फिल्मी इंडस्ट्रीज से बुरी खबर, कोरोना ने ली महशूर संगीतकार की जान

मुंबई/ कोरोनावायरस संक्रमण की दूसरी लहर अब पूरी तरह से यमराज बन गई है और एक के बाद एक लगातार लोगों को अपनी मौत की आगोश में ले रही है इस संक्रमण की चपेट में नेता अभिनेता से लेकर आमजन और गरीब

तबके का इंसान तक नहीं बच रहा है माया नगरी बॉलीवुड में रात को इस कोरोनावायरस में एक मशहूर संगीतकार को अपनी आगोश में ले लिया। बालीवुड मे छाई शोक की लहर

हिन्दी सिनेमा की मशहूर संगीतकार जोड़ी नदीम श्रवण के श्रवण राठौर का निधन हो गया है। श्रवण राठौर कोरोना से संक्रमित थे और कई दिन से अस्पताल में भर्ती थी। श्रवण के शरीर के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था।

गुरुवार रात करीब उन्होंने आखिरी सांस ली। 66 साल के श्रवण ने अपने साथी नदीम के साथ कई सुपरहिट फिल्मों के गानों का संगीत दिया था। 90 के दशक में नदीम-श्रवण की जोड़ी काफी लोकप्रिय थी।

श्रवण राठौड़ को बीते हफ्ते शनिवार को कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। मुंबई के एस.एल. रहेजा अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था।

जहां उनकी हालत लगातार नाजुक बनी हुई थी। कोरोना के अलावा भी उनको कई बीमारियां थीं, जिसके चलते उनको होने के चलते उनकी हालत लगातार गिरती रही और उनको बचाया नहीं जा सका।

 

कई हिट फिल्मों दिया संगीत

1990 के दशक में बॉलीवुड में नदीम-श्रवण की जोड़ी का एक तरह से राज था। कई सुपरहिट फिल्मों मे उन्होंने इस दशक में संगत दिया। उनकी पहली बड़ी फिल्म जिसका संगीत बहुत ज्यादा लोकप्रिय हुआ, वो आशिकी थी।

इसके अलावा- ‘साजन’, ‘सड़क’, ‘दिल है कि मानता नहीं’, ‘फूल और कांटे’, ‘हम हैं राही प्यार के’, ‘राजा हिंदुस्तानी’, ‘रंग’, ‘राजा’, ‘धड़कन’, ‘परदेस’, ‘दिलवाले’, ‘अंदाज’

‘बरसात’, ‘सिर्फ तुम’, जैसी फिल्मों में उन्होंने संगीत दिया। ये जोड़ी एक समय बॉलीवुड की सबसे कामयाब और महंगी संगीतकार जोड़ी थी।