देश

भारत में आया कोरोना का एक और खतरनाक रूप,7 दिन में ही

नई दिल्ली/ कोरोनावायरस (coronavirus) संक्रमण खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है अभी दूसरी लहर की भयावहता कम भी नहीं हुई और तीसरी लहर (third wave) की संभावना के साथ ही अब एक ऐसा और नया रूप बदलकर कोरोना वायरस भारत आ गया है ।।यह इतना खतरनाक है की 7 दिन में ही संक्रमित का वजन इतना तेजी से घट जाता है और उसकी प्रतिरोधक क्षमता भी कम हो जाती है ।

कोरोना वायरस का एक और खतरना‍क वेरिएंट (Dangerous Variants)  भारत में मिला है। यह इतना खतरनाक है कि इससे संक्रमित होने के सात दिनों के अंदर ही मरीज का वजन कम हो सकता है। पहले यह वेरिएंट ब्राजील में मिला था वहां से इसके एक ही वेरिएंट के भारत आने की पुष्टि की गई थी ।।हालांकि अब वैज्ञानिकों का कहना है कि ब्राजील से कोरोना वायरस के दो वेरिएंट भारत आए हैं और दूसरे वेरिएंट का नाम बी.1.1.28.2 है।

खबरो के मुताबिक, वैज्ञानिकों ने इस वेरिएंट का परीक्षण एक चूहे पर किया जिसके परिणाम चौंकाने वाले थे। वैज्ञानिकों को पता चला है कि संक्रमित होने के तुरंत बाद ही 7 दिन के अंदर ही इसकी पहचान की जा सकती है । यह इतना खतरनाक है कि यह मरीज के शरीर का वजन 7 दिनों मे ही कम कर सकता है इसके साथ ही डेल्‍टा वेरिएंट की तरह ही यह भी एंटीबॉडी क्षमता को कम कर सकता है।

पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वॉयरोलॉजी (National Institute of Virology) के वैज्ञानिकों के अनुसार बी.1.1.28.2 वेरिएंट विदेश से आए दो लोगों में मिला था। इस वेरिएंट की जीनोम सीक्वेसिंग की गई और फिर परीक्षण किया गया फिलहाल अभी भारत में इसके बहुत अधिक मामले नहीं है, जबकि डेल्टा वेरिएंट (Delta Variant) सबसे ज्यादा मिल रहा है।

विदेश से लौटे दो लोगों के सैंपल की सिक्वेसिंग की गई थी ।।कोरोना से रिकवरी होने तक दोनों लोगों में उसके लक्षण नहीं थे, लेकिन इनके सैंपल की सीक्वेसिंग के बाद जब बी.1.1.28.2 वेरिएंट का पता चला तो उसका 9 सीरियाई हैमस्टर चूहे की प्रजाति पर सात दिन के लिए परीक्षण किया गया इनमें से 3 चूहो की मौत शरीर के अंदरूनी भाग में संक्रमण बढ़ने से हुई।

डर पैदा करना नहीं सजग करना उद्देश्य फैसला आपका जीवन आपका

इस खबर को प्रसारित करने के पीछे हमारा उद्देश्य आमजन में खौफ डर पैदा करना नहीं है बल्कि आमजन को यह बता कर सर्जक करना है कि वह भूले नहीं कोरोना चला गया है मतलब कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या कम हो गई है तो वह ये ना समझे कि कोरोना का कम हो गया है । सावधान रहें सतर्क रहें और सरकार के गाइडलाइन की पूरी तरह से पालना करें तो आप और हम सब इस आने वाले कोरोना के इस खतरनाक नए वेरिएंट तथा तीसरी लहर से सुरक्षित रह सकते हैं । फैसला आपका है जीवन भी आपका है ।

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम