मनाली में  सैलानियों की भीड़ , हर रोज 20 हजार पर्यटक रहे पहुंच ट्रेफिक जाम ,सरकार ने की नई व्यवस्था, बर्फवारी की संभावना

 

नई दिल्ली/ हिमाचल प्रदेश/ समाप्त होने वाले साल और आने वाले नए साल के जश्न को लेकर पर्यटन स्थल मनाली में पर्यटको की भीड उमड़ना शुरू हो गई है और प्रतिदिन करीब 20000 पर्यटक सोनाली पहुंच रहे हैं।

इससे वहां ट्रैफिक व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है और लंबे लंबे जाम लगने से पर्यटकों को परेशानी उठानी पड़ रही है नए साल के जश्न को लेकर हिमाचल प्रदेश सरकार ने नई व्यवस्था की है मनाली में आगामी दो दिनों में बर्फबारी होने की संभावना है।

मंगलवार को हजारों पर्यटक मनाली पहुंचे, लेकिन उनका स्वागत यहां पर लंबे ट्रैफिक जाम ने किया ।अटल टनल घूमने गए पर्यटकों को वापिस मनाली पहुंचने में भारी ट्रैफिक जाम का सामना करना पड़ रहा है ।

सोलांग वैली से मनाली तक करीब भारी ट्रैफिक जाम लग गया है और करीब 5 किलोमीटर तक वाहनों की लंबी कतार लगी हुई है । ऐसे में यहां आने वाले खासे परेशान दिखाई दे रहे हैं ।पुलिस को भी जाम खुलवाने में कड़ी मशकत करनी पड़ रही है। मंगलवार दिन में कई सैलानियों को रांगड़ी के पास ही 2 से 3 घंटे से अधिक समय तक ट्रैफिक जाम से जूझना पड़ा ।

हिमाचल सरकार ने उठाया ये कदम

हिमाचल प्रदेश की राज्य सरकार ने फैसला लिया है कि राज्य में आने वाले पर्यटकों की सुविधा के लिए राज्य के सभी रेस्तरां, ढाबे, चाय के स्टॉल और भोजनालय आदि 2 जनवरी, 2023 की रात तक मालिकों की इच्छा के अनुसार 24X7 खुले रहेंगे इस संबंध में फैसला मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने शिमला के विधायक हरीश जनार्थ, मनाली के विधायक भुवनेश्वर गौड़ और कसौली के विधायक विनोद सुल्तानपुरी के आग्रह एवं सुझाव पर आज यहां लिया।

नए साल पर हो सकती बर्फबारी

साथ ही मौसम विभाग ने साल के आखिरी दिनों में पहाड़ों पर बर्फबारी का अनुमान जताया है. हिमालय के ऊपरी इलाकों में 29 और 30 दिसंबर को बर्फबारी हो सकती है एक सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ का मिजाज बदलेगा आने वाले वेस्टर्न डिस्टरबेंस से पंजाब तक बारिश भी होने की संभावना है। जब पश्चिमी विक्षोभ रहेगा सक्रिय तो मैदानी इलाकों में बढ़ेगा । बुधवार से लेकर शुक्रवार तक उत्तर पश्चिमी भारत के मैदानों के तापमान में दो से 4 डिग्री की बढ़ोतरी हो सकती है. लेकिन पश्चिमी विक्षोभ के जाते ही दोबारा जबरदस्त ठंड भी ठंड यानी कि नए साल की शुरुआत मैदानी इलाकों के लिए कड़कड़ाती ठंड लेकर आएगी।