पाकिस्तानी मूल की महिला देश के सरकारी स्कूल में कर रही शिक्षक की नौकरी ,सवालों के घेरे में विभाग

Dr. CHETAN THATHERA
3 Min Read

दिल्ली । पाकिस्तान मूल की अर्थात पाकिस्तानी नागरिकता प्राप्त एक महिला देश के सरकारी स्कूल में शिक्षक की नौकरी हासिल कर नौकरी कर रही जब इसकी पोल खुली तो सबके होश उड़ गए अब विभाग और भारती बोर्ड सवालों के घेरे में आ गया है और इस मामले की जांच शुरू हो गई है शिक्षिका को पाकिस्तानी नागरिकता होने की पोल खुलने के बाद नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है

घटना उत्तर प्रदेश के रामपुर जिले की है रामपुर जिले के आतिशबाजी मोहल्ले में रहने वाले अख्तर अली की बेटी फरजाना उर्फ माहिरा अख्तर जिसका निकाह 17 जून 1979 को पाकिस्तान निवासी सिबकत अली से हुआ और वह निकाह के बाद पाकिस्तान चली गई और उसे वहां की नागरिकता मिल गई मेरा ने पाकिस्तान में रहते हुए 3 साल मे फुरकान और आलिमा नाम की दो बेटियों को जन्म दिया ।

निकाह के 3 साल बाद 1982 में उसके शौहर सिबकत अली ने माहिरा को तलाक दे दिया तलाक के बाद वह अपने दोनों बेटियों को लेकर अपने पीहर भारत रामपुर में विजिटिंग विजा के जरिए आ गई और वीजा की अवधि समाप्त होने के बाद भी माहिरा पाकिस्तान वापस नहीं गई नहीं ।

विजय अवधि समाप्त होने के बाद भी माहिरा पाकिस्तान वापस नहीं गई इस पर एल आई यू द्वारा मेरा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था इसके साथ सीजेएम कोर्ट ने भी 25 जून 1985 को उसे दंड दिया था ।

दंड मिलने के बाद भी अपनी गलती दोहरा रही थी और वापस पाकिस्तान नहीं गई और नहीं अपनी वीजा की अवधि बढ़ाई उल्टा उसने इस दौरान उत्तर प्रदेश के बेसिक शिक्षा विभाग में निकली भर्ती में आवेदन करते हुए 22 जनवरी 1992 में शिक्षक की नौकरियां हासिल कर ली और वह तब से नौकरी कर रही थी पिछले साल सितंबर 2022 में जब भी मामला सामने आया तो शिक्षिका माहिरा को नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया और उसकी जांच पड़ताल शुरू कर दी गई ।

परंतु अब तक सांस में सामने है कि यह हाई प्रोफाइल और राजनीतिक दबाव के चलते कितने सालों तक यह संज्ञान में होते हुए भी की पाकिस्तान की नागरिकता वाली महिला शिक्षिका के तौर पर नौकरी कर रही है कोई कार्यवाही नहीं की गई थी।

गृह विभाग ने अभी स्पष्ट रूप से इसकी रिपोर्ट मांगते हुए सारे दस्तावेज कंगाल जा रहे हैं और इसने किस तरह नौकरी हासिल की और नौकरी देने में किस-किस का सहयोग रहा इस सब की जांच पड़ताल की जा रही है।

Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम