रेप के मामले मे आसाराम बापू को उम्रकैद की सजा, राजस्थान की लेडी सिघंम ADSP ने किया था गिरफ्तार

Dr. CHETAN THATHERA
8 Min Read

गुजरात/ संत कथावाचक आसाराम बापू(81) को 10 साल पुराने रेप के मामले में आज गांधीनगर हाईकोर्ट ने उम्र कैद की सजा सुनाई है तथा महिला को ₹50000 का मुआवजा देने के लिए आदेश कोर्ट ने दिए हैं कोर्ट ने इससे पहले कल आसाराम बापू को दोषी करार दिया था और इस सजा से पहले जोधपुर कोर्ट ने अप्रैल 2018 में ही आसाराम बापू को उत्तर प्रदेश की एक नाबालिग लड़की से रेप के मामले में उम्र कैद की सजा सुना चुकी है।

जबकि इस मामले में पत्नी समीक्षा अन्य आरोपियों को कोर्ट ने सबूतों के अभाव में बरी कर दिया है इन 6 आरोपियों में से एक आरोपी की सुनवाई के दौरान ही पहले ही मौत हो चुकी थी आसाराम बापू रेप के दो मामलों में उम्र कैद की सजा काटेंगे जबकि जोधपुर में नाबालिक से दुष्कर्म के दो मामले अभी विचाराधीन है उन्हें सजा आना बाकी है ।

इसी तरह जोधपुर में ही जान से मारने की धमकी देने के मामले में भी कृष्णा आना बाकी है तथा जोधपुर में ही फर्जी दस्तावेजों के मामले में भी फैसला आना बाकी है। जोधपुर के मामले में कथावाचक आसाराम बापू को भीलवाड़ा में वर्तमान में तैनात अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक और उस समय जोधपुर में तैनात तत्कालीन पुलिस उप अधीक्षक चंचल मिश्रा ने ही आसाराम बापू को गिरफ्तार किया था और उसके कुछ समय बाद चंचल मिश्रा को भी धमकी मिली थी।

क्या है मामला

करीब 10 साल पहले कथावाचक आसाराम बापू पर सूरत की एक महिला ने अहमदाबाद के मोटेरा स्थित के आश्रम में बार-बार दुष्कर्म करने का आरोप लगाया था इस मामले में अहमदाबाद के चांदखेड़ा पुलिस थाने में प्राथमिकी दर्ज हुई थी इस प्राथमिकी के अनुसार महिला के साथ अहमदाबाद शहर के बाहर बने आश्रम में 2001 से लेकर 2006 के बीच कई बार दुष्कर्म किया गया।

इस मामले में पुलिस ने 2014 जुलाई में चार्जशीट दाखिल की थी आसाराम बापू पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली महिला की छोटी बहन ने आसाराम के बेटे नारायण साईं पर भी रेप का आरोप लगाया था।

पीड़ित महिला ने शिकायत में यह बताया था कि आसाराम ने उसे गुरु पूर्णिमा पर स्पीकर के रूप में चुने जाने के लिए कहा था और बाद में 6 स्पीकर के रूप में चुना इसके बाद आसाराम ने फार्म हाउस शांति वाटिका में उसे बुलाया गया आश्रम का ही एक अन्य व्यक्ति उसे आसाराम के फार्म हाउस पर ले गया था।

वहां आसाराम ने हाथ पैर धो कर उसे कमरे के अंदर बुलाया और बाद में कटोरी की मामा को उसके सिर की मालिश की मालिश के दौरान आसाराम ने पीड़ित महिला के साथ जबरदस्ती शुरू कर दी इस पर महिला ने वहां से भागने की कोशिश की लेकिन आसाराम उसके साथ मारपीट की और दुष्कर्म और अननेचुरल सेक्स किया इसके बाद धमकी देकर उसे वहां से भगा दिया था ।

आसाराम व पुत्र नारायण सांई की कहानी

आसाराम पर और नारायण साईं पर रेप का आरोप लगाने वाली दो पीड़ित बहनों में से एक के पति पर फरवरी 2014 में जानलेवा हमला किया गया इसके 15 दिन बाद आसाराम के वीडियोग्राफर राकेश पटेल पर भी जानलेवा हमला हुआ।

इसके कुछ दिनों बाद सूरत में कपड़ा बाजार में धावा दिनेश भगनानी पर तेजाब फेंक दिया गया मार्च 2014 में एक गवा अमृत प्रजापति की गोली मारकर हत्या कर दी गई जनवरी 2015 में गवाह अखिल गुप्ता की जफर नगर में गोली मारकर हत्या कर दी गई इसके 1 माह बाद आसाराम के निजी सहायक राहुल सचान पर हमला किया गया।

जोधपुर कोर्ट में गवाही देने पहुंचे राहुल सचान पर कोर्ट परिसर में ही जानलेवा हमला किया गया था राहुल सचान इस हमले में बस गए थे लेकिन 25 नवंबर 2015 के बाद से वह लापता हो गए इसका आज तक पता नहीं चला है।

जानलेवा हमलों की कड़ी में ही 2015 में ही पानीपत में महेंद्र चावला पर हमला किया गया तथा एक अन्य गवाह कृपाल सिंह की जोधपुर में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी कृपाल सिंह ने जोधपुर कोर्ट में पीड़िता के पक्ष में गवाही दी थी।

कौन है आसाराम कैसे बना आसाराम

आसाराम का असली नाम आसुमल हरपलानी है और इनका जन्म अप्रैल 1941 में सिंध पाकिस्तान के बे रानी गांव में हुआ था 1947 के विभाजन के बाद इनका परिवार अहमदाबाद में बस गया था 1960 के दशक में आसाराम ने लीलाशाह को अपना गुरु बनाया था आसाराम ने दावा किया कि गुरु ने उसे आसुमल की जगह आसाराम नाम दिया है।

1972 में आसाराम ने अहमदाबाद से 10 किलोमीटर दूर मोटेरा गांव के पास साबरमती नदी के किनारे अपनी छोटी सी झोपड़ी बनाई थी और अपने व्याख्यान देसी औषधि और भजन-कीर्तन से गुजरात के गांव में गरीब पिछड़े और आदिवासी लोगों का आकर्षित किया।

फिर धीरे-धीरे से रिचेक्ड के मध्य वर्ग 3 की ओर बढ़ने लगे व्याख्यान के दौरान प्रसाद के नाम पर फ्री भोजन दिया जाता था इससे उनकी संख्या और भक्तों की तादाद बढ़ने लगी और गुजरात सहित देश के विभिन्न राज्यों में उनके आश्रम खुलने लगे और 3 दशक में आसाराम और उनके बेटे नारायण साईं ने देश-विदेश में करीब 400 से अधिक आश्रम बना लिए इनकी संपत्ति करीब 10000 करोड रुपए की बताई गई थी।

आसाराम के खिलाफ चल रहे मामलों की स्थिति इस प्रकार

जुलाई 2008- मोटेरा में 10 साल के अभिषेक बाघेला और 11 साल के दीपेश वाघेला शक्ति विकसित अंजलि लाशें मिली थी इस मामले में आसाराम पर आरोप लगे थे लेकिन बाद में वह इस मामले में बरी हो गए

2013- जोधपुर की छात्रा से रेप का आरोप इस मामले में आसाराम को उम्रकैद की सजा हुई । इसी साल अगस्त में सूरत की एक लड़की ने चांदखेड़ा थाने में रेप की शिकायत दर्ज कराई आसाराम इसमें दोषी पाए गए और इस मामले में आज सजा सुनाई गई जोधपुर में नाबालिग से दुष्कर्म के दो और मामले सामने आए हैं इनमें अभी सुनवाई चल रही है और फैसला आना अभी बाकी है

2014- आसाराम बापू सहित पांच लोगों के खिलाफ नवंबर में जोधपुर के उदय मंदिर पुलिस थाने में जान से मारने की धमकी देने का मामला दर्ज कराया गया था इस मामले की सुनवाई चल रही है और इसमें भी अभी फैसला आना बाकी है

2017- जोधपुर में आसाराम बापू ने जमानत के लिए जो दस्तावेज लगाए थे उनकी शिकायत हुई थी यह फर्जी दस्तावेज है और जांच में वह दस्तावेज फर्जी पाए गए थे इस मामले में फरवरी में मामला दर्ज हुआ था और इस पर आसाराम बापू ₹100000 का जुर्माना भी लगा था।

Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम