देश

कर्नाटक में नेतृत्व परिवर्तन से पहले CM येदियुरप्पा ने दिया मुख्यमंत्री पद छोड़ने का संकेत

बेंगलुरु। कर्नाटक में नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों के बीच मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने आज फिर पद छोड़ने के संकेत दिए हैं। इसी बीच कांग्रेस ने राज्य में मुख्यमंत्री बदलने पर कहा कि भाजपा से ईमानदार मुख्यमंत्री की उम्मीद न करें।

गुरुवार को मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा, ”हमारी सरकार के दो साल पूरे होने पर 26 जुलाई को एक कार्यक्रम का आयोजन होना है। इसके बाद पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा जो भी फैसला करेंगे, मैं उसका पालन करूंगा। उन्होंने कहा कि भाजपा को सत्ता में वापस लाना मेरा कर्तव्य है। इसके लिए मैं पार्टी कार्यकर्ताओं और समर्थकों से सहयोग करने का आग्रह करता हूं।”

इससे पहले बुधवार को येदियुरप्पा ने ट्वीट किया था, “मुझे गर्व है कि मैं भाजपा का वफादार कार्यकर्ता हूं। मेरे लिए यही सम्मान की बात है। मैंने ऊंचे आदर्शों का पालन करते हुए पार्टी की सेवा की है। मैं सभी से आग्रह करता हूं कि पार्टी के संस्कारों के अनुरूप आचरण करें और ऐसा कोई प्रदर्शन या अनुशासनहीनता न करें, जिससे पार्टी को शर्मिंदगी झेलनी पड़े।”

उन्होंने कहा कि अभी तक मुझे इस्तीफा देने के लिए नहीं कहा गया है। जब निर्देश आयेगा तो मैं मुख्यमंत्री पद छोड़ दूंगा और पार्टी के लिए काम करूंगा। मैंने किसी नाम की सिफारिश नहीं की है। पार्टी आलाकमान ने मुझसे कुछ नहीं कहा। देखते हैं 26 जुलाई के बाद क्या होता है।

इसी बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सिद्धारमैया ने राज्य में मुख्यमंत्री बदलने पर अपनी टिप्पणी में कहा कि उन्हें उम्मीद नहीं है कि येदियुरप्पा को हटाकर राज्य को एक सक्षम सरकार और एक ईमानदार मुख्यमंत्री मिलेगा, क्योंकि भाजपा खुद एक “भ्रष्ट पार्टी” है।

उल्लेखनीय है कि कुछ सप्ताह पहले कर्नाटक भाजपा में मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के खिलाफ बगावती स्वर फूटे थे। इस पर केन्द्रीय नेतृत्व ने उस समय उन स्वरों को दबा दिया था।

कुछ दिन पूर्व येदियुरप्पा ने दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा सहित कई वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की थी। इसके बाद से ही येदियुरप्पा के पद से हटने की अटकलें तेज हो गई हैं।

liyaquat Ali
Sub Editor @dainikreporters.com, Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.