जेल जाने के लिए 10 वीं के छात्र ने अपने ही सहपाठी की हत्या की , क्यों पढ़े आप भी जाएंगे चौक 

Dr. CHETAN THATHERA
4 Min Read

नई दिल्ली/ आजकल पढ़ाई को लेकर तनाव और दबाव के चलते छोटी आयु के विद्यार्थी भी कोई भी अपराध करने और घटना कारित करने से नहीं घबराते हैं ऐसा ही एक मामला सामने आया है जब दसवीं कक्षा में पढ़ने वाले एक 16 वर्षीय छात्र ने अपने सहपाठी 13 वर्षीय छात्र की हत्या कर दी उसने हत्या क्योंकि आप भी इस खबर को पढ़कर चौक जाएंगे कि ऐसा भी हो सकता है क्या और शायद फिर आप भी अपने बच्चों के प्रति संभल जाएं।

गाजियाबाद के आकाश नगर फेस 2 में रहने वाले 13 वर्षीय स्कूली छात्र नीरज कैलाश दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस वे के नीचे पड़ी मिली इस घटना की सूचना पर मसूरी थाना पुलिस मौके पर पहुंची देखा तो छात्र का गला रहता हुआ था जिससे काफी खून बह चुका था पुलिस ने छात्र के परिजनों का पता कर सूचना दी लाश को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल पहुंचाया जहां पोस्टमार्टम से खुलासा हुआ की छात्र की मौत पहले गला घोट कर दी गई और फिर गला रेता गया इस पर पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू की और पाया कि आखरी बार वह एक 16 वर्षीय किशोर के साथ देखा गया था ।

उसकी पहचान कर जब पुलिस ने उस 16 वर्षीय किशोर को पकड़ पूछताछ की तो उसने छात्र नीरज की हत्या करना स्वीकार किया और हत्या के पीछे जो कारण बताया उसे सुनकर पुलिस अधिकारी भी चौक गए आरोपी छात्र मृतक छात्र स्कूल में उसका सहपाठी था और आरोपी छात्र कक्षा 10 का छात्र था आरोपी छात्र ने बताया कि वह दसवीं कक्षा में दो बार फेल हो चुका था और तीसरी बार पढ़ाई कर रहा था उसके पिता प्रॉपर्टी डीलर है तथा माता-पिता उसे पढ़ाई के लिए डांटते थे और दबाव बनाते थे।

लेकिन उसका पढ़ाई में मन नहीं लगता था और उसने मां बाप की डांट तथा पढ़ाई से पीछा छुड़ाने के लिए जेल जाने की योजना बनाई और वह अपनी इस योजना पर पिछले 1 माह से काम कर रहा था उसने यूट्यूब चैनल सोशल मीडिया का भी सहारा लिया कि जेल जाने पर क्या होता और जेल में क्या क्या सुविधा मिलती है अपनी इस योजना को अंजाम देने के लिए उसने अपने सहपाठी 13 वर्षीय नीरज को चुना और उसे घुमाने के बहाने दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे के नीचे ले गया।

जहां सुनसान इलाका वालों से कोई आता जाता नहीं वहां मौका देख कर उसमें नीरज का पहले गला घोट दिया और फिर वहां पास ही पड़ी एक बीयर की बोतल फोड़ कर नीरज का गला रेत दिया तथा वहां काफी देर तक बैठा रहा उसके गले से खून बहता रहूं जब नीरज बिल्कुल नहीं ढाल हो गया उसे लगा तो वह घर चला गया वह चाहता था कि पुलिस इस मामले का खुलासा करें ।

पुलिस में जाप आरोपी 16 वर्षीय छात्र को पकड़ा तो उसके चेहरे पर इस अपराध का कोई शिकन नहीं था बल्कि उसे सुकून था कि अब जेल में आराम से रहेगा 9:00 से पढ़ाई करनी पड़ेगी और नहीं पढ़ाई के लिए मां-बाप की डांट खानी पड़ेगी।

TAGGED: ,
Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम