दिल्ली

भारत में अब आमजन को जेब में नोट रखने की जरूरत नहीं,कल से डिजीटल नोट होंगे शुरू

नई दिल्ली/ अब भारत में आम जन को लेन देन और आम दिनचर्या के लिए जेब में नोट लेकर जाने की जरूरत नहीं होगी क्योंकि भारतीय रिजर्व बैंक ने कल से देशवासियों के लिए डिजिटल रुपया की व्यवस्था शुरू कर दी है और यह पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू किया जाएगा।

विदित है कि केंद्रीय बैंक ने इससे पूर्व 1 नवंबर को होलसेल लेनदेन के लिए डिजिटल रुपया की शुरुआत की थी और अब सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी(CBDC) रिटेल अर्थात कुदरा उपयोग के लिए डिजिटल करेंसी अर्थात नोट शुरू करने जा रही है ।

बिजनेस टुडे की एक रिपोर्ट के अनुसार भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने रिटेल डिजिटल रुपया के पायलट प्रोजेक्ट के दौरान इसके वितरण और उपयोग की पूरी प्रक्रिया का परीक्षण होगा शुरुआत में इसका रोल आउट चुनिंदा स्थानों पर किया जाएगा और यह व्यवस्था 1 दिसंबर से भारत में शुरू होने जा रही है।

आरबीआई की ओर से इस संबंध में पहले बताया गया था कि सीबीडीसी( CBDC) एक भुगतान का माध्यम होगा जो सभी नागरिक व्यापार सरकार और अन्य के लिए एक कानूनी टेंडर होगा इसकी वैल्यू सेफ स्टोर वाले लीगल टेंडर नोट वर्तमान करेंसी के बराबर ही होगी।

देश में आरबीआई की डिजिटल करेंसी अर्थात E-RUPEE आने के बाद अपने पास नकद रखने की जरूरत नहीं के बराबर हो जाएगी या रखने की ही जरूरत नहीं पड़ेगी।

कैसे होगा डीजिटल रूपया

E-Rupee एक डिजिटल टोकन की तरह काम करेगा अर्थात सहयोग कहें तो अतिशयोक्ति नहीं होगी कि सी बी डी सी आरबीआई की ओर से जारी किए जाने वाले करंसी नोट का डिजिटल रूप ही है इसका इस्तेमाल करें हमसे की तरह ही लेनदेन के लिए हो सकता है।

आरबीआई के अनुसार ₹1 का वितरण बैंकों के जरिए होगा डिजिटल वॉलेट के माध्यम से व्यक्ति से व्यक्ति या व्यक्ति से मर्चेंट के बीच लेनदेन किया जा सकता है मोबाइल वॉलेट से डिजिटल रूपी से लेनदेन कर सकेंगे क्यूआर कोड स्कैन करके भी इससे भुगतान कर सकते हैं।

जहां तक E-Rupee से होने वाले नुकसान की बात की जाए तो इससे इतना बड़ा कोई नुकसान तो होगा नहीं लेकिन लेनदेन से संबंधित प्राइवेसी खत्म हो जाएगी प्राय नकद में लेनदेन करने से पहचान गुप्त रहती है लेकिन डिजिटल लेनदेन पर सरकार की नजर रहेगी।

इसके अलावा ई रूपया पर कोई ब्याज भी नहीं मिलेगा आरबीआई के अनुसार अगर डिजिटल रुपया पर ब्याज दिया तो यह करेंसी मार्केट में स्थित आला सकता है इसकी वजह से यह है कि लोग अपने बचत खाते से पैसे निकाल कर उसे डिजिटल करेंसी में बदलना शुरू कर देंगे।

Dr. CHETAN THATHERA

चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम

Share
Published by
Dr. CHETAN THATHERA

Recent Posts

Education News: मेट्रिक्स ओलिंपियाड परीक्षा में टोंक जिले का हर्षित नागर राज्य स्तर पर सम्मानित

हर्षित नागर ने राज्य स्तर पर 358 रैंक प्राप्त की है।हर्षित नागर ने 358 रैक…

7 hours ago

Tonk : चिकित्सक रोगियों का बेहतर उपचार सुनिश्चित करे- चिन्मयी गोपाल

जिला स्वास्थ्य समिति की मासिक बैठक मंगलवार को जिला कलेक्टर चिन्मयी गोपाल की अध्यक्षता में…

21 hours ago

कनिष्ठ सहायक का एक दिन बाद किया तबादला अधिकरण ने जिला परिषद के तबादला आदेश पर लगाई रोक,टोंक सीईओ सहित अन्य से माँगा जवाब

टोंक ।राजस्थान सिविल सेवा अपील अधिकरण ने मंगलवार को बिजवाड़ ग्राम पंचायत में कार्यरत कनिष्ठ…

22 hours ago

स्वतंत्रता सेनानी गांधीवादी डॉ एसएन सुब्बाराव का जन्म दिवस उत्साह पूर्वक मनाया

ानी गांधीवादी डॉ एसएन सुब्बाराव का 94 वां जन्मदिवस उत्साहपूर्वक मनाया गया, राष्ट्रीय युवा योजना,…

22 hours ago

सामूहिक प्रयास से ही बाल विवाह का अंत संभव

टोंक जिले में बाल विवाह में कमी लाने के लिए सरकारी, गैर सरकारी संस्थान व…

1 day ago

भीलवाड़ा में राइट टू हेल्थ बिल को रोकने के लिए आन्दोलनरत चिकित्सकों ने कलेक्टर को दिया ज्ञापन

राज्य स्तर पर सभी चिकित्सा संगठनो की गठित संयुक्त संगर्ष समिति के आह्वान पर भीलवाड़ा…

2 days ago

This website uses cookies.