भाजपा से मुकाबला करने के लिए किए जा रहे सपा कार्य कर्ता ट्रेंड

फर्रुखाबाद(हि.स.)। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सोमवार को यहां कहा है कि आगामी विधानसभा चुनाव में जिन छोटे दलों से गठबंधन होना है उनमें चाचा की भी पार्टी शामिल है। उनके लिए दरवाजे खुले हैं। श्री यादव ने आज सायं फतेहगढ निरीक्षण भवन में पत्रकारों से बात चीत कर …

भाजपा से मुकाबला करने के लिए किए जा रहे सपा कार्य कर्ता ट्रेंड Read More »

January 25, 2021 6:56 pm
फर्रुखाबाद(हि.स.)। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सोमवार को यहां कहा है कि आगामी विधानसभा चुनाव में जिन छोटे दलों से गठबंधन होना है उनमें चाचा की भी पार्टी शामिल है। उनके लिए दरवाजे खुले हैं। श्री यादव ने आज सायं फतेहगढ निरीक्षण भवन में पत्रकारों से बात चीत कर रहे थे।
श्री यादव ने बताया कि चुनाव के लिए प्रत्याशियों के नाम ले लिए गए हैं। प्रत्याशियों को कान में बता दिया जाएगा। भाजपा पर झूठ फरेब की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए श्री यादव ने कहा के भाजपाइयों से मुकाबला करने के लिए ही पार्टी कार्यकर्ताओं को शिविर में ट्रेंड किया गया है। पिछली सरकार में पहले विकास कार्य की शुरुआत कन्नौज से हुई थी लेकिन अबकी सरकार में फर्रुखाबाद जिले से ही विकास कार्य का शुभारंभ होगा।
मुख्यमंत्री योगी की ओर इशारा करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री स्वयं लैपटॉप चलाना नहीं जानते इसीलिए उन्होंने लेट लैपटॉप नहीं बांटे। जबकि हमारे द्वारा बांटे गए लैपटॉप से छात्र शिक्षा का लाभ उठा रहे हैं। सपा प्रमुख ने भाजपा सरकार पर विकास कार्यों के नाम बदले जाने का आरोप लगाते हुए पार्टी में गुटबाजी करने वालों को चेतावनी देते हुए कहा कि इस शिविर के बाद ऐसे लोग एक किनारे खड़े रहेंगे और पार्टी मजबूती से आगे बढ़ेगी। श्री यादव ने आजम खान को अपना नेता बताते हुए कहा कि उनके ऊपर भाजपा ने फर्जी मुकदमे लगवाए हैं।
वार्ता के दौरान जिलाध्यक्ष नदीम फारुकी पूर्व सांसद चंद्र भूषण सिंह मुन्नू बाबू, पूर्व विधायक अजीत कठेरिया, पूर्व मंत्री सतीश दीक्षित, सर्वेश अंबेडकर यूनुस अंसारी मौजूद रहे। इससे पूर्व श्री यादव ने पार्टी के प्रशिक्षण शिविर में कार्यकर्ताओं को चुनाव जीतने के नुस्खे बताये। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के प्रदेश सचिव एवं सपा के पूर्व जिला अध्यक्ष विश्वास गुप्ता ने आज सुबह निरीक्षण भवन में अखिलेश यादव से भेंट की श्री गुप्ता ने श्री यादव से अनुरोध किया कि पूरा परिवार एक हो जाए तो आगामी चुनाव में सपा की सरकार बननी तय है। मालूम हो विश्वास गुप्ता अखिलेश यादव के पुराने मित्र हैं। श्री यादव ने विश्वास गुप्ता की बात पर बिचार करने का भरोसा दिया।

Prev Post

दी ऑरिन्टल इंश्योरेंस लिमिटेड का इन्वेसटीगेटर एक लाख की रिश्वत लेते गिरफ्तार

Next Post

इस एयरलाइंस ने ली सेवाएं वापस, जैसलमेर टूरिज्म को झटका

Related Post

Latest News

राजस्थान का अगला पायलट होंगे डाॅ जोशी ? सचिन नहीं, आलाकमान झुकेगा या 70 साल पहले का इतिहास दोहराया जा सकता, पढ़े खबर
टोंक के पचेवर ग्राम विकास अधिकरी 15 हज़ार रुपए लेते ट्रेप,पीएम आवास योजना की दूसरी किश्त जारी करने की एवज में मांग रहा था 20 हज़ार की घुस,
राजस्थान कांग्रेस में घमासान-अब गहलोत पर सकंट, ऑब्जर्वर लौटे, गहलोत व सचिन तलब,आलाकमान गहलोत से नाराज

Trending News

भीलवाड़ा में गुटखा व्यापारी का दिनदहाडे अपहरण, 5 करोड़ फिरौती मांगी, 3 हिरासत में 
ब्रश, स्पंज और उंगलियों से लिक्विड फाउंडेशन कैसे लगाएं
आपके जीवन में स्वस्थ कितना जरुरी हैं और आहार क्या है, फायदे और डाइट चार्ट
बोलेरो को ट्रेलर ने मारी टक्कर तीन की मौत दो बच्चों सहित पांच गम्भीर घायल, भीलवाड़ा रैफर

Top News

ACB का धमाका - PHED का चीफ इंजीनियर और दलाल 10 लाख रिश्वत लेते गिरफ्तार
जी 6 के विधायकों का गहलोत कैंप पर तीखा हमला, कहा- 'आलाकमान को आंख दिखाने वालों पर हो कार्रवाई'
मंत्री धारीवाल ने माकन के वक्तव्य पर किया पलटवार, माकन और आलाकमान को किया कटघरे में खड़ा
कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए आ सकता है नया नाम, कौन, जानें पढ़े ख़बर 
राजस्थान का अगला पायलट होंगे डाॅ जोशी ? सचिन नहीं, आलाकमान झुकेगा या 70 साल पहले का इतिहास दोहराया जा सकता, पढ़े खबर
टोंक के पचेवर ग्राम विकास अधिकरी 15 हज़ार रुपए लेते ट्रेप,पीएम आवास योजना की दूसरी किश्त जारी करने की एवज में मांग रहा था 20 हज़ार की घुस,
राजस्थान कांग्रेस में घमासान-अब गहलोत पर सकंट, ऑब्जर्वर लौटे, गहलोत व सचिन तलब,आलाकमान गहलोत से नाराज
राजस्थान के सियासी घटनाक्रम से नाराज कांग्रेस आलाकमान ने प्रभारी अजय माकन से मांगी रिपोर्ट
टोंक में सड़क हादसे में 4 की मौत, कोटा एलन कोचिंग के छात्र हरिद्वार घूमने निकले थे, बाड़ा तिराहे पर हुआ हादसा
राजस्थान में बड़ा सियासी घटनाक्रम, गहलोत समर्थक 92 विधायकों ने दिया इस्तीफा