असम चुनावः मुख्यमंत्री समेत 264 उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में बंद

Guwahati। असम (Assam) के 126 विधानसभा सीटों में से 12 जिलों की 47 सीटों के लिए शनिवार की सुबह 07 बजे से शाम 06 बजे तक पहले चरण का मतदान आयोजित किया गया। मतदान संपन्न होने तक 77 फीसदी मतदान होने की राज्य चुनाव आयोग (State election commission) ने जानकारी साझा की है। चुनाव आयोग के सूत्रों ने बताया है कि मतदान फीसदी (Voting percentage) में अभी और इजाफा की संभावना है। कारण कुछ क्षेत्रों के आंकड़ें देर रात तक आने की संभावना है।

पहले चरण के लिए 11537 मतदान केंद्रों पर 8007043 मतदाताओं ने अपना मत देकर मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल समेत 264 उम्मीदवारों की किस्मत का निर्णय ईवीएम में बंद कर दिया है। उम्मीदवारों में 23 महिला व 241 पुरुष उम्मीदवार हैं। पुरुष मतदाताओं की संख्या 4033235 तथा महिला मतदाताओं की संख्या 3973690 तथा ट्रांसजेंडर मतदाता 118 है।

2021 के विधानसभा चुनाव में इस बार ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायत ना के बराबर देखी गयी। वहीं मतदान के दौरान पूरी तरह से शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुआ। कुछ मतदान केंद्रों पर छोटी-मोटी घटनाएं भी घटी। कहीं से भी किसी अप्रिय घटना के समाचार नहीं मिले हैं।

हालांकि, पहले चरण में एक मतदान केंद्र पर एक मतदान अधिकारी के अचानक बीमार पड़ने की वजह से चराईदेव जिलांतर्गत सोनारी के सालकाथोनी मतदान केंद्र पर चुनाव अधिकारी की मौत हो गई। अधिकारी की पहचान तुलसी खानीकर के रूप में हुई है। उनकी नियुक्ति 187 नंबर मतदान केंद्र पर हुई थी। मतदान के दौरान खानीकर की तबीयत अचानक खराब हो गई। उन्हें तुरंत डिब्रूगढ़ के लिए रवाना किया गया। लेकिन, अस्पताल ले जाते समय रास्ते में ही अधिकारी की मौत हो गई।

पहले चरण में जिन प्रमुख नेताओं के भाग्य का फैसला होने वाला है, उनमें छह मंत्री भी शामिल हैं। मुख्य रूप से माजुली से मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल, बिहाली से रंजीत दत्ता, ढकुआखाना से नव दलै, माहमारा से योगेन महन, तिनसुकिया से संजय किसान, कलियाबर से केशव महंत, बोकाखात से अतुल बोरा, राइजर दल के अखिल गोगोई, असम जातीय परिषद के लुरिनज्योति गोगोई, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रिपुन बोरा, पूर्व मंत्री अजंता नेउग, पूर्व मंत्री रकीबुल हुसैन समेत अन्य नेता शामिल हैं।

चुनाव आयोग की ओर जारी क्षेत्रवार आंकड़ें-

बिश्वनाथ- 82.12 फीसदी

बोकाखात- 80.00 फीसदी

चराईदेव-81.64 फीसदी

ढकुआखाना- 81.30 फीसदी

धनसिरी- 76.00 फीसदी

धेमाजी- 73.01 फीसदी

डिब्रूगढ़- 76.62 फीसदी

गोहपुर- 78.34 फीसदी

गोलाघाट- 78.86 फीसदी

जोनाई- 75.01 फीसदी

जोरहाट- 75.26 फीसदी

कलियाबर- 80.76 फीसदी

लखीमपुर- 72.60 फीसदी

माजुली- 79.28 फीसदी

मार्घेरिटा- 77.83 फीसदी

नगांव- 82.29 फीसदी

नाजीरा- 80.56 फीसदी

सदिया- 75.55 फीसदी

शिवसागर- 82.46 फीसदी

शोणितपुर- 71.80 फीसदी

तिनसुकिया- 73.63 फीसदी

तिताबर- 75.05 फीसदी

News Topic : Guwahati,Assam,State election commission,Voting percentage