृत्व में पुलिस की एक टीम ने रात में छापेमारी की और एक कुएं से इन हथियारों को जब्त किया।

राम ने बताया कि गांव के निवासी तनवीर आलम को इस संबंध में गिरफ्तार कर हिरासत में भेज दिया गया है। एएसपी ने बताया कि यह सभी रूस में बने हुए हथियार हैं और अच्छी स्थिति में है, पहले भी जिले में की गई तीन छापेमारियों में आठ एके 47 राइफलें जब्त की गई थीं।

जांच में पता चला है कि जबलपुर में स्थित सेन्ट्र्ल आर्डिनेंस डिपो से विगत छह वर्षों में सत्तर एके-47 राइफलें अवैध ढंग से बिहार के मुंगेर जिले में हथियार तस्करों को बेची गई हैं।

पुलिस ने पूर्व में जमीन की खुदाई करके दो एके-47 राइफलें बरामद की थीं। पुलिस ने जब एके-47 राइफल की पहली खेप बरामद की थी तो शस्त्र तस्करों ने 12 एके 47 राइफलों को पुलिस की नजर से बचाने के लिए मुफस्सिल थाना क्षेत्र के बरधे गांव में एक गहरे कुएं में फेंक दिया था।

मुंगेर पुलिस ने झारखंड के हजारीबाग से हथियार तस्कर तनवीर आलम को हाल में गिरफ्तार किया है जिसकी निशानदेही पर मुंगेर पुलिस ने बरधे ग्राम के कुंए से 12 एके 47 बरामद की गई हैं।

गौरतलब है कि जबलपुर में स्थित केन्द्र सरकार के सेन्ट्र्ल आर्डिनेंस डिपो से डिपो के स्टोर के प्रभारी की मिलीभगत से वर्ष 2012 से वर्ष 2018 तक 70 एके 47 राइफलें मुंगेर के हथियार तस्करों को बेची गईं।